हर बार से अलग और भव्य होगी कोलकाता की दुर्गापूजा

कहीं दिखेगी प्रकृ​ति की झलक, कहीं दिखेगा सांप्रदायिक सद्भाव
बेजोड़ थीम के साथ तैयारियों में जुटे पूजा आयोजक
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : दुर्गापूजा की बात आते ही जेहन में पहला नाम कोलकाता का आता है। हर साल दुर्गापूजा अपनी थीम और पारंपरिक पूजा के लिए सुर्खियों में रहती है। इस बार ये चर्चा और तेज हो गयी है क्योंकि इस बार दुर्गापूजा हर बार की तुलना में अलग और भव्य होने जा रही है। पहली वजह विश्व मंच पर यूनेस्को द्वारा बंगाल की दुर्गापूजा को विश्व धरोहर का सम्मान मिलना है तो दूसरी वजह तीन सालों के बाद कोविड लगभग खत्म हो चुका है जिसका असर दुर्गापूजा में इस बार दिखेगा यानी पूजा जितनी बड़ी होगी उतनी ही भव्य तरीके से पूजा आयोजक पंडालों को सजाएंगे।
प्रकृति से लेकर सांप्रदायिक सद्भाव, वेटिकन सिटी से लेकर शीशमहल
इस बार की दुर्गापूजा में बजोड़ थीमों को लिया गया है। काशीबोस लेन में पर्यावरण को थीम बनाया गया है। कमेटी के महासचिव सोमेन दत्ता ने बताया, “धरती हमारे अस्तित्व में अंतर्निहित है और यह वह जगह है, जहां हम मृत्यु के बाद वापस जाते हैं। यह सृजन का भी प्रतीक है क्योंकि पृथ्वी पर पेड़ और पौधे उगते हैं।” समाज सेवी संघ की थीम सांप्रदायिक सद्भावना है। कमेटी के सचिव अरिजीत मैत्रा ने कहा कि इसे सांप्रदायिक सद्भाव और सौहार्द बनाए रखने पर जोर देने के साथ समकालीन प्रारूप पर रखा जाएगा, क्योंकि 1946 में त्योहार शहर में सांप्रदायिक झड़पों से पहले हुआ था। श्रीभूमि की थीम वेटिकन सिटी है जिसे भव्य दिखाने के लिए बेजोड़ लाइ​टिंग की जाएगी। मो. अली पार्क शीशमहल की झलक दिखाएगा।
लता मंगेशकर, बप्पी दा, केके किये जाएंगे याद
संगीत जगत के कई​ दिग्गजों ने इस साल दुनिया को अलविदा कहा, उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए भी दुर्गापूजा आयोजकों ने अपनी थीम का हिस्सा उन्हें बनाया है। कविराज बागान सार्वजनीन पूजा कमेटी केके कॉन्सर्ट की झलक दिखलाएगी। बप्पी लाहिड़ी, लता मंगेशकर को विशेष तरीके से श्रद्धांजलि देगी भवानीपुर दुर्गोत्सव समिति अपनी थीम के जरिये।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अब दूसरे मामले में नौशाद सिद्दीकी को 6 दिनों की पुलिस हिरासत

पंचायत चुनाव तक मुझे जेल में रखना चाहती है तृणमूल - नौशाद सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : भांगड़ से आईएसएफ विधायक नौशाद सिद्दीकी को शुक्रवार को 6 दिनों आगे पढ़ें »

शुभेंदु के बाद दिलीप और मिठुन ने भी कहा, ‘अल्पसंख्यक विरोधी नहीं है भाजपा’

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में पंचायत चुनाव होने वाले हैं और अगले साल लोकसभा चुनाव भी है। ऐसे में भाजपा अभी से खुद को आगे पढ़ें »

ऊपर