संयुक्त राष्ट्र को और अधिक लोकतांत्रिक बनाये : गुतरेस

संयुक्तराष्ट्र : संयुक्त राष्ट्र के महासचिव गुतरेस ने शुक्रवार को एक समारोह में अधिक लोकतांत्रिक संयुक्त राष्ट्र का आह्वान किया। उन्होंने अधिक संतुलित तरीके से शक्ति के बंटवारे और उसके सभी निकायों में क्षेत्रीय प्रतिनिधित्व में अधिक प्रभावी विविधता का आह्वान किया। इस समारोह में जी-77 की अध्यक्षता मिस्र ने संभाली और चीन ने इक्वाडोर से हासिल की।
उन्होंने कहा कि, उसका केंद्र सुरक्षा परिषद में सुधार में है। यह महासभा के पुनरोद्धार में है, लेकिन सचिवालय स्तर पर जिस एक बात के लिये मैं प्रतिबद्ध हूं और वह प्रबंधन सुधार के कारणों में से एक हैं। उन्होंने उम्मीद जताई कि जी- 77 देशों का समूह ‘‘यह सुनिश्चित करने के लिये इस जरूरत पर ध्यान देगा कि कोई भी सुधार अधिक संतुलित और लोकतांत्रिक संयुक्त राष्ट्र के लिये प्रभावी योगदान देगा जहां शक्ति का बेहतर वितरण होगा और न्याय अधिक आसानी से कायम रहेगा।’ उन्होंने कहा कि समूह-77 को न सिर्फ बहुपक्षीय दुनिया में बल्कि ऐसी दुनिया में भी बेहद महत्वपूर्ण भूमिका निभानी है।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

सीरिया को सबक सिखाने के बाद अमेरिका ने दी धमकी, कहा- रूस परिणाम भुगतने को तैयार रहे

नई दिल्लीः सीरिया में हुए रासायनिक हमले के बाद अमेरिकी की नाराजगी अब भी कम नहीं हो रही है। उसने इस बार सीरिया को धमकाने के बाद रूस को धमकी दे डाली है और कहा कि सीरिया व उसके सा‌थियों [Read more...]

अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस का एक साथ सीरिया पर हमला, दागी एक के बाद एक कई मिसाइलें

दमिश्कः अभी हाल ही में सीरिया में हुए रासायनिक हमले में कई लोगों के मारे जाने के बाद अब विश्व के तीन महाशक्ति देशों ने एक साथ सीरिया पर ताबड़तोड़ करीब 100 मिसाइलें दागी है। अमेरिका, ब्रिटेन‌ और फ्रांस के [Read more...]

मुख्य समाचार

मीडिया पर भी गुंडई

कोलकाता : सोमवार को नामांकन के अंतिम दिन राज्य के विभिन्न जिलों में हिंसक घटनाएं तो हुई ही, साथ ही चौथे स्तंभ यानी मीडिया को भी नहीं बख्शा गया। राज्य में मीडिया पर भी हमले हुए। जिलों में तो हमले [Read more...]

गिरिजा देवी के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता: राज्यपाल

कोलकाता : बनारस घराने की अंतिम दीपशिखा के रूप में पद्म विभूषण गिरिजा देवी भले ही आज मौन हो गईं, लेकिन उनका संगीत लोगों के जहन में युगों-युगों तक रहेगा। भले ही वह मौन हो गई हों लेकिन उनकी ठुमरी, [Read more...]

उपर