वृश्चिक राशिफल 10 नवंबर से 16 नवंबर

scorpio-daily-horoscope

वृश्चिक राशि वाले ऐसे होते हैं (जिनके नाम का पहला अक्षर हो – तो, न, नी, नू, ने, ना, या, यी, यू) : उत्साही और मुखर स्वभाव एवं रचनात्मक विचार वाले वृश्चिक राशि के लोग दूसरों को आकर्षित करने की अच्छी क्षमता रखते है। अपना काम निर्धारित समय में करने की पूरी कोशिश करने वाले इस राशि वाले अपने शांत व्यवहार के लिए जाने जाते है। इन्हें बेवकूफ बनाना आसान नहीं होता है, इन्हें कोई धोखा नहीं दे सकता। समर्पित और वफादार वृश्चिक राशि के तहत पैदा हुए लोग आमतौर पर सभी के साथ आसानी से घुलते-मिलते नहीं हैं।

ईमानदारी और निष्पक्षता दो ऐसे गुण हैं जो वृश्चिक राशि वालों को एक अच्छा दोस्त बनाते हैं। जीवन को लेकर सजग, कोमल और संवेदनशील होने के बावजूद वे कई बार वे काफी जिद्दी भी हाे जाते हैं। ये अपने राज किसी दूसरे व्यक्ति के साथ साझा करना पसंद नहीं करते। दूसरों की गलतियों को हमेशा याद रखते हैं और समय आने पर गलतियों का अहसास भी करा देते हैं। बेईमानी से सख्त नफरत करने वाले वृश्चिक राशि के लोगों के लिए भावनाएं महत्वपूर्ण होती हैं। वृश्चिक राशि के लोग हमेशा साफ-सुथरी और सही सलाह देने में विश्वास रखते हैं।

वृश्चिक राशि

वृश्चिक : ​सफलतादायक स्थिति बन सकती है, कर्मक्षेत्र में आर्थिक अनुकूलता का अनुभव कर सकते हैं, परिवार में सुख शांति रहेगी।

साप्ताहिक राशिफल: खर्च के कई नये-नये कारण उपस्थित हो सकते हैं, साथ ही आय के कई नये नये स्रोत खुल सकते हैं। आवश्यकता है परिस्थितियों को समझकर तदनुकूल आचरण करने की। निराशा को त्यागना और आवश्यकता पर ध्यान देना आवश्यक होगा, जो आपको सफल बना सकता है। मांगलिक प्रयास सफल होंगे,स्नेह संबंधों में वृद्धि संभव है लेकिन स्वास्थ्य संबंधी लापरवाही से बचें।

दिनांक 10 को खानपान, 11 को सहयोग, 12 को प्रगति, 13 को सुख, 14 को सफलता, 15 को चिंता, 16 को शारीरिक कष्ट। वृश्चिक लग्न के लिए सप्ताह मिलाजुला परिणाम देगा। शुभ दिन 12 से 14 नवंबर एवं शुभांक 4-7-9।

वृश्चिक वार्षिक राशिफल 2019:यह वर्ष प्राय अच्छा कहा जा सकता है। कभी- कभी अल्प काल के लिए परेशानी हो सकती है किन्तु कुल मिलाकर अच्छाई अधिक रहेगी। अपने आपको संयत रखना और पारिवारिक दायित्व वहन करने की सदीच्छा आपकी सहायता करती रहेगी। वर्ष की पहली तिमाही अर्थात् जनवरी, फरवरी और मार्च की अवधि आत्मविश्वास की वृद्धि करेगी और स्वास्थ्य में भी अनुकूलता रहेगी। स्नायु दुर्बलता से पीड़ित लोग राहत महसूस करेंगे किन्तु खर्च में वृद्धि और कर्मक्षेत्र में प्रतियोगिता बढ़ जाने से अवश्य कुछ चिन्ता हो सकती है फिर भी आपकी निर्णायक बुद्धि यदि स्पष्ट रहेगी और अपना कदम निर्धारित कर लेगी तो प्रतिकूलता नाम मात्र की रहेगी। आर्थिक स्थिति को भी सम्हालने में आप सक्षम रहेंगे। कानूनी अड़चनों को सही मार्ग अपनाने से आप दूर कर सकते हैं।

दूसरी तिमाही अर्थात् अप्रैल, मई और जून कुछ समस्याप्रद हो सकते है। यह अवधि अपने कार्यक्रम पर गंभीरता से विचार करने की हो सकती है। काम-धंधे में विलम्ब होने से मन शिथिल रह सकता है। तनाव से दूर ही रहना अच्छा रहेगा। आर्थिक स्थिति में कमजोरी का अनुभव हो सकता है और स्वास्थ्य भी प्रभावित हो सकता है। पारिवारिक वातावरण भी तनावग्रस्त हो सकता है किन्तु घबराकर कोई ऐसा निर्णय नहीं लेना चाहिए जिससे और भी उलझन बढ़ जाए। कानूनी भय या अनिश्चय की स्थिति बन सकती है। भूमि विवाद भी संभव है। साझेदारी के मामले में अभी कोई निर्णय लेने के बदले टालते रहना अच्छा रहेगा। तीसरी तिमाही अर्थात् जुलाई, अगस्त और सितंबर अनुकूलता और प्रतिकूलता की मिली-जुली अवधि रहने की संभावना है किन्तु जैसे मरुभूमि में कहीं-कहीं हरी छाया वाले पेड़- पौधे रहते हैं वैसे ही परिस्थि​ित आपको मिल सकती है। नौकरी पेशा के लोग भी कार्यक्षेत्र में तनाव अनुभव कर सकते हैं किन्तु उनके लिए शांति से काम करते रहना उचित होगा और सहनशील बने रहना भी फायदा पहुंचा सकता है। संघर्ष या समस्या के बीच भी धैर्य न खोना उत्साह बनाए रखता है, इसे स्मरण रखना होगा।

चौथी तिमाही अर्थात् अक्टूबर, नवंबर और दिसंबर समस्याआें के समाधान की अवधि वाले होंगे। आर्थिक उलझनें दूर हाेंगी। कानूनी पक्ष भी मजबूत होगा। प्रतियोगिता भी कम होगी और निर्णय प्राय: इस अवधि को अनुकूल बनाए रखेगा। निर्भयता से काम करेंगे। प्रतिष्ठा भी बढ़ेगी। पारिवारिक निर्णय आपको सबल बनाएगा और सर्वमान्य होगा। जीवनसाथी के लिए हो रही चिन्ता दूर होगी। महिलाएं सुखी रहेंगी अपने दायित्व का पालन दक्षता के साथ करेंगी। अविवाहित परिणय सूत्र में बंध सकते हैं और विद्यार्थी अपने अध्ययन में लगे रहेंगे। वृश्चिक लग्न के लिए वर्ष का अंतिम भाग उन्नति का होगा। अच्छे परिणाम के लिए हनुमान चालीसा का नित्य 21 पाठ लाभदायक होगा। वर्ष शुभांक 3, 5 और 9।

शेयर करें

मुख्य समाचार

Gay couple wants police protection

बारासात के समलैंगिक जोड़े को मिल रही परिवार से धमकी, पुलिस से लगाई सुरक्षा की गुहार

कोलकाता : भारत के उच्चतम न्यायालय ने पिछले वर्ष ही धारा 377 पर ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए कहा था कि समलैंगिकता अब अपराध नहीं है। आगे पढ़ें »

ram barat

अयोध्या से जनकपुर के लिए निकलेगी भव्य राम बारात, शामिल हो सकते हैं प्रधानमंत्री मोदी

अयोध्या : शीर्ष न्यायालय से राममंदिर के पक्ष में आए फैसले के बाद लोगों में काफी हर्ष और उल्लास है। वहीं विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) आगे पढ़ें »

ऊपर