ट्रंप प्रशासन ने ईरान परमाणु समझौता के तहत लगाए प्रतिबंधों की समीक्षा का आदेश दिया

वाशिंगटनः अमरीकी विदेश मंत्री ने कहा है कि ट्रंप प्रशासन ने 2015 में हुए एक ऐतिहासिक समझौते के तहत ईरान पर प्रतिबंधों को स्थगित किए जाने की अंतर एजेंसी समीक्षा का आदेश दिया है ताकि यह पता चले सके कि यह अमरीका के राष्ट्रीय हितों में है या नहीं। ईरान पर प्रतिबंधों को राहत देने की अमरीकी समीक्षा का घटनाक्रम ऐसे वक्त हो रहा है जब अमरीका ने भी कहा है कि ईरान आतंकवाद का एक प्रमुख प्रायोजक बना हुआ है।
टिलरसन ने रयान को लिखा पत्र : टिलरसन ने प्रतिनिधि सभा के स्पीकर पॉल रयान को लिखे एक पत्र में कहा है कि ईरान कई मंचों और माध्यमों से आतंक का एक प्रमुख प्रायोजक बना हुआ है। उन्होंने पत्र में यह प्रमाणित किया है कि ईरान ने अब तक परमाणु समझौते के प्रावधानों का अनुपालन किया है। अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने संयुक्त व्यापक कार्रवाई योजना की अंतर सरकारी समीक्षा का निर्देश दिया है। इस समझौते पर पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने बात की थी। टिलरसन ने कहा कि अंतर एजेंसी समीक्षा पूरी हो जाने पर प्रशासन इस मुद्दे पर कांग्रेस के साथ काम करने की उम्मीद करता है। ईरान के अनुपालन का प्रमाणन ट्रंप प्रशासन ने पहली बार जारी किया है। इसे हर 90 दिनों पर अवश्य ही कांग्रेस के पास भेजा जाना चाहिए।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

ब्रिटिश गोताखोर ने एलन मस्क पर किया मानहानि मुकदमा

कैलिफोर्नियाः थाईलैंड की गुफा में फंसे बच्चों को बचाने वाले ब्रिटिश गोताखोर वर्नोन अनस्वोर्थ ने अब इलेक्ट्रिक कार कंपनी टेस्ला के सीईओ एलन मस्क के खिलाफ 75,000 डॉलर (54 लाख 40 हजार रुपए) का मानहानि का मुकदमा किया है। अनस्वोर्थ [Read more...]

नेपाल के बाद अब भूटान भी भारत से दूर हो सकता है

थिम्पूः पड़ोंसी देश नेपाल के बाद अब भूटान भी भारत से दूर हो सकता है। नेपाल की चीन से निकटता के बाद भूटान में पीपल्स डेमोक्रैटिक पार्टी के चुनाव में पिछड़ना भारत के लिए अच्छी खबर नहीं है। पार्टी के [Read more...]

मुख्य समाचार

ब्रिटिश गोताखोर ने एलन मस्क पर किया मानहानि मुकदमा

कैलिफोर्नियाः थाईलैंड की गुफा में फंसे बच्चों को बचाने वाले ब्रिटिश गोताखोर वर्नोन अनस्वोर्थ ने अब इलेक्ट्रिक कार कंपनी टेस्ला के सीईओ एलन मस्क के खिलाफ 75,000 डॉलर (54 लाख 40 हजार रुपए) का मानहानि का मुकदमा किया है। अनस्वोर्थ [Read more...]

पूर्व सीएफओ से केस हारी इंफोसिस, अब ब्याज सहित देने होंगे 12.17 करोड़

नई दिल्लीः भारत की दूसरी सबसे बड़ी आईटी कंपनी इंफोसिस मंगलवार को आर्बिट्रेशन केस हार गई है। अब उसे पूर्व सीएफओ राजीव बंसल को 12.17 करोड़ रुपये और ब्याज चुकाने होंगे। दरअसल, इंफोसिस के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी विशाल सिक्‍का के कार्यकाल [Read more...]

ऊपर