अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस का एक साथ सीरिया पर हमला, दागी एक के बाद एक कई मिसाइलें

दमिश्कः अभी हाल ही में सीरिया में हुए रासायनिक हमले में कई लोगों के मारे जाने के बाद अब विश्व के तीन महाशक्ति देशों ने एक साथ सीरिया पर ताबड़तोड़ करीब 100 मिसाइलें दागी है। अमेरिका, ब्रिटेन‌ और फ्रांस के इस हमले से सीरिया की राजधानी दहल उठी और यहां धुआं ही धुआं नजर आया। वहीं, इसके जवाब में असद सरकार ने भी उचित जवाब देते हुए एंटी गाइडेड मिसाइल को लॉन्च किया।
दरअसल, सीरिया के पूर्वी गोता के डौमा में हाल में सीरिया द्वारा रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल से बच्चों सहित 75 लोग मारे गए थे। इसके जवाब में विश्व के तीन महाशक्तियों ने मिसाइलें दागी। पेंटागन के अनुसार ये हवाई हमले सीरिया के रासायनिक हथियारों के तीन भंडारगृहों को निशाना बनाकर किए गए। इसमें दमिश्क के पास वैज्ञानिक शोध अनुसंधान इकाई शामिल है, जहां रासायनिक हथियारों का कथित तौर पर उत्पादन होता है। होम्स के पास रासायनिक हथियार भंडारण इकाई और होम्स शहर के अहम सैन्य ठिकाने, जहां रासायनिक हथियारों से जुड़ी सामग्री रखी जाती है।
सूत्रों के अनुसार जिन-जिन स्थानों को निशाना बनाकर हमले किए गए, उनमें सीरियाई सेना की 4वीं टुकड़ी और रिपब्लिकन गार्ड भी शामिल हैं। अमेरिकी रक्षा अधिकारियों के मुताबिक इस हमले में शामिल अमेरिकी विमानों में बी-1 बमवर्षक और जहाज हैं। सीरिया के वायु रक्षा ने दक्षिणी दमिश्क की ओर आ रहे 13 रॉकेटों को हवा में ही नाकाम कर दिया। सीरियाई सरकारी टीवी ने कहा कि ये हमले अंतर्राष्ट्रीय कानून का स्पष्ट उल्लंघन हैं और यह अंतर्राष्ट्रीय वैधता की अवमानना को दर्शाता है।
गौरतलब है कि ट्रंप ने शुक्रवार रात अपने 3 सहयोगियों के साथ मिलकर सीरियाई राष्ट्रपति बशर अल असद को कथित रासायनिक हमले के लिए दंडित करने और उन्हें ऐसा दोबारा करने से रोकने के लिए सैन्य हमले करने की घोषणा की थी। सीरिया सरकार लगातार प्रतिबंधित हथियार के इस्तेमाल की बात नकार रही है। अमरीका के रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस का कहना है कि प्रारंभिक हवाई हमलों में अमरीकी हार की कोई रिपोर्ट नहीं है। उन्होंने हमले करने की संभावना को खारिज किए बिना कहा , ” फिलहाल यह एकमात्र हमला है। मैटिस ने कहा कि रासायनिक हथियार बनाने में असद के मददगार विभिन्न स्थलों पर हमला किया गया है। ब्रिटेन के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि हमले के प्रभावों का आकलन किया जाना अभी बाकी है।

उधर, ब्रिटेन की प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने आज कहा कि उन्होंने ब्रिटेन की सेनाओं को सीरिया के रासासनिक हथियारों के ठिकानों को नष्ट करने के लिए हमले करने का आदेश दिया है। ट्रंप ने सीरिया हमले को लेकर रूस को घेरा है। ट्रंप ने कहा कि सीरिया पर हुआ हमला असद के रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल को रोकने की रूस की विफलता का प्रत्यक्ष परिणाम है। ट्रंप ने कहा है कि सीरिया पर अमरीकी हमलों की ब्रिटिश, फ्रांसीसी सहयोगियों के साथ मिलकर शुरू की गई प्रक्रिया अब भी चल रही है।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

…तो गूगल पर ‘इडियट’ लिखने पर ट्रंप और ‘पप्पू’ लिखने पर राहुल का फोटो इसलिए आता है

वाशिंगटनः जिस प्रकार गूगल पर पप्पू का नाम लिखने पर राहुल गांधी और फेंकू का नाम लिखने पर प्रधानमंत्री मोदी और इडियट लिखने पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनॉल्ड ट्रंप का  नाम सामने आता है। गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ने इसके पीछे [Read more...]

मंगेतर को बोला- बेवकूफ, गया सलाखों के पीछे

नई दिल्लीः अबु धाबी में एक शख्स को व्हाट्सएप के माध्यम से अपनी पत्नी से मजाक करना महंगा पड़ गया और उसे जेल जाना पड़ा। उसने कभी सपने में भी नहीं सोचा होगा कि उसका एक मजाक उस पर इतना [Read more...]

मुख्य समाचार

अमेरिका, जापान, बिट्रेन के बाद ताइवान ने भी चीनी कंपनी हुवावे और जेडटीई पर लगाया प्रतिबंध

ताइपे : अपने नागरिकों के सुरक्षा चिंताओं को ध्यान में रखते हुए ताइवान ने चीनी कंपनी हुवावे और जेडटीई के नेटवर्क उपकरणों पर प्रतिबंध लगा दिया है। यह 170 देशों में कारोबार करने वाली चीनी दूरसंचार उपकरण कंपनी के लिए [Read more...]

2.0 के बाद रजनीकांत का नया धमाका पेटा

नयी दिल्ली : सुपरस्टार रजनीकांत आज यानी बुधवार को 68वां जन्मदिन मना रहे हैं। इस मौके पर थलाइवा के सम्मान में उनकी अागामी फिल्म पेटा का टीजर रिलीज किया गया। इस फिल्म में रजनीकांत एक बार फिर गैंगस्टर की भूमिका [Read more...]

ऊपर