अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस का एक साथ सीरिया पर हमला, दागी एक के बाद एक कई मिसाइलें

दमिश्कः अभी हाल ही में सीरिया में हुए रासायनिक हमले में कई लोगों के मारे जाने के बाद अब विश्व के तीन महाशक्ति देशों ने एक साथ सीरिया पर ताबड़तोड़ करीब 100 मिसाइलें दागी है। अमेरिका, ब्रिटेन‌ और फ्रांस के इस हमले से सीरिया की राजधानी दहल उठी और यहां धुआं ही धुआं नजर आया। वहीं, इसके जवाब में असद सरकार ने भी उचित जवाब देते हुए एंटी गाइडेड मिसाइल को लॉन्च किया।
दरअसल, सीरिया के पूर्वी गोता के डौमा में हाल में सीरिया द्वारा रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल से बच्चों सहित 75 लोग मारे गए थे। इसके जवाब में विश्व के तीन महाशक्तियों ने मिसाइलें दागी। पेंटागन के अनुसार ये हवाई हमले सीरिया के रासायनिक हथियारों के तीन भंडारगृहों को निशाना बनाकर किए गए। इसमें दमिश्क के पास वैज्ञानिक शोध अनुसंधान इकाई शामिल है, जहां रासायनिक हथियारों का कथित तौर पर उत्पादन होता है। होम्स के पास रासायनिक हथियार भंडारण इकाई और होम्स शहर के अहम सैन्य ठिकाने, जहां रासायनिक हथियारों से जुड़ी सामग्री रखी जाती है।
सूत्रों के अनुसार जिन-जिन स्थानों को निशाना बनाकर हमले किए गए, उनमें सीरियाई सेना की 4वीं टुकड़ी और रिपब्लिकन गार्ड भी शामिल हैं। अमेरिकी रक्षा अधिकारियों के मुताबिक इस हमले में शामिल अमेरिकी विमानों में बी-1 बमवर्षक और जहाज हैं। सीरिया के वायु रक्षा ने दक्षिणी दमिश्क की ओर आ रहे 13 रॉकेटों को हवा में ही नाकाम कर दिया। सीरियाई सरकारी टीवी ने कहा कि ये हमले अंतर्राष्ट्रीय कानून का स्पष्ट उल्लंघन हैं और यह अंतर्राष्ट्रीय वैधता की अवमानना को दर्शाता है।
गौरतलब है कि ट्रंप ने शुक्रवार रात अपने 3 सहयोगियों के साथ मिलकर सीरियाई राष्ट्रपति बशर अल असद को कथित रासायनिक हमले के लिए दंडित करने और उन्हें ऐसा दोबारा करने से रोकने के लिए सैन्य हमले करने की घोषणा की थी। सीरिया सरकार लगातार प्रतिबंधित हथियार के इस्तेमाल की बात नकार रही है। अमरीका के रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस का कहना है कि प्रारंभिक हवाई हमलों में अमरीकी हार की कोई रिपोर्ट नहीं है। उन्होंने हमले करने की संभावना को खारिज किए बिना कहा , ” फिलहाल यह एकमात्र हमला है। मैटिस ने कहा कि रासायनिक हथियार बनाने में असद के मददगार विभिन्न स्थलों पर हमला किया गया है। ब्रिटेन के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि हमले के प्रभावों का आकलन किया जाना अभी बाकी है।

उधर, ब्रिटेन की प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने आज कहा कि उन्होंने ब्रिटेन की सेनाओं को सीरिया के रासासनिक हथियारों के ठिकानों को नष्ट करने के लिए हमले करने का आदेश दिया है। ट्रंप ने सीरिया हमले को लेकर रूस को घेरा है। ट्रंप ने कहा कि सीरिया पर हुआ हमला असद के रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल को रोकने की रूस की विफलता का प्रत्यक्ष परिणाम है। ट्रंप ने कहा है कि सीरिया पर अमरीकी हमलों की ब्रिटिश, फ्रांसीसी सहयोगियों के साथ मिलकर शुरू की गई प्रक्रिया अब भी चल रही है।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

हंगामे के बीच सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव स्वीकार

नई दिल्लीः संसद का मॉनसून सत्र बुधवार से शुरू हुआ है, और पहले ही दिन सदन में जोरदार हंगामा देखने को मिला। हंगामें के बीच विपक्ष द्वारा सरकार के खिलाफ लोकसभा में रखे गए अविश्वास प्रस्ताव को स्पीकर सुमित्रा महाजन [Read more...]

विराट ने धोनी व एबी को पीछे छोड़ा

नई दिल्लीः भारत और इंग्लैंड के बीच खेले गए आखिरी वनडे मैच में कप्तान विराट कोहली ने वर्ल्ड रिकॉर्ड बना डाला। इंग्लैंड के खिलाफ पारी का 15वां रन बनाते ही विराट कोहली ने वनडे क्रिकेट में कप्तान के तौर पर [Read more...]

मुख्य समाचार

कश्मीर में पाकिस्तानी व इस्लामिक टीवी चैनलों पर प्रतिबंध

श्रीनगर (जेके ब्यूरो): जम्मू-कश्मीर में राज्यपाल एन एन वोहरा आक्रामक मूड में हैं। पहले उन्होंने आतंकी गतिविधियों और पत्थरबाजी को बढ़ावा देने वाले व्हाट्सएप ग्रुपों की नकेल कसी अब कश्मीर में पाकिस्तानी व इस्लामिक टीवी चैनलों को प्रतिबंधित कर दिया। [Read more...]

अमरनाथ श्रद्धालु की मौत, 18वां जत्था रवाना

जम्मूः सरस्वती धाम रेलवे स्टेशन के समीप एक वाहन की टक्कर से घायल होने पर जीएमसी अस्पताल में भर्ती महाराष्ट्र की तीर्थयात्री गया भाई कैले (61) की मंगलवार की शाम मृत्यु हो गयी, जबकि दिल का दौरा पड़ने के बाद [Read more...]

ऊपर