स्कूल भर्ती घोटाला : सीबीआई के सामने पेश हुए सुजय कृष्ण भद्र

कोलकाता : बंगाल के कई सरकारी और सहायता प्राप्त स्कूलों में हुई अवैध भर्तियों में कथित संलिप्तता को लेकर सुजयकृष्ण भद्र बुधवार को कोलकाता में केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) के सामने पेश हुए। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। सीबीआई का आरोप है कि भर्ती घोटाले से जुटाई गई भारी भरकम राशि ‘कालीघाट एर काकू’ (कालीघाट के काका) के नाम से मशहूर भद्र को भेजी गई थी। कालीघाट वही इलाका है, जहां मुख्यमंत्री ममता बनर्जी रहती हैं। एक सीबीआई अधिकारी ने कहा, ‘‘हमारी जांच में हमने पाया है कि बड़ी राशि इस व्यक्ति (सुजयकृष्ण भद्र) के पास भी पहुंची। हम आज उससे पूछताछ कर रहे हैं।’’ अधिकारी के मुताबिक, भद्र को मंगलवार शाम नोटिस भेजकर पूछताछ के लिए तलब किया गया था और वह बुधवार सुबह सीबीआई के निजाम पैलेस स्थित कार्यालय में उसके सामने पेश हुए। सीबीआई के दफ्तर में प्रवेश से पहले भद्र ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा, ‘‘मैं नहीं जानता कि मुझे क्यों बुलाया गया है। मुझे सीबीआई से एक नोटिस मिला था। यही कारण है कि मैं यहां आया हूं।’’ इस बीच, एक अधिकारी ने बताया कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के जांचकर्ताओं ने स्कूल भर्ती घोटाले की अपनी जांच के सिलसिले में शहर में स्थित उन तीन कॉफी शॉप के मालिकों से उनके सीसीटीवी फुटेज उपलब्ध कराने को कहा है, जहां मामले में गिरफ्तार कुछ आरोपियों ने कथित तौर पर ‘अज्ञात लोगों’ के साथ बैठकें की थीं। अधिकारी के मुताबिक, ईडी ने मामले में गिरफ्तार एक आरोपी की पत्नी को भी कोलकाता स्थित अपने दफ्तर में पूछताछ के लिए बुलाया है। अधिकारी ने कहा, ‘‘इस आरोपी की पत्नी ने बड़े पैमाने पर संपत्ति अर्जित की है और हमारे लिए इसके स्रोत के बारे में जानना जरूरी है। हमें यह पता लगाने की जरूरत है कि उसने यह संपत्ति कैसे अर्जित की।’’

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

जितेंद्र तिवारी को नहीं मिली सुप्रीम कोर्ट से जमानत

अपहरण का आरोप : राज्य सरकार से मांगा दो सप्ताह के अंदर जवाब सन्मार्ग संवाददाता नयी दिल्ली/कोलकाता : आसनसोल के भाजपा नेता व पूर्व मेयर जितेंद्र तिवारी आगे पढ़ें »

अर्जुन हुए विस्फोटक, कहा-ओवर काॅन्फिडेंस से हारे सागरदिघी

कोलकाता : बैरकपुर के सांसद अर्जुन सिंह ने एक बार फिर सांगठनिक कमियों को गिनाते हुए विस्फोटक बयान दिया है। उन्होंने कहा कि ओवर काॅन्फिडेंस आगे पढ़ें »

ऊपर