कोलकाता में 50 प्रतिशत साइबर अपराध के मामले सोशल मीडिया पर फर्जी प्रोफाइल से जुड़े

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : महानगर में साइबर अपराध से जुड़े 50 प्रतिशत मामले सोशल मीडिया पर पोस्ट किये जाने वाले कंटेंट से जुड़े होते हैं। कोलकाता पुलिस के संयुक्त आयुक्त (अपराध) मुरलीधर शर्मा ने बताया कि विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर फर्जी प्रोफाइल बनाकर लोगों से ठगी की जाने वाली घटनाओं की शिकायत सबसे ज्यादा दर्ज कराई जाती है। ऐसे मामलों की संख्या करीब 50 प्रतिशत है। दूसरी तरफ करीब 30 प्रतिशत घटनाएं सोशल इंजीनियरिंग फ्रॉड से जुड़ी होती हैं जहां ई- मेल मैसेज या कॉल कर लोगों से उनके केवाईसी, क्रेडिट कार्ड के नाम पर बैंक की जानकारी हासिल कर उनके रुपये गबन कर लिए जाते हैं। वहीं 10 प्रतिशत घटनाएं सेक्सटॉर्शन और 10 प्रतिशत आपराधिक घटनाएं हैकिंग से जुड़ी होती हैं।
साइबर अपराध के शिकार हुए अधिकांश लोग नहीं दर्ज करवाते शिकायत
मुरलीधर शर्मा ने बताया कि महानगर में साइबर अपराध के शिकार होने वाले अधिकांश पीड़ित पुलिस के समक्ष लिखित शिकायत दर्ज नहीं कराते। वर्ष 2021 में कोलकाता में 3,967 ऐसे मामले दर्ज किए गए जहां व्यक्ति ने साइबर पुलिस स्टेशन या फिर स्थानीय थाने को फोन कर मौखिक घटना की जानकारी दी। हालांकि, घटना की लिखित शिकायत दर्ज नहीं कराई गई। वर्ष 2022 में कोलकाता पुलिस को ऐसे 2700 शिकायतें रिपोर्ट की गईं जहां शिकायतकर्ता ने घटना की लिखित शिकायत दर्ज नहीं कराई। उन्होंने बताया कि एक वर्ष में बिना दर्ज हुए मामलों की संख्या दर्ज मामलों से काफी अधिक है। वर्ष 2021 में कोलकाता में 220 साइबर अपराध के मामले दर्ज किए गए थे, जबकि 2022 में 212 शिकायतें दर्ज कराई गईं। उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष दर्ज किए गए अधिकांश मामलों में पुलिस चार्जशीट दाखिल कर चुकी है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

हेस्टिंग्स में युवक की हत्या के मामले में अभियुक्त दोषी करार

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : त्रिकोण प्रेम संबंध के कारण एक युवक की हत्या करने के आरोप में गिरफ्तार अभियुक्त को अदालत ने दोषी करार दिया है। आगे पढ़ें »

बैरकपुर में चोरों को पकड़कर किया गया पुलिस के हवाले

बैरकपुर : बैरकपुर के मोहनपुर थाना अंतर्गत गणेशपुर इलाके में सोमवार की सुबह गैरेज की गयी गाड़ियों से इंधन व बैटरी चुराने के दौरान एक आगे पढ़ें »

ऊपर