यहां अंतिम संस्कार में रोने के लिए बुलाये जाते है लोग

नयी दिल्लीः विदेश में एक ऐसी जगह है जहां लोगों को रोने के लिए बुलाया जाता है और उनको रोने के लिए रुपये भी दिये जाते है। पहले तो यहां के लोग मजबूरी में रोते थे लेकिन धीरे-धीरे लोगों ने इसको अपने पेशे में बदल लिया। केवल भारत में रुदाली की प्रथा ही नहीं है बल्कि अफ्रीका में भी ऐसा ही होता है।

क्या है मामला?
आपको सुनकर यह आश्चर्य होगा कि अफ्रीका के घाना के पेशेवर मूरर्स बिना जान पहचाने के यहां अंतिम संस्कार में रोने के लिए बुलाये जाते हैं और उनको वहां पर रोने के लिए रुपये भी दिए जाते हैं। सुनने में अजीब लगने वाली यह परंपरा अफ्रिका के एक देश में बहुत विख्यात हैं । क्योंकि वहां पर लोग अपने संबंधी के यहां रो नहीं पाते है जिस वजह से वहां एक संगठन बना हुआ है जो सिर्फ यही काम करता है और अपने जीवन का निर्वाह करता है। ये काम इस संगठन के लोगों का शौक भी है। घाना के पेशेवर मूरर्स के लीडर अमी डोक्ली ने इसके बारें में बताते हुए कहा कि कुछ लोग अपने संबंधियों  के अंतिम संस्कारों में दुख व्यक्त नहीं कर पाते हैं। इसलिए वह हम लोगों को निमंत्रण भेजते है। उन्होंने बताया कि मेरे अलावा इस संगठन में सभी औरतें विधवा हैं। हमलोगों के लिए इस काम को करना सरल नहीं है लेकिन पेट की भूख मिटाने के लिए मजबूरी वश जान पहचान न होते हुए भी हमें लोगों के यहां अंतिम संस्कार में रोना पड़ता है।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

न्याय के मं‌दिर में वकीलों ने ही किया महिला वकील साथी के साथ सामूहिक दुष्कर्म

नई दिल्लीः मानवाधिकार और अधिकारों के संरक्षण की रक्षा करने वाले या लड़ने वाले अगर खुद किसी के अधिकार उल्लंघन करे तो क्या कहेंगे। ऐसा ही एक घटना दिल्ली के साकेत कोर्ट्र परिसर की है। यहां एक वकील के चेंबर [Read more...]

मोदी ने पूर्वांचल के किसानों को दिया 3420 करोड़ की परियोजना

मिर्जापुरः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने पूर्वांचल दौरे के दूसरे दिन मिर्जापुर में एक रैली को संबोधित किया। जनसभा को संबोधित करने से पहले उन्होंने बाणसागर परियोजना का शुभारंभ किया। इस परियोजना से इलाके में सिंचाई को बढ़ावा मिलेगा, जिससे [Read more...]

मुख्य समाचार

अफगान में आत्मघाती हमला, 7 मरे, 15 जख्मी

काबुलः अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में रविवार की शाम शाम करीब 4.30 बजे ग्रामीण पुनर्वास और विकास मंत्रालय के गेट के बाहर एक हमलावर ने खुद को विस्फोटक से उड़ा लिया। इस आत्मघाती हमले में आम लोग एवं सुरक्षाकर्मी समेत [Read more...]

भगवान जगन्नाथ का रथ गुंडिचा मंदिर पहुंचा

पुरीः भगवान जगन्नाथ का ‘नंदीघोष’ रथ रविवार को गुंडिचा मंदिर पहुंच गया। रथ यात्रा के दौरान शनिवार को बालागंडी चक पर इस रथ को रोकना पड़ा और उस दिन रथयात्रा पूरी नहीं हुई क्योंकि सूर्यास्त के बाद रथों को नहीं [Read more...]

ऊपर