2021 में बंगाल को मिलेंगी कई बड़ी सौगातें

विभागों की सभी योजनाएं हो जाएंगी ऑनलाइन

टाला ब्रिज सहित नोआपाड़ा से दक्षिणेश्वर तक कोलकाता मेट्रो की सौगात

देउचा पाचामी होगा बंगाल के लिए बेहद खास

हिन्दी विश्वविद्यालय के भवन का काम पूरा होने का टार्गेट

सन्मार्ग संवाददाता

कोलकाता : कोरोना काल और लॉकडाउन के कारण 2020 की कई योजनाओं पर असर पड़ा है। 2021 के लिए अच्छी खबर है। इस साल बंगाल को कई बड़ी योजनाओं की सौगातें मिलने जा रही हैं। ऐसे तो कई छोटी – बड़ी योजनाएं शुरू होंगी तथा पूरी भी होंगी मगर कई ऐसी प्रमुख योजनाएं हैं जो बंगाल के गौरव को और बढ़ाएंगी और लोगों के लिए भी बेहद ही अहम होगा।

इस साल टाला ब्रिज पूरा करने का टार्गेट

जर्जर हालत के बाद टाला ब्रिज को तोड़कर नया बनाया जा रहा है। पीडब्ल्यूडी विभाग इसे तैयार कर रहा है। रेल ओवर ब्रिज हाेने के कारण रेलवे की भी इस ब्रिज में भूमिका होगी। पीडब्ल्यूडी के वरिष्ठ अधिकारियों ने उम्मीद जतायी है कि 2021 के अंत तक यह नया ब्रिज तैयार हो जाएगा तथा लोगों के लिए इसे चालू कर दिया जाएगा।

नोआपाड़ा से दक्षिणेश्वर तक कोलकाता मेट्रो की भी सौगात

जानकारी के मुताबिक कमिश्नर ऑफ रेलवे सेफ्टी से क्लीयरेंस मिलने के बाद 2021 के मार्च से पहले तक दक्षिणेश्वर तक मेट्रो सेवा शुरू हो हो सकती है। मेट्रो रेलवे ने गत बुधवार को नोआपाड़ा से दक्षिणेश्वर तक विस्तारित कोलकाता मेट्रो ट्रेन का ट्रायल रन शुरू किया। दक्षिणेश्वर तक सेवा शुरू होने के बाद लाखों दैनिक यात्रियों को इसका लाभ मिलेगा।

ताजपुर में भावी बंदरगाह 4200 करोड़ का प्रोजेक्ट

पूर्व मिदनापुर जिले के ताजपुर में भावी बंदरगाह के लिए अधिसूचना जारी होने के साथ ही राज्य सरकार ने इस बंदरगाह के लिए बड़े-बड़े पोर्ट निर्माताओं का आह्वान किया है। 4200 करोड़ के इस प्रोजेक्ट के लिए जमीन अधिग्रहण नहीं होगा। इसके अलावा भी 15,000 करोड़ रुपये के निवेश को आकर्षित करेगा। सीएम ने कहा था कि राज्य में 25,000 रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे। बंदरगाह के निर्माण से इसमें वृद्धि होगी।

2021 में विभागों की सभी योजनाएं व सुविधाएं ऑनलाइन

वैसे तो राज्य सरकार ऑनलाइन सेवा पर पूरा जोर दे रही है, मगर जनहित से जुड़ी लगभग सभी योजनाओं को ही ऑनलाइन करना चाहती है ताकि लोगों को सहूलियत हो। एक अधिकारी ने बताया कि 2021 में उम्मीद है कि पूरी योजनाएं व सुविधाएं ऑनलाइन कर दी जाएंगी।

देउचा पचामी होगा बंगाल के लिए ‘सोने की खान’

बीरभूम में देउचा पचामी कोयला ब्लॉक के परिणामस्वरूप अगले 100 वर्षों तक राज्य में बिजली की कोई कमी नहीं होगी। एक लाख रोजगार सृजित होंगे। मंत्री शोभनदेव चट्टोपाध्याय ने कहा कि 2021 से इसका काम शुरू हो जाएगा। उन्होंने कहा कि यह बंगाल के लिए सोने की खान से कम नहीं होगा। अभी हाल में बोलपुर में एक प्रशासनिक बैठक में मुख्यमंत्री ने देउचा पंचमी में प्रस्तावित कोयला खदान के बारे में अधिकारियों से जानना भी चाहा था। उन्होंने दावा किया है कि प्रस्तावित कोयला खनन पूरा होने के बाद बंगाल में बिजली की कोई कमी नहीं होगी।

इसी साल हिन्दी विश्वविद्यालय के भवन का काम पूरा होने का टार्गेट

राज्य के लगभग सवा करोड़ हिन्दीभाषियों की मुराद पूरी हुई। खुल गया राज्य का पहला हिन्दी विश्वविद्यालय। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा दी गयी खुशखबरी से केवल शिक्षा जगत के ही नहीं बल्कि आम लोग भी खुश हैं। इसके साथ ही साथ सन्मार्ग के प्रमुख सम्पादक विवेक गुप्त की पहल ने अपना रंग दिखा दिया। अब लोग इंतजार में हैं कि यह विवि. आखिरकार कब बनकर तैयार होगा, इसी साल के अंत तक खुशखबरी मिलने की पूरी उम्मीद है। दामोदर मिश्रा इस हिन्दी विश्वविद्यालय के पहले वाइस चांसलर होंगे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

डायमण्ड हार्बर में शुभेंदु की सभा से पहले हंगामा, घरों व वाहनों में आगजनी

कांथी में अवरोध करने में मुझे 3 सेकेंड लगते : शुभेंदु सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : शनिवार को डायमण्ड हार्बर में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी की सभा आगे पढ़ें »

ममता बनर्जी को दिया धोखा, उपचुनाव हो तो शुभेंदु की हार निश्चित

कांथी : नंदीग्राम में शुभेन्दु की जीत पर अभिषेक बनर्जी ने सवालिया निशान लगाया और दावा किया कि फिलहाल यहां का मामला अदालत में है, आगे पढ़ें »

ऊपर