साढ़े चार फुट का डबल डेकर बस ड्राइवर!

नई दिल्लीः अगर हम कोई काम करने की ठान लें तो रास्ता खुद ब खुद ही निकल आता है, मुश्किलें तो महज मन में बसने वाला डर है जिस पर चाहत के सहारे अमल किया जा सकता है। आज हम बात कर रहे हैं इंग्लैंड के फ्रैंक हैचम डबल डेकर मिनी बस चालक कि जिनकी उम्र 55 साल है लेकिन कद 4 फीट 6 इंच है, जिसने अपने कद को अपने काम में रूकावट नहीं बनने दिया। आज वे सरलता से डबल डेकर बस चलाकर अपनी जीविका चला रहे है। वें अपने छोटे कद में डबल डेकर बस को चलाने को लेकर इतने आत्मविश्वासी है कि उन्होंने विश्व में सबसे छोटे कद में डबल डेकर बस चलाने के लिए गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम शामिल करने के लिए आवेदन भी दिया है। फ्रैंक की शादी 14 वर्ष की उम्र में हो गयी थी और इनके दो बच्चे है जिसमें पहली लड़की 10 वर्ष की है जो कद में इनसे लंबी है जबकि दूसरी लड़की 5 वर्ष की है जो कद में इनसे छोटी है क्योंक‌ि उसे अपने पिता का जीन मिला है।

बस चलाने का हटके है अंदाज

फ्रैंक ने बताया कि कम कद होना बस चलाने में कभी उनके आड़े नहीं आई। वे बस चलाते समय सीट को नीचे कर लेते है और बस के स्टीयरिंग व्हील को पास कर लेते है जिससे वे बस को आराम से चला पाते है। उन्होंने बताया कि ऐसा करने से उनको बस चलाने के लिए लंबे जूते पहनने की भी जरूरत नहीं होती। वे प्रतिदिन 700 मार्ग पर बस चलाते है। उनको बस चलाने में कोई शारीरिक बाधा नहीं होती है। उन्होंने कहा कि उनके आकार के कारण उन्हें पंजीकृत अक्षम की श्रेणी में शामिल किया गया है लेकिन वो यह दिखाना चाहते थे कि विकलांगता मंजिल हासिल करने की चाह के आगे कुछ नहीं कर सकती।

खुद को कभी छोटा नहीं माना

फ्रैंक ने कहा ‘मैंने कभी खुद को एक छोटे से व्यक्ति के रूप में नहीं सोचा है। ‘मैं हमेशा सोचता हूं कि मैं सामान्य हूं, मुझे अन्य लोगों को उत्साहित करना है। एक डबल डेकर ड्राइविंग बहुत से लोगों के लिए चुनौती है लेकिन मेरे लिए नहीं। मुझे चुनौतियां पसंद है और जीवन सबसे बड़ी चुनौती है और मैं अपना जीवन ठीक से जी रहा हूं। मैं अक्षम लोगों को दिखाना चाहता हूं कि उन्हें कहीं रुकना नहीं चाहिए।

मैंने नहीं सोचा था कि मुझे कभी नौकरी मिलेगी

फ्रेंक ने अपने पहले नौकरी के साक्षात्कार का अनुभव साझा करते हुए बताया कि मैंने कभी नहीं सोचा था कि कोई मुझे कभी नौकरी देगा, लकिन मैं जब चालक के पद के लिए आवेदन करने गया था तो मैं ने मैनेजर से कहा कि मुझे यह नहीं मालूम की मैं इस नौकरी के लिए योग्य हूं क्योंकि पता नहीं कि मेरे पैर पैडल तक पहुंचेंगे या नहीं। तब मैनेजर ने मेरा आत्मविश्वास बढ़ाते हुए कहा कि फ्रेंक आप टेस्ट दीजिए। अगर आप पास हो जाएंगे तो आपके लिए हम जरूर कुछ ढूंढ निकालेंगे। फ्रेंक ने कहा कि उन्होंने टेस्ट दिया और उनकी ड्राइविंग से खुश होकर कंपनी ने उन्हें नौकरी पर रख लिया। फ्रेंक ने कहा कि उस दिन मुझे लगा कि लोग मुझे भी इंसान समझते हैं क्योंकि मैं अबतक खुद को बहुत छोटा मानता था।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

मैं भारत से प्यार करता हूं : ट्रंप

संयुक्त राष्ट्र : विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को संयुक्त राष्ट्र में एक उच्च स्तरीय कार्यक्रम के दौरान एक दूसरे का कुशल क्षेम पूछा। मादक पदार्थों के प्रतिरोध पर इस कार्यक्रम की अध्यक्षता अमेरिकी [Read more...]

देशभर में हो सकती है पेट्रोल-डीजल की भारी किल्लत

पेट्रोलियम उत्पादों और रुपये में स्थिरता के लिए सरकार उठाने जा रही है बड़ा कदम नई दिल्लीः देश में पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमत और डॉलर के मुकाबले [Read more...]

मुख्य समाचार

डेंगू से हावड़ा में एक और की मौत

हावड़ाः डेंगू के कारण हावड़ा में एक और मौत हो गयी। इस साल डेंगू के कारण हावड़ा में यह दूसरी मौत का मामला है। मृतका का नाम नेहा मेहतो है। वह हनुमान बालिका विद्यालय की कक्षा 12वीं की छात्रा थी। [Read more...]

इटली के उद्योगपतियों को बंगाल में निवेश का दिया न्योता

इटली और भारत को बताया स्वीट सिस्टर्स इटली : बंगाल में निवेश का माहौल है। सरकार निवेशकों को हर सुविधा देने के लिए तत्पर है। आइए और बंगाल में निवेश कीजिए यहां आपकाे अवसर मिलेगा। इटली के मिलान में आयोजित मिलान [Read more...]

ऊपर