बंगाल के साथ ही 5 और राज्यों में बन रहे हैं ‘हाथी कॉरिडोर’ : वन मंत्री

बंगाल में वन्य जीवों के सबसे सुरक्षित होने का किया गया दावा
केंद्रीय अधिकारियों व 6 राज्यों के प्रतिनि​​धियों की महत्वपूर्ण बैठक
कोलकाता : प्रदेश की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य में हाथियों से प्रभावित इलाकों का दौरा करने के साथ ही हाथियों की सुरक्षा व हाथियों से लोगों की सुरक्षा को लेकर कई महत्वपूर्ण घोषणाएं की थीं जिसमें ‘हाथी कॉरिडोर’ का निर्माण भी प्रमुख है। बंगाल में जहां हाथियों के लिए कॉरिडोर बनाकर उनके प्रवेश स्थल को सुनिश्चित किये जाने का काम किया जा रहा है वहीं 6 और पड़ोसी राज्यों ने भी इसमें रु​चि दिखायी है। गुुरुवार को न्यू टाउन में ‘हाथी कॉरिडोर’ निर्माण को लेकर राज्य के वन विभाग के अधिकारियों के साथ छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश, झारखंड, बिहार, ओडिशा के अधिकारियों ने महत्वपूर्ण बैठक की। बैठक को लेकर राज्य के वन मंत्री ज्योतिप्रिय मल्लिक ने कहा कि उत्तर बंगाल के विभिन्न इलाकों में 7 व दक्षिण बंगाल में 4 हाथी कॉरिडोर बनाये जा रहे हैं। राज्य में हाथियों की सुरक्षा व अन्य प्रयोजन को देखते हुए यहां और भी हाथी कॉरिडोर बनवाने का आवेदन केंद्र सरकार से राज्य के वन विभाग ने किया है। मंत्री ने कहा कि देखा जाता था कि हाथियों के कारण किसानों की फसलों, उनके घरों को काफी नुकसान पहुंचता था अतः राज्य सरकार ने इसकी क्षतिपूर्ति दिये जाने की जिम्मेदारी भी ले ली और हमें खुशी है कि लोग इस कारण से अब हाथियों को नुकसान नहीं पहुंचाते हैं। मंत्री ने बताया कि इस दिन हुई बैठक में केंद्र सरकार की ओर से भी यह घोषणा कर दी गयी कि अन्य राज्यों की तुलना में बंगाल में वन्य​ जीव सबसे अधिक सुरक्षित हैं। इसके लिए सरकार के प्रयासों की उन्होंने खूब सराहना भी की। यही कारण है कि प्रदेश की मुख्यमंत्री के दिखाये पथ पर चलकर बंगाल के साथ ही उक्त अन्य 5 राज्यों में हाथी कॉरिडोर बनाये जा रहे हैं। बताया गया है कि गत कई वर्षों की तुलना में इस साल हाथी की वजह से मरने वालों की संख्या में काफी कमी आयी है। जहां साल 2021-22 में 77 लोगों की जान गयी थी वहीं 2022-23 में 57 लोग मारे गये हैं। वन विभाग के अधिकारियों व कर्मियों के 24 घंटे की मॉनिटरिंग काम आयी है। राज्य सरकार ने हाथियों की वजह से मारे गये लोगों के परिवार को महज 12 घंटों में ही आर्थिक मदद पहुंचायी है। साथ ही परिवार के एक सदस्य की फॉरेस्ट गार्ड की नौकरी की व्यवस्था भी कर दी है। ऐसा देश के किसी भी राज्य में नहीं है। इस दिन बैठक में फॉरेस्ट डिपार्टमेंट-भारत सरकार के आईजी रमेश पांडेय भी उप​स्थित रहे और उन्होंने इन सभी विषयों पर गौर किया। साथ ही बैठक में वन मंत्री ज्योप्रिय मल्लिक के साथ ही विभागीय राज्य मंत्री बीरबाहा हांसदा, राज्य सरकार के अतिरिक्त मुख्य सचिव विवेक कुमार, मुख्य वनपाल सौमित्र दासगुप्ता व उक्त 5 राज्यों के वर्ल्ड लाइफ यूनिट के चीफ भी उपस्थित रहे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अचला सप्तमी के दिन करें ये उपाय, सूर्य देव की कृपा से मान-सम्मान और धन में होगी वृद्धि

कोलकाताः इस साल 28 जनवरी 2023 को अचला सप्तमी मनाई जा रही है। हिंदू पंचांग के अनुसार हर साल माघ माह में शुक्ल पक्ष की आगे पढ़ें »

हाते खोड़ी कार्यक्रम के बाद ही दिल्ली पहुंचे राज्यपाल

परीक्षा पे चर्चा कार्यक्रम में वर्चुअल रूप से हुए शामिल, पीएम मोदी को सराहा सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता/नई दिल्ली : राज्यपाल डॉ. सी.वी. आनंदा बोस गुरुवार को हाते आगे पढ़ें »

ऊपर