पगड़ी बांध, हथियार लहराकर गुंडई बर्दाश्त नहीं – ममता

रामनवमी के हिंसक घटनाओं पर ममता ने तोड़ी चुप्पी, कहा राम का नाम बदनाम न करो
रैली में हथियार लहराने वालों पर सख्त कार्रवाई होगी
कुछ गुंडा-मस्तान पगड़ी बांध कर संस्कृति को बिगाड़ने की कोशिश कर रहे हैं
पुलिस से कहा, किसी तरह का समझौता न करें
सन्मार्ग संवाददाता
दक्षिण 24 परगना : राज्य प्रशासन की चेतावनी के बावजूद रामनवमी के मौके पर कई स्थानों पर लोगों द्वारा हथियार लहराने को लेकर विवाद काफी बढ़ गया है। भाजपा और टीएमसी एक दूसरे पर निशाना साध रहे हैं। सीएम ममता बनर्जी ने अपने अंदाज में जवाब दिया। साेमवार को दक्षिण 24 परगना के पैलान में आयोजित प्रशासनिक बैठक में सीएम ने कहा कि क्या कभी राम ने कहा कि हथियारों के साथ ही रैली निकालना है।
उन्होंने कहा कि कुछ गुंडे पिस्तौलों, तलवारों, हथियारों के साथ अपने सिर को कपड़े से बांधे हुए सड़क पर गुंडागर्दी कर रहे हैं। यह बंगाली संस्कृति नहीं है। हमने शांतिपूर्ण रैलियां निकालने की अनुमति दी है। सभी लोगों को अपने धर्म के अनुसार पूजा-अर्चना और इबादत करने की आजादी है लेकिन राम के नाम पर पिस्तौल ले जाना और राजनीति करना बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। किसी को पड़ोस में जाकर दूसरे समुदाय के किसी व्यक्ति की हत्या करने की इजाजत नहीं दी जायेगी। उन्होंने कहा कि कुछ गुंडे राम के नाम पर माहौल को खराब कर रहे हैं। सीएम ने प्रशासनिक बैठक में पुलिस अधिकारियों को कड़ा निर्देश दिया है कि हथियार के साथ रैली करने वालों को बिल्कुल बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने पुलिस से कहा कि ऐसे लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने पुलिस को भी चेताया है कि अगर किसी तरह का सेटलमेंट की बात सामने आती है तो उसे भी बख्शा नहीं जाएगा। सीएम ने किसी भी पार्टी या संस्था का नाम लिए बिना कहा कि प्रतिबंध के बाद भी रैली में हथियारों को शामिल किया गया। गुंडा बदमाशों का एक संगठन राम के नाम को बदनाम कर रहा है। मैं डीजीपी से लेकर समस्त एसपी को निर्देश दिया है कड़ा से कड़ा कदम उठाये।
उल्लेखनीय है कि रविवार को पुरुलिया में बजरंग दल के सदस्यों ने कथित तौर पर तलवार के साथ रैली निकाली। वहां दोनों समूहों के बीच हुए संघर्ष में एक व्यक्ति की मौत हो गई और 5 पुलिस कर्मी घायल हो गए। सीएम ने कहा कि कुछ गुंडा – मस्तान संस्कृति को बिगाड़ने की कोशिश कर रहे हैं। हाथ में पिस्तौल लेकर माथा में पगड़ी बांधकर क्या साबित करना चाहते हैं। मैंने शांतिपूर्ण तरीके से रैली निकालने को कहा था। सीएम ने कहा कि हिंदु धर्म में युग युग चलता आया है कि शांति। जो लोग धर्म को राजनीति के लिए इस्तेमाल करते हैं उन्हें मैं बता दूं कि राजनीति बहुत बड़ी चीज है, यह आपके बस की बात नहीं है। ये सोच रहे हैं पूरा भारतवर्ष जीत लेंगे।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

हादसे में दो जवान सहित तीन मृत

जम्मू (जे के ब्यूरो) : वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अनिता शर्मा ने यहां बताया कि जम्मू से श्रीनगर की ओर जा रहा एक ट्रक बनिहाल में रतन बास के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गया। ट्रक में 89 बटालियन के बीएसएफ के दो [Read more...]

सिंधू चीन ओपन के प्री-क्वार्टरफाइनल में, सायना हारी

चांगझूः ओलंपिक और विश्व चैंपियनशिप की रजत पदक विजेता पीवी सिंधू ने मंगलवार को बीडब्ल्यूएफ विश्व टूर सुपर 1000 टूर्नामेंट चीन ओपन के प्री क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई लेकिन सायना नेहवाल करीबी मुकाबले में हारकर प्रतियोगिता से बाहर हो [Read more...]

मुख्य समाचार

‘धोनी रिव्यू सिस्टम’ ने फिर बनाया मुरीद

नयी दिल्ली : टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने एक बार फिर से अपने फैसले से साबित कर दिया कि डीआरएस के मामले में उनसे सटीक कोई नहीं है। अगर वह इशारा कर दें तो मान लीजिए [Read more...]

केजरीवाल ने शाह को दी बहस की चुनौती

नयी दिल्लीः भाजपा अध्यक्ष अमित शाह द्वारा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर काम नहीं करने के बयान पर केजरीवाल ने रविवार को कहा कि जितना काम उन्होंने किया है उसे कोई चुनौती नहीं दे सकता। जनता की सेवा का [Read more...]

ऊपर