अखिलेश र्हैं दीदी के साथ, आज से सपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक महानगर में

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : समाजवादी पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक आज से कोलकाता में शुरू हो रही है। यहां अगले लोकसभा चुनाव में पार्टी का स्टैंड क्या होगा, इस पर मंथन किया जायेगा। इधर, अखिलेश यादव ने शुक्रवार को कहा कि उनकी पार्टी कांग्रेस और भाजपा दोनों से ही समान दूरी बनाकर चलेगी। भगवा को हराने के लिये सपा तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी के साथ खड़ी रहेगी। यहां उल्लेखनीय है कि सपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के लिये अखिलेश यादव कोलकाता आये हैं। शुक्रवार को मौलाली में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करने के बाद मीडिया से अखिलेश यादव ने कहा, ‘बंगाल में हम ममता दीदी के साथ हैं। अभी हमारी स्थिति स्पष्ट है कि हमें कांग्रेस और भाजपा दोनों से ही समान दूरी बनाकर चलनी है।’ इससे पहले पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक को संबोधित करते हुए सपा प्रमुख ने पश्चिम बंगाल में 2021 के विधानसभा चुनाव में भाजपा को शिकस्त देने के ​लिये ममता बनर्जी की प्रशंसा की। इस दौरान अखिलेश यादव ने कहा, ‘हमारे संविधान की रक्षा के लिये सपा कोई भी बलिदान देने को तैयार है। अगर हम यूपी में भाजपा को हरा सकते हैं तो पूरे देश में भाजपा को हराया जा सकता है।’
केंद्रीय एजेंसियों के गलत इस्तेमाल को लेकर केंद्र पर साधा निशाना
अखिलेश यादव ने इस दौरान केंद्र सरकार पर केंद्रीय एजेंसियों के गलत इस्तेमाल का आरोप लगाते हुए निशाना साधा और कहा कि भगवा के लिये डर साबित होने वाले विपक्षी पार्टी के नेताओं व प्रतिनिधियों को केंद्रीय एजेंसियों के द्वारा डराया-धमकाया जाता है। कोलकाता एयरपोर्ट पर अखिलेश ने कहा, ‘ईडी, सीबीआई और इनकम टैक्स भाजपा के राजनीतिक हथियार हैं। बंगाल में इसके कम उदाहरण हैं, लेकिन यूपी में हमारे कई नेताओं व विधायकों को झूठे मामलों में फंसाकर जेल में रखा गया है। भाजपा विपक्ष के जिन नेताओं से डरती है, उनके यहां ईडी और सीबीआई भेजकर उन्हें परेशान किया जाता है। जिन्हें भाजपा की वैक्सीन लग गयी है, उन्हें सीबीआई, ईडी या आईटी से परेशान नहीं होना पड़ रहा है।’
यूपी के सीएम ने अंबेडकर पर की टिप्पणी
सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने राहुल गांधी के लंदन में भारतीय लोकतंत्र पर ​​दिये बयान को लेकर भाजपा के तंज पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि भाजपा इस बात से परेशान है कि कांग्रेस के नेता विदेश में क्या कह रहे हैं, लेकिन यूपी के सीएम के अंबेडकर पर दिये बयान को लेकर उसे कोई फर्क नहीं पड़ता। यूपी के सीएम ने भी संविधान का अपमान किया है। साथ ही अखिलेश ने कहा कि केंद्र सरकार अपने निर्णयों से राष्ट्र की संपत्ति बेचने पर तुली हुई है। बेरोजगारी और कॉस्ट ऑफ लिविंग काफी हद तक बढ़ गयी है।
तीसरे मोर्चे की सुगबुगाहट शुरू
अखिलेश यादव के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाकात को लेकर अब चर्चा चालू हो गयी है कि दोनों के बीच भाजपा और कांग्रेस को छोड़कर तीसरा मोर्चा बनाने को लेकर बातचीत हुई है। विशेषकर अखिलेश के बयान के बाद अब यह बात और भी स्पष्ट हो गयी है। ममता बनर्जी और अखिलेश यादव पहले ही 2024 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस नीत यूपीए में शामिल होने की संभावना को खारिज कर चुके हैं। एसपी, टीएमसी और बीआरएस कुछ ऐसी राजनीतिक पार्टियां हैं जिन्होंने लोकसभा चुनाव में विपक्षी एकता को लेकर अब तक अपना कार्ड नहीं खोला है।

Visited 157 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

Wednesday Mantra : हर संकट से बचाता है बुधवार का यह उपाय, दूर होता है गृह कलेश

कोलकाता : सनातन धर्म में बुधवार का दिन भगवान गणेश को समर्पित है और इस दिन विधि-विधान के साथ गणेश जी की अराधना की जाए आगे पढ़ें »

Sankashti Chaturthi 2024 Date: द्विजप्रिय संकष्टी चतुर्थी कब है, जानें महत्‍व, पूजाविधि और …

कोलकाता : द्विजप्रिय संकष्टी चतुर्थी फाल्‍गुन मास के कृष्‍ण पक्ष की चतुर्थी को कहते हैं। द्विजप्रिय संकष्टी चतुर्थी 28 फरवरी को यानी आज है। इस आगे पढ़ें »

ऊपर