दिल्ली दखल के लिए होगी 2024 की लड़ाई – ममता

विपक्ष होगा एकजुट, जनता के दरबार में होगा फैसला
भाजपा एजेंसी की राजनीति कर रही है
तृणमूल किसी हाल में सिर नहीं झुकाएगी
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : पंचायत चुनाव के बाद तृणमूल कांग्रेस 2024 के लोकसभा चुनावों पर नजरें टिका रखी हैं। तृणमूल ने उस लड़ाई के लिए शुरुआती तैयारियां भी शुरू कर दीं। गुरुवार को नेताजी इंडोर स्टेडियम में पार्टी के बूथ कार्यकर्ताओं के विशेष सम्मेलन से सीएम तथा तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी ने विपक्षी एकजुटता की बात कही तथा खेला होबे का स्लोगन लगाया। मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा और अगले लोकसभा चुनाव में सत्ता से उखाड़ फेंकने का आह्वान किया। ममता बनर्जी ने कहा कि 2024 की लड़ाई दिल्ली दखल की लड़ाई होगी। उन्होंने कहा कि वह और पड़ोसी राज्य- बिहार, यूपी और झारखंड के उनके समकक्ष 2024 के लोकसभा चुनाव में भाजपा को सत्ता से बेदखल करने के लिए कई अन्य विपक्षी दलों के साथ हाथ मिलाएंगे। तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो बनर्जी ने दावा किया कि भाजपा अपने अहंकार और लोगों के गुस्से के कारण घोर पराजय का सामना करेगी। एजेसियों को लगाकर अत्याचार कर रही है। जनता के दरबार में इसका फैसला होगा। सीएम ने 2024 लिए एक बार फिर खेला होबे का स्लोगन दिया। ममता ने कहा कि शांतिपूर्ण रूप से पंचायत चुनाव करने के बाद 2024 में ऐसा खेला खेलूंगी कि भाजपा बाबू समझ पायेंगे कि खेला का नाम बाबाजी। 2024 के लिए खेला बंगाल से ही तैयार होगा। अभी हम एक साथ हैं। उस तरफ नीतीश जी हैं, अखिलेश जी हैं, हेमंत सोरेन हैं, मैं और हमारे साथीगण हैं। देखियेगा सब एक हो जायेंगे। सभी विपक्षी दल भाजपा को हराने के लिए हाथ मिलाएंगे। एक तरफ हम सब होंगे और दूसरी तरफ भाजपा। 275, 80 या 300 को लेकर अहंकार उनकी नियती होगी। राजीव गांधी के समय 400 था उसे भी पकड़कर नहीं रख पाये। कैसे बनाएंगे ये सरकार, इसलिए भाजपा सरकार और नहीं चाहिए। हमलोग चाहते हैं जनता की सरकार। जनता के दरबार में इनका इंसाफ होगा। उन्होंने दावा किया कि ‘हाल ही में बंगाल पुलिस ने झारखंड के विधायकों को बहुत अधिक नकदी के साथ गिरफ्तार करके’ पड़ोसी राज्य में खरीद-फरोख्त रोकी और हेमंत सोरेन सरकार को गिरने से बचाया।
‘भा​जपा कर रही एजेंसी की राजनीति’
उन्होंने कहा कि भा​जपा एजेंसी की राजनीति कर रही है। इसके खिलाफ हमारा एक ही स्लोगन चलेगा, भाजपा की एजेंसी नहीं नौकरी चाहते हैं। विश्वकर्मा पूजा के बाद से ही यह कार्यक्रम शुरू करना होगा। हमलोग रोजगार चाहते हैं। मगर भाजपा नहीं चाहती है। देश से 4 लाख ट्रेडर्स चले गये, उद्योगपतियों के घर पर रात में इनकम टैक्स, ईडी सीबीआई को भेज दिया जा रहा है। पीएम केयर के रुपये विदेश भेज दिये गये हैं। उन्होंने कहा कि 34 साल के वाममोर्चा की लड़ाई को देखा है, भाजपा से डरते नहीं हैं। जितना हमें दबाने की कोशिश करोगे हम उतना ज्यादा शक्तिशाली होंगे। ईर्ष्यालु, षडयंत्रकारी लोग केवल बंगाल से जलते हैं। भाजपा को लगता है कि वह हमें सीबीआई और ईडी से डरा सकती है, लेकिन जितना अधिक वे लोग इस तरह के हथकंडे अपनाएंगे, उतना ही अगले साल के पंचायत चुनाव और 2024 के लोकसभा चुनावों में हार के करीब पहुंचेंगे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

शुगर से पाना चाहते हैं छुटकारा! आज से ही शुरू करें ये काम

कोलकाताः मौजूदा भाग दौड़ के दौर में शुगर की समस्या बेहद आम हो चली है। खराब खानपान और जीवनशैली के चलते शुगर के मरीजों की आगे पढ़ें »

इस दुर्गा पूजा होटल, रेस्टोरेंट और टूरिज्म कोविड काल से पहले की स्थिति में लौटने की उम्मीद

यूनेस्को से मिले सम्मान के कारण बढ़ी विदेशी पर्यटकों की संख्या होटलों की बुकिंग लगभग फुल सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : दुर्गा पूजा आ गयी है और इस बार आगे पढ़ें »

ऊपर