हम एनडीए में हैं और हमेशा रहेंगेः कुशवाहा

नेता प्रतिपक्ष को इफ्तार पार्टी का न्यौता देकर, महागठबंधन में शामिल होने से किया इंकार
पटनाः मिशन 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले बिहार में सीटों के बंटवारे को लेकर सियासी पारा दिन प्रतिदिन चढ़ता ही जा रहा है। इस सियासी गर्मी को हवा देने वाले राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा ने रविवार को एक बार फिर इफ्तार पार्टी में नेता प्रतिपक्ष न्यौता देकर चौंका दिया। नेता प्रतिपक्ष को न्यौता देने से कई कयास लगाए जा रहे थे कि वे राजग के साथ बने रहेंगे या महागठबंधन के साथ आगे की राजनीति का सफर तय करेंगे। लेकिन कुशवाहा ने फिर एक बार गुलाटी मारते हुए सबको चौंका दिया।
महागठबंधन शामिल होने का न्यौता अस्वीकार किया
केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने तेजस्वी यादव की ओर से महागठबंधन में शामिल होने के न्योते को स्वीकार करने से मना कर दिया। उन्होंने कहा कि वह एनडीए में ही रहेंगे। उनकी महागठबंधन में जाने की कोई इच्छा नहीं है। कुशवाहा ने कहा- ‘तेजस्वी बोल रहे हैं। बोलने दीजिए। हम एनडीए में हैं और हमेशा रहेंगे।’

तेजस्वी का ताबड़तोड़ ऑफर, लेकिन गली दाल
इससे पहले आरजेडी नेता और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने रविवार को उपेंद्र कुशवाहा को महागठबंधन में शामिल होने का न्योता दिया। खास बात यह रही कि तेजस्वी ने कुशवाहा को प्रभावित करने के लिए एक के बाद एक करके 3 ट्वीट कर डाले। उन्होंने अपने पहले ट्वीट में कहा कि हम उपेंद्र कुशवाहा को महागठबंधन में शामिल होने का न्योता देते हैं। उन्हें पिछले 4 साल से एनडीए में उपेक्षित किया जा रहा है। बीजेपी उनके साथ सौतेला और पराया व्यवहार कर रही है। इसी दौरान बीजेपी ने नीतीश के साथ मिलकर उनकी पार्टी को तोड़ने की कोशिश भी की। इसके बाद तेजस्वी ने मोदी सरकार पर उपेंद्र कुशवाहा की काबिलियत का सही इस्तेमाल नहीं करने का आरोप भी लगाया। फिर अपने तीसरे ट्वीट में उन्होंने संविधान बचाने की लड़ाई में उचित फैसला लेने की बात कही। हालांकि, कुशवाहा ने तेजस्वी के इस खुले प्रस्ताव को नकार दिया।
कुशवाहा एनडीए के अहम सदस्य है
बिहार के कद्दावर नेताओं में शुमार किए जाने वाले कुशवाहा नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली एनडीए सरकार में शामिल अहम सदस्य हैं। उनकी पार्टी राष्ट्रीय लोक समता पार्टी ने फरवरी 2014 में ऐलान किया था कि वह बीजेपी की अगुवाई में एनडीए में शामिल होगी। 2014 आम चुनाव में बीजेपी के साथ करार में उसे 3 सीट पर चुनाव लड़ने का मौका मिला जिसमें वह सभी 3 सीटों पर चुनाव जीतने में कामयाब रही। कुशवाहा बिहार को कराकट लोकसभा सीट से सांसद हैं और मोदी सरकार में मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री हैं।
कुशवाहा चल रहे हैं नाराज
तेजस्वी के कुशवाहा को यह ऑफर देने की वजह एनडीए के खेमे में कुशवाहा की पार्टी आरएलएसपी की नाराजगी है। अभी तक एनडीए में सबसे बड़ी पार्टी बीजेपी ने यह साफ किया है कि जेडी(यू) के नीतीश कुमार ही बिहार में एनडीए का प्रमुख चेहरा होंगे। कुछ दिनों पहले आरएलएसपी की ओर से कहा गया कि बिहार में एनडीए का चेहरा कुशवाहा को होना चाहिए।
तय नहीं बिहार का फॉर्मूला
बिहार में 40 लोकसभा सीटों के लिए एनडीए का फॉर्मूला अभी सामने नहीं आया है। जेडी(यू) 40 में से 25 सीटों पर चुनाव लड़ने की बात कर रही है। इसके अलावा एनडीए में शामिल लोजपा ने सात सीटों पर अपना दावा किया है। कुशवाहा की आरएलएसपी भी तीन सीटों की दावेदारी कर रही है। ऐसे में बिहार में बीजेपी के लिए केवल पांच सीटें बचती हैं, जो कि बीजेपी को मान्य नहीं होगा।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

समुद्र में बिछाई जाएगी 66सौ किलोमीटर लंबी केबल, मिलेगी कई गुना तेज इंटरनेट

न्यूयॉर्कः अमेरिकी कंपनी गूगल और फ्रांस की ऑरेन्ज कम्युनिकेशन संयुक्त रूप से फ्रांस से अमेरिका के बीच समुद्र में 66सौ किलोमीटर लंबी केबल बिछाने के लिए काम कर रही है। हाईस्पीड इंटरनेट केबल के लग जाने के बाद लोगों को [Read more...]

सुरंग के भीतर पहला रेलवे स्टेशन हिमाचल के केलांग में

27 किलोमीटर लंबी सुरंग का हिस्सा होगा यह स्टेशन नई दिल्लीः देश की राजधानी दिल्ली और बंगाल की राजधानी कोलकाता में कई मेट्रो [Read more...]

मुख्य समाचार

जब्त सामान की सुरक्षा को कड़ा करेगा सीमाशुल्क विभाग

लागू होगी इंटेलीजेंट की मैनेजमेंट सिस्टम और ई-मालखाना प्रणाली नयी दिल्लीः अपने अधिकारियों को कार्रवाई के दौरान जब्त की गयी मूल्यवान वस्तुओं [Read more...]

बेलूड़ मठ में कुमारी पूजा में उमड़ा श्रद्धा का सैलाब

स्वामी विवेकानंद ने की थी बेलूड़ मठ में कुमारी पूजन की शुरुआत हावड़ा/कोलकाताः हावड़ा के बेलूड़ मठ में कुमारी पूजा में बुधवार की [Read more...]

ऊपर