महानगर में सक्रिय है मूक-बधिर चोरों का गिरोह

मदद मांगने के बहाने ऑफिस व दुकानों से चुरा रहे हैं मोबाइल व पर्स
एक चोर से पूछताछ के लिए इंटरप्रेटर की मदद लेगी पुलिस
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : यूं तो कोलकाता पुलिस बड़े से बड़े अपराधी से राज उगलवाने में माहिर है लेकिन बीते दिनों एक मोबाइल चोर से पूछताछ करने में पुलिस कर्मियों के पसीने छूट गए। ये चोर एक नए मॉडस ऑपरेंडी के तहत महानगर के विभिन्न ऑफिसों और दुकानों पर जाकर लोगों के मोबाइल, पर्स व अन्य कीमती सामान चुरा रहे हैं। कोलकाता पुलिस ने गिरोह के एक सदस्य को पकड़ा है लेकिन चोर के मूक-बधिर होने के कारण पुलिस उसके इशारे नहीं समझ पा रही है। पुलिस के अनुसार युवक गूंगा और बहरा है। उसका कहना है कि वह पढ़ना भी नहीं जानता। इसलिए लालबाजार के डीडी के अधिकारी हजार कोशिश करने के बावजूद उसका नाम, पहचान या कोई अन्य जानकारी नहीं जुटा सके। पुलिस को अभी तक इस मोबाइल चोर गिरोह के सरगना का पता नहीं चल सका है। ऐसे में उससे पूछताछ करने के लिए कोलकाता पुलिस के डीडी के अधिकारी अब मूक-बधिर विशेषज्ञों और इंटरप्रेटर की मदद लेने जा रहे हैं।
क्या है पूरा मामला
पुलिस के अनुसार पिछले कुछ सप्ताह में, पूर्वी कोलकाता सहित शहर के कई कार्यालयों से विशेष मॉडस ऑपरेंडी के कई मोबाइल फोन चोरी हो रहे थे। पुलिस का मानना है कि मूक-बधिर युवक इस गिरोह के सदस्य हैं। ये लोग शहर के किसी दुकान या दफ्तर में कागज लेकर जाते हैं। कागज पर छपे पत्रों में लिखा रहता है कि उक्त युवक विशेष रूप से असक्षम है और मदद चाहता है। उसे रुपये की जरूरत है। इसके अलावा कागज में उनकी और भी कई दुर्दशा का जिक्र रहता है। उन दुकानों और दफ्तरों के कर्मचारियों से बात करने पर पुलिस को पता चला कि उन युवकों के उदास चेहरों को देखकर उन्हें अंदाजा भी नहीं हुआ कि उनकी निगाहें असल में पूरे दफ्तर में घूम रही हैं। ऑफिस या दुकान की टेबल पर मोबाइल हो तो उस पर कागज रख देते हैं। मॉडस ऑपरेंडी के तहत एक युवक इशारों में अपनी दुर्दशा समझाने की कोशिश करते हुए रुपये मांगता है। वहीं उसके दूसरे साथी ऑफिस या दुकान में मौजूद मोबाइल फोन या वॉलेट चुराने की कोशिश करते हैं। इस दौरान अगर कोई व्यक्ति उनकी बातों में आकर मेहरबानी करके अपने पर्स से रुपये निकाल रहा होता है, तभी चंद सेकेंड में हाथ की सफाई से ये लोग टेबल पर रखा मोबाइल फोन या बटुआ चुराकर भाग जाते हैं। बीते कुछ दिनों में ऐसी कई शिकायतें मिलने के बाद कोलकाता पुलिस के डीडी के अधिकारियों ने जांच शुरू की। कई दुकान और ऑफिस के सीसीटीवी कैमरे के फुटेज की जांच की गयी। इन फुटेज को खंगालने पर पुलिस ने 4 लोगों को चिह्नित किया। सीसीटीवी फुटेज और चोरी हुए मोबाइल को ट्रेस करने के दौरान उल्टाडांगा से एक अभियुक्त को पुलिस ने पकड़ा है। उसके पास से चोरी के 4 मोबाइल फोन बरामद किए गए। हालांकि उससे पूछताछ करने दौरान पुलिस कर्मी अचंभित हो गए। युवक ने इशारे में ही पुलिस कर्मियों को बता दिया कि वह मूक-बधिर है। उसने इशारे में और भी कुछ बताया जो पुलिस कर्मी समझ नहीं पाए। उससे पूछताछ कर अन्य सदस्यों के बारे में जानकारी हासिल करनी है। ऐसे में पुलिस मूक-बधिर विशेषज्ञों और इंटरप्रेटर की मदद से उक्त युवक से पूछताछ करना चाहती है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

विधवा मां के थे अवैध संबंध, बेटी ने किया विरोध तो उसको उतारा मौत के घाट

नदियाः पिता की मौत के बाद मां इलाके के ही एक युवक के साथ प्रेम संबंध बनाने लगी। महिला की 18 वर्षीय बेटी इस बात आगे पढ़ें »

हावड़ा : बागनान स्टेशन के निकट लगी आग, कई दुकानें जलकर राख

हावड़ा : बागनान रेलवे स्टेशन से सटे बाजार में लगी भीषण आग। पंद्रह से बीस दुकानें जलकर रख हो गई हैं। आपको बताते चलें कि आगे पढ़ें »

ऊपर