अनुव्रत की बेटी ने नहीं किया सहयोग, हो सकती है कड़ी कार्रवाई

सुकन्या ने कहा – अभी मैं कुछ भी बताने की हालत में नहीं हूं, कृपया आप लोग यहां से चले जाएं
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : सीबीआई की टीम अनुव्रत के शांतिनिकेतन स्थित आवास से 10 मिनट के अंदर निकल गयी। सूत्र बताते हैं कि अनुव्रत की बेटी सुकन्या ने सीबीआई को जांच में सहयोग करने से इनकार कर दिया। सुकन्या ने कहा है कि वे फिलहाल कुछ नहीं बोल सकेंगी। सीबीआई की टीम उनसे वर्ष 2008 में खोली गयी कंपनी नीर डेवलपर प्राइवेट लिमिटेड के बारे में जानना चाहती है। एक शि​क्षिका और इस कंपनी की डायरेक्टर बनना कैसे संभव हुआ। कंपनी खोलने के लिए उनके पास रुपये के स्रोत क्या थे ? बोलपुर के कालिकापुर के हाराधन मंडल रोड स्थित रजिस्टर्ड कंपनी का शेयर कैपिटल डेढ़ करोड़ रुपये था। इसी रोड पर अनुव्रत मंडल की राइस मिल भी स्थित है। यहां कुल 3 कंपनियों का पता है। हालांकि अनुव्रत के बैंक खाते में कोई खास लेन-देन नहीं पाया गया, लेकिन उन कंपनियों में बड़े पैमाने पर लेन-देन हुई है। ऐसे में सीबीआई ने बुधवार की सुबह अनुव्रत के सीए को बोलपुर तलब किया था।
सुकन्या के बैंक खाते भी आये सीबीआई के स्कैनर में
सुकन्या के बैंक खाते की निगरानी की जा रही है। ऐसे में केंद्रीय जांच एजेंसी के अधिकारी बीरभूम के तृणमूल कांग्रेस जिलाध्यक्ष के आवास जाकर सुकन्या से पूछताछ करना चाहते थे लेकिन यह संभव नहीं हो पाया। उल्लेखनीय है कि सुकन्या के नाम से बोलपुर में जमीन, राइस मिल सहित कई संपत्तियों का सीबीआई की टीम को पता चला है। एक शिक्षिका होकर करोड़ों की संपत्ति की मालकिन बनना कैसे संभव हुआ, इस बारे में सीबीआई की टीम उनसे पूछताछ करना चाहती है।
पिता की राह पर चल रही है बेटी, जल्द होगी पूछताछ
सीबीआई जांचकर्ताओं ने कहा कि जैसे अनुव्रत मंडल छानबीन में सहयोग करने से किनारा कर रहे थे, भाग रहे थे, वैसे ही उनकी बेटी ने भी सहयोग करने से मना कर दिया। इसके बाद अब सीबीआई की टीम कड़ी कार्रवाई के मूड में है। सीबीआई की टीम जैसे ही बीरभूम स्थित उनके घर गयी तो उनकी बेटी ने अधिकारियों को देखते ही उन्हें जाने को कहा। अधिकारियों में एक महिला समेत 4 अधिकारी शामिल थे। उन्होंने सीबीआई से कहा कि मैंने अपनी मां को खो दिया है। मेरे पिता हिरासत में हैं, अभी मैं किसी से भी बातचीत करने की हालत में नहीं हूं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

साल्टलेक में फेक कॉल सेंटर का भंडाफोड़, 4 गिरफ्तार

विधाननगर : साल्टलेक और न्यूटाउन में कुकुरमुत्ते की तरह फर्जी कॉल सेंटर का व्यवसाय फैल गया है। आये दिन पुलिस की ओर से अभियान चलाकर आगे पढ़ें »

टेट 2014 : 824 की अवैध नियुक्ति, हाई कोर्ट में रिट

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : हाई कोर्ट में दायर एक रिट में आरोप लगाया गया है कि 2014 के टेट में अवैध नियुक्तियां दी गई हैं। इसकी आगे पढ़ें »

ऊपर