कर्नाटक के बाद अब हावड़ा के स्कूल में हुआ हिजाब को लेकर विवाद

बुर्खा के विरोध में धार्मिक अंगवस्त्र पहनकर आने की मांग की
स्कूल बना छात्र-छात्राओं के धार्मिक मतभेद का केन्द्र
मंगलवार को स्कूल में परीक्षा किया गया रद्द
सन्मार्ग संवाददाता
हावड़ा : राज्य के हावड़ा जिले के एक सरकारी स्कूल में छात्राओं द्वारा हिजाब के साथ स्कूल आने पर विवाद छिड़ गया। घटना सोमवार को हावड़ा के धूलागड़ी आदर्श विद्यालय की है। इस स्कूल की 10वीं से 12वीं कक्षा की लड़कियों द्वारा स्कूल में बुर्का पहनकर आने पर 12वीं कक्षा के छात्रों के एक समूह ने आपत्ति जताई। उनकी मांग है कि अगर छात्राएं बुर्का पहनकर स्कूल आ सकती हैं तो वे भी नाम का अंगवस्त्र पहनकर स्कूल आएंगे। ऐसे में उन्हें भी स्कूल में प्रवेश करने दिया जाए। इसी तरह मंगलवार को 12वीं कक्षा के पांच छात्र-छात्राएं धार्मिक नाम लिखा अंगवस्त्र पहनकर स्कूल आए। स्कूल की 10वीं से 12वीं कक्षाओं की मुस्लिम लड़कियों ने उनका विरोध किया। इसके बाद स्कूल के अंदर हंगामा शुरू हो गया। मामला गरमाता देख सांकराइल थाने के पुलिस अधिकारी स्थिति को संभालने पहुंचे। दोनों पक्षों में हंगामे के चलते स्कूल प्रबंधन ने मंगलवार को ग्यारहवीं कक्षा की परीक्षा रद्द करने का भी आदेश दिया। हालांकि, स्थानीय निवासियों का आरोप है कि प्रत्येक मनाज के दिन दो क्लास होने के बाद ही सभी मुस्ल‌िम छात्र नमाजपढ़ने के लिए स्कूल से चले जाते हैं। इसके बाद उन्हें गांव के विभिन्न इलाके में सिगरेट पीते तो किसी को दूसरे के घर में जाते हुए देखा जाता है। बीते कई दिनों से इस तरह की घटना घटने के कारण मंगलवार को कुछ छात्र धार्मिक अंगवस्त्र पहनकर स्कूल पहुंचे थे। वे लोग स्कूल के बाहर ही खड़े थे। स्कूल प्रबंधन ने उन्हें धार्मिक अंगवस्त्र खोलने के लिए कहा तो छात्रों ने मना कर दिया। छात्रों का कहना था कि अगर हिजाब पहनकर कोई स्कूल में प्रवेश कर सकता है तो धार्मिक अंगवस्त्र पहनकर हम लोग क्यों नहीं प्रवेश कर सकते हैं। इसके बाद ही स्कूल में अशांति फैल गयी। स्थानीय निवासी राहुल मंडल का आरोप है कि नमाज पढ़ने के बहाने छात्र स्कूल के बाहर चले जाते हैं। स्कूल से बाहर निकलने में रोकने पर स्कूल में लोगों से मारपीट की गयी है। हिबाज में प्रवेश रोकने पर स्कूल में सरस्वती पूजा के आयोजन नहीं होने देने की धमकी भी दी गयी है। मंगलवार को इसी हिजाब पहनने को लेकर एक बार फिर विवाद छिड़ गया। स्थानीय लोगों के अनुसार स्कूल के अंदर भी तोड़फोड़ की गयी। स्कूल के 10वीं कक्षा के छात्र रूपम नस्कर ने बताया कि पहले भी कई बार स्कूल से हिजाब पहनने पर प्रतिबंध लगाया जा चुका है लेकिन किसी ने नहीं सुनी। आज कुछ छात्र नाम का अंगवस्त्र पहनकर परीक्षा देने पहुंचे तो मुस्लिम लड़कियों ने आपत्ति जताई। स्कूल के शिक्षकों ने परीक्षा के बाद बातचीत कर समाधान निकालने की अपील की, लेकिन मुस्लिम छात्रों ने परीक्षा नहीं देने की बात कहकर टेबल बेंच पलट दिया। रूपम ने आरोप लगाया कि छात्रों ने उस अंगवस्त्र पहनकर आए छात्रों को पीटना शुरू कर दिया। त इसकेबाद मौके पर पहुंची पुलिस ने स्थित‌ि को नियंत्रित किया। वहीं मुस्ल‌िम समुदाय के छात्रों का आरोप है कि उनपर हमला किया गया। मौके पर पहुंची और रैफ ने भी उनपर लाठीचार्ज किया। स्कूल के प्रधानाध्यापक अरिंदम बाबू ने दावा किया कि स्कूल के अंदर तोड़फोड़ और मारपीट की कोई घटना नहीं हुई है। उन्होंने बताया कि सोमवार को तीन लोग धार्मिक अंगवस्त्र पहनकर आए तो उन्हें बोलकर खुलवा दिया गया था। सोमवार को स्कूल में परीक्षा के बाद आपात बैठक हुई । बैठक के बाद स्कूल में धार्मिक पोशाक पहनकर प्रवेश करने पर रोक लगायी गयी। उक्त फैसला दोनों समुदाय के छात्र-छात्राओं को दी गयी। इस बीच मंगलवार को 5 छात्र फिर धार्मिक अंगवस्त्र पहनकर स्कूल पहुंचे तो मुस्ल‌िम छात्रों ने उनका वरिध किया। इसके बाद दोनों गुट में मारपीट हो गी। स्कूल प्रबंधन ने पुलिस को सूचना दी।
প্

शेयर करें

मुख्य समाचार

कसबा के हुक्का पार्लर में छापा, मैनेजर गिरफ्तार

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : महानगर में चल रहे हुक्का पार्लरों के खिलाफ कोलकाता पुलिस की ओर से लगातार छापामारी अभियान चलाया जा रहा है। शनिवार की आगे पढ़ें »

डकैती की योजना बनाते तीन अभियुक्त गिरफ्तार

दक्षिण 24 परगना : कुलतली थानांतर्गत डकैती की योजना बनाते पुलिस ने 3 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है। उनके नाम आकाश खान (30), तौफीक मोल्ला आगे पढ़ें »

ऊपर