मकर राशिफल 10 नवंबर से 16 नवंबर

capri-daily-horoscope

मकर राशि वाले ऐसे होते हैं (जिनके नाम का पहला अक्षर हो – भो, ज, जी, खी, खू, खे, खो, ग, गी) : सोने का दिल रखने वाले मकर राशि के लोग अत्यंत व्यावहारिक होते हैं और अपने लक्ष्यों को पाने के लिए जिद्दी होने की हद तक समर्पित रहते हैं। मकर राशि वाले हमेशा चीजों को मिलाने के लिए उत्सुक रहते हैं और एक जिम्मेदार नागरिक की भूमिका को बखूबी निभाते हैं। आमतौर पर ये गुस्सा नहीं करते और धैर्यवान होते हैं, लेकिन जैसे इनको बहुत देर से गुस्सा आता है, वैसे ही क्रोधित होने के बाद शांत होने में काफी समय इनको लगता है।

मकर राशि के व्यक्ति चतुर व्यापारी बन सकते हैं जो जल्दबाजी में निर्णय नहीं लेते। विश्वसनीय व्यक्तित्व वाले इस राशि के लोग दिखने में हो सकता है कठोर लगें, लेकिन वास्तव मंं ये बहुत ही विनम्र और पोषक विचारधारा के धनी होते हैं। किसी भी काम को हाथ में लेने से पहले उसके अतीत के हाल से भविष्य का अंदाजा लगा लेने की क्षमता इनके अंदर होती है। वे लंबे समय तक नाराज नहीं रहते और हमेशा लोगों को अधिक मौका देते हैं। मकर राशि वाले न तो ज्यादा बात करते हैं और न ही ज्यादा सुनते हैं। मुस्कुराहट उनका सबसे अच्छा बचाव है। ये शिक्षाविद, उद्योग, कृषि, प्राचीन वस्तुओं आदि के क्षेत्र के कार्य में सफल हाे सकते हैं। अपने काम में लीन रहना पसंद करते हैं।

मकर राशि

मकर : ​किसी मांगलिक प्रयास में प्रगति संभव है, कर्मक्षेत्र में कुछ नये-नये सम्पर्क बन सकते हैं, परिवार में सुख शांति रहेगी।

साप्ताहिक राशिफल: समस्याएं जितनी जटिल लग रही हैं, वास्तव में उतना कुछ भी नहीं है। पूरे उत्साह स्वयं को प्रस्तुत करें, बहुत कुछ संभव है। कर्मक्षेत्र आपके पक्ष में रहेगा और विरोधी परिस्थितियों को अनुकूल बना पाने में सक्षम रहेंगे। खर्च के कुछ नये-नये कारण उपस्थित हो सकते हैं, जो भविष्य में लाभदायक सिद्ध होंगे। सहयोगियों एवं मित्रों के सहयोग को महत्व दें।

दिनांक 10 को प्रसन्नता, 11 हैरानी, 12 को चिंता, 13 को समाधान, 14 को सुख, 15 को सहयोग, 16 को आनंद। मकर लग्न के लिए सप्ताह सफलतादायक रहने की आशा है। शुभ दिन 14 से 16 नवंबर एवं शुभांक 1-7-9।

मकर वार्षिक राशिफल 2019:यह वर्ष कभी-कभी राहत देते हुए समस्याओं का रहेगा। खिन्नता, भावुकता, क्षणिक अवसाद, श्रम-संघर्ष किन्तु खर्चीला होते हुए आर्थिक निर्भरता का होगा। पिछले वर्ष का रुका हुआ काम आगे बढ़ेगा तो इस वर्ष का काम रुकते-रुकते विलम्ब से होगा। ऋण से छुटकारा मिल सकता है, यदि पूरे मनोयोग से अपने प्रति ईमानदारी से उपयोग किया जाय। वर्ष की पहली तिमाही अर्थात् जनवरी, फरवरी और मार्च की अवधि प्रारंभिक भाग में अवश्य सुखप्रद रहेगी और काम-धंधे में व्यस्तता के साथ परिणाम भी अनुकूलता की ओर रहेगा, लेकिन अंतिम भाग में कोई नई समस्या उत्पन्न हो सकती है जिससे आर्थिक स्थिति प्रभावित होगी और शारीरिक रूप से थकान का अनुभव होने से कर्मक्षेत्र भी प्रभावित होगा। स्वास्थ्य पर ध्यान देना और उदरकष्ट या वायु के प्रकोप से बचने के लिए संयम जरूरी होगा। लाभांश की स्थिति में भी उतार- चढ़ाव संभव है।

दूसरी तिमाही अर्थात् अप्रैल, मई और जून की अवधि प्राय: तनाव और इच्छित कार्यक्रम में रुकावट पैदा कर सकते है। किसी पुराने रोग की नए रूप में प्रतिक्रिया दिखाई दे सकती है और स्वाभाविक लाभ में भी बाधा उपस्थित हो सकती है। इस समय लिए गए निर्णय से आगे चलकर परेशानी हो सकती है। मांगलिक कार्य को शीघ्रता से पूरा करना उचित होगा। कानूनी मामला भी टाला जाना उचित होगा। सद्बुद्धि का अभाव न हो इसका प्रयत्न करना होगा और आर्थिक वादा न करना ही अच्छा होगा। तीसरी तिमाही अर्थात् जुलाई, अगस्त और सितंबर की अवधि में संतोष, सहयोग, परस्पर स्नेह-प्रेम में किसी भी अविश्वास का कोई स्थान नहीं होना चाहिए। पारिवारिक और रिश्तेदारी की समस्या चिन्ता बढ़ा सकती है। खर्च में वृद्धि हो सकती है और मानसिक दबाव भी अनुभव कर सकते हैं। कोई विरोधी या स्वजन का मुखौटा पहने अन्य व्यक्ति अपने वादे से मुकर जा सकता है जिससे मन को विचलित नहीं होने देकर अपने काम में लगे रहना उचित होगा जिसका परिणाम चौथी तिमाही में अनुकूलता ला सकता है। व्यापारी वर्ग भी पूरी ताकत और बुद्धि से समस्या को सम्हालने की चेष्टा करें। प्रशासन से असंतोष बढ़ सकता है। जायदाद संबंधी बातों में अभी तटस्थ रहना ही अच्छा होगा और नये निवेश पर बार- बार विचार करना होगा।

चौथी तिमाही अर्थात् अक्टूबर, नवंबर और दिसम्बर राहत की अवधि होने पर भी प्रगति को अच्छी रफ्तार नहीं दे पाएगी और नए वर्ष की प्रतीक्षा करना ही उचित होगा, फिर भी आर्थिक व्यय में कमी आएगी और कर्मक्षेत्र में सहयोग का वातावरण रहेगा। रुका हुआ काम आगे बढ़ेगा और स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा। नए सहयोगी लाभप्रद सिद्ध हो सकते है। बाधाओं का शमन होगा और काननूनी बातों में अनुकूलता होगी। आनन्ददायक स्थिति बन सकती है। महिलाएं परिवार चलाने में बुद्धिमत्ता का परिचय देंगी और आर्थिक प्रगति में मदद करेंगी। विद्यार्थी और राज कर्मचारियों की सुविधा बढ़ेंगी। मकर लग्न के लिए वर्ष उचित चेष्टा से सफलता दे सकता है। अच्छे परिणाम के लिए शनि और गुरु का दान करते रहें और रोज बच्चों में जलेबी बांटे। वर्ष शुभांक 2, 6 और 9।

शेयर करें

मुख्य समाचार

रिलायंस इंडस्ट्रीज के मार्केट कैप ने आज 9.5 लाख करोड़ रुपये के स्तर को छूआ

नई दिल्ली : रिलायंस इंडस्ट्रीज के मार्केट कैप ने आज 9.5 लाख करोड़ रुपये के स्तर को छू लिया है और मुकेश अंबानी की रिलायंस आगे पढ़ें »

Hongkong protest

हाॅन्गकॉन्ग के संवैधानिक मामलों में परिवर्तन का अधिकार केवल हमारा-चीन

बीजिंग : हॉन्गकॉन्ग में जून महीने से प्रदर्शन जारी है। वहां चीन के शासन में स्वतंत्रता खत्म किए जाने के खिलाफ जनता अपने गुस्से को आगे पढ़ें »

ऊपर