दुआरे राशन दे रहा 9 करोड़ 75 हजार लोगों को फ्री राशन’

ग्राहकों की सहूलियत के लिए इंटरस्टेट पॉर्टबिलिटी सिस्टम शुरू
किसी भी जिले में रहें मिलेगा आसानी से राशन
6,1000 परिवार एनएफएसए के तहत
3,7400 परिवार राज्य सरकार के तहत
डिएक्टिवेट किये गये कार्ड
जिनकी मृत्यु हो गयी है : 53,725
डुप्लीकेट : 14 लाख

सोनू ओझा 

काेलकाता : सत्ता की तीसरी पारी के साथ ही मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्यवासियों के लिए फ्री राशन की घोषणा कर दी थी। वैसे तो यह योजना पुरानी है जिसका समयकाल ममता सरकार ने बढ़ाया, साथ ही लोगों की सहूलियत के लिए इस क्षेत्र में कई पहल की। आज राज्य में ग्राहकों को राशन की दुकान में जाकर लाइन लगाने की जरूरत नहीं है, बल्कि उनके मोहल्ले में राशन की दुकान पहुंच रही है। आखिर कैसे लोगों तक राशन की व्यवस्था करायी जा रही है इसे लेकर सन्मार्ग ने बात की खाद्य मंत्री रथिन घोष से, उन्होंने बताया कि राज्य सरकार की दुआरे राशन की योजना को सफल बनाना ही मेरा मकसद है इसके लिए वे खुद फिल्ड वर्क कर रहे हैं, ग्राहकों से मिल रही उनकी समस्या सुन रहे हैं, ताकि कोई भी इस योजना से वंचित न रह जाए।
500 मीटर के दायरे में लगायी जा रही है राशन की दुकान
खाद्य मंत्री ने बताया कि कई ग्राहकों की राशन दुकान दूर-दराज इलाकों में थी जिसके कारण लोगों की परेशानी बढ़ रही थी। इसे देखते हुए ही अब 500 मीटर के दायरे में राशन की दुकान लग रही है, जहां लोग आकर अपने हिस्से का राशन ले जा रहे हैं। करीब 20 हजार 533 राशन की दुकानें हैं जहां ऐसी व्यवस्था की गयी है। कोलकाता में 500 मीटर के दायरे में एक से अधिक दुकाने हैं, जिसके लिए इलाका के स्तर पर कुछ परेशानी आ रही है। इस समस्या के समाधान के लिए उचित व्यवस्था की जा रही है।
एसएमएस से नजर रखी जा रही है दुआरे राशन पर
मंत्री ने बताया कि दुकान से लेकर ग्राहकों तक दी जाने वाली राशन की पूरी प्रक्रिया को एसएमएस से जोड़ा गया है, ताकि मैं खुद इस पर पूरी नजर रख सकूं। जहां थोड़ी भी गड़बड़ी का पता चलता है हम तुरंत वहां एक्शन लेते हैं।
उपभोक्ता सम्पर्क अभियान बता रहा ग्राहकों का अधिकार
मंत्री के अनुसार उन्हें दुकानदारों को लेकर शिकायतें मिली हैं कि ग्राहकों को वह नहीं मिल रहा जो मिलना चाहिए। इसके लिए उपभोक्ता सम्पर्क अभियान चालू किया गया। साथ ही ग्राहकों को उनके राशन कार्ड में क्या मिलना चाहिए यह बताने के लिए विभाग तत्पर है। हमारी टीम यहां तक कि मैं खुद लोगों के बीच जाकर उन्हें बता रहे हैं कि राशन के मामले में उनके अधिकार क्या हैं।
इंटरस्टेट पॉर्टबिलिटी सिस्टम से ​किसी भी जिला में मिलेगा राशन
रथिन के बताया कि राज्यवासियों की सुविधा के लिए इंटरस्टेट पॉर्टबिलिटी सिस्टम चालू किया गया है। इसमें अगर कोई ग्राहक एक जिले से दूसरे जिले में आ जाता है तो उसे राशन कार्ड से किसी भी जिले में राशन आराम से मिलेगा।
पहाड़ के लिए स्पेशल पैकेज
पहाड़ के लिए खाद्य विभाग की ओर से स्पेशल पैकेज दिया जा रहा है। यहां करीब 54 लाख लोगों का पंजीकरण किया गया है जिन्हें स्पेशल पैकेज के तहत खाद्य सामग्रियां दी जा रही हैं।
इन 3 जिलों में है खास फोकस
दक्षिण 24 परगना में 88,21,532 लोगों को दिया जा रहा फ्री राशन
मुर्शिदाबाद में 82 लाख लोगों को दिया जा रहा फ्री राशन
उत्तर 24 परगना में 66 लाख लोगों को दिया जा रहा फ्री राशन

शेयर करें

मुख्य समाचार

अब दूसरे मामले में नौशाद सिद्दीकी को 6 दिनों की पुलिस हिरासत

पंचायत चुनाव तक मुझे जेल में रखना चाहती है तृणमूल - नौशाद सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : भांगड़ से आईएसएफ विधायक नौशाद सिद्दीकी को शुक्रवार को 6 दिनों आगे पढ़ें »

शुभेंदु के बाद दिलीप और मिठुन ने भी कहा, ‘अल्पसंख्यक विरोधी नहीं है भाजपा’

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में पंचायत चुनाव होने वाले हैं और अगले साल लोकसभा चुनाव भी है। ऐसे में भाजपा अभी से खुद को आगे पढ़ें »

ऊपर