1 मई बीत गयी पर नहीं उतरीं कई लाल बत्तियां

कोलकाता : अकेले इमाम बरकती ही नहीं बल्कि अभी भी लाल बत्ती का खुमार कई नेताओं पर से उतरा नहीं है। 1 मई तो बीत गयी मगर रास्ते पर इतिहास वर्तमान में दिखाई देता नजर आ रहा है। केंद्र सरकार की ओर से वीआईपी कल्चर को खत्म करने के उद्देश्य से लाल बत्ती का इस्तेमाल नहीं करने का फैसला लिया गया है। यह निर्देश आते ही कई नेताओं ने पहले ही अपनी गाड़ी से लाल बत्तियां उतार दीं। वीआईपी की जगह ईपीआई (एवरी पर्सन इज इम्पोर्टेंट) को बढ़ावा देने पर जोर दिया गया।
खुद राज्य की सीएम ममता बनर्जी लाल बत्ती वाली गाड़ी इस्तेमाल नहीं करती हैं। उन्होंने स्वयं कहा है कि जब वह रेल मंत्री तथा सांसद थीं तब भी नहीं और अब वह सीएम हैं फिर भी लाल बत्ती को कभी नहीं जलायीं। लेकिन पश्चिम बंगाल में कई नेता व वरिष्ठ ओहदे के लोगों पर से लाल बत्ती का खुमार नहीं उतरा है। कुछ ने तो ऐसे लाल बत्ती को जकड़कर रखा है कि मानो उसके हटने से उनकी दुनिया ही सुनी हो जाएगी। उल्लेखनीय है कि अभी भी रास्ते में धड़ल्ले से लाल बत्ती की गाड़ियां सड़कों पर दौड़ती नजर आ रही है। लोगों के जेहन में भी इसे लेकर कई बातें हैं। वहीं कई कार्यक्रम तथा सरकारी कार्यालय के बाहर भी लाल बत्ती वाली गाड़ियां खड़ी नजर आ रही हैं। इस बारे में कुछ नेताओं का कहना है कि यह खबर आते ही लाल बत्ती उतार दी है अगर कुछ नहीं उतारे हैं तो यह उनकी मर्जी है।
सर्कुलर आते ही उतार देंगे लाल बत्ती
हावड़ा नगर निगम के मेयर डॉ. रथीन चक्रवर्ती ने कहा कि सरकार की तरफ से अभी तक कोई सर्कुलर नहीं मिला है। अगर सर्कुलर जारी होगा तो हम जरूर लाल बत्ती उतार देंगे। एक अन्य मंत्री ने कहा कि जैसे ही निर्देश मिलेगा हम उसका पालन करेंगे और गाड़ी से लाल बत्ती को हटा देंगे।
लाल बत्ती से संबंधित क्या आया है नया नियम
वीआईपी कल्चर पर अंकुश लगाने के उद्देश्य से मोदी सरकार ने अफसरों की गाड़ियों से लाल बत्ती हटाने का निर्णय लिया है। इनमें राष्ट्रपति, उप राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, केंद्रीय मंत्री,राज्यों के मुख्यमंत्री व मंत्री तथा सरकारी अफसरों के वाहन शामिल हैं।
ये कर सकेंगे नीली बत्ती का इस्तेमाल : अब केवल एंबुलेंस, फायर सर्विस जैसी आपात सेवाओं तथा पुलिस व सेना के अधिकारियों के वाहनों पर नीली बत्ती लगेगी। अभी हाल ही में केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि इस ऐतिहासिक निर्णय में कैबिनेट ने आपात सेवाओं को छोड़ सभी वाहनों से लाल बत्तियां हटाने का निश्चय किया है। इसके लिए संबंधित नियमों में संशोधन किय गया है।

लाल बत्ती को लेकर केंद्र सरकार को चिट्ठी
लाल बत्ती मामले पर राज्य सरकार केंद्र सरकार को चिट्ठी देगी। राज्य सरकार का कहना है कि बिना बताए यह फैसला लिया गया है। नवान्न सूत्रों के मुताबिक राज्य सरकार की सभी वाहनों से लाल बत्ती खोलने का मौखिक रूप से निर्देश दिया गया है।

अब हर वीआईपी होगा आम आदमी : रछपाल सिंह

केंद्र सरकार की ओर से अतिविशिष्ट (वीवीआईपी) व विशिष्ट (वीआईपी) संस्कृति को समाप्त करने के लिए वाहनों से लालबत्ती हटाने के आदेश मई से लागू हैं। इस पर डब्ल्यूबीटीसी के चेयरमैन व विधायक रक्षपाल सिंह ने कहा कि यह एक स्वागत योग्य कदम है। इससे हर आदमी वीआईपी होगा। हूटर के प्रयोग पर उन्होंने कहा कि हर जगह इसका उपयोग नहीं किया जा सकता है। ऐसे में यह नियम खास को आम बनाने में कारगर साबित होगा।

लाल बत्ती का इस्तेमाल करना मेरा अधिकार है: बरकती

केंद्र के लाल बत्ती के इस्तेमाल पर रोक के निर्णय को ठेंगा दिखाते हुए टीपू सुल्तान के शाही इमाम मौलाना नूर रहमान बरकती ने फिर कहा कि वह किसी आदेश की सीमा में नहीं आते हैं और एक धार्मिक गुरु होने के नाते लाल बत्ती का इस्तेमाल करना उनका अधिकार है। बरकती ने कहा, ‘मैं धार्मिक नेता हूं और पिछले कई दशकों से लाल बत्ती का इस्तेमाल कर रहा हूं। मैं केंद्र के आदेशों का अनुसरण नहीं करता हूं। वह कौन होते हैं मुझे आदेश देने वाले ? बंगाल में केवल राज्य सरकार के आदेश ही प्रभावकारी हो सकते हैं। मैं लाल बत्ती का इस्तेमाल करूंगा। बंगाल में किसी ने लाल बत्ती नहीं हटायी है।’ गुरुवार को इमाम बरकती को गिरफ्तार करने की मांग करते हुए प्रदेश भाजपा के महासचिव प्रताप बनर्जी ने कहा कि बरकती जिस प्रकार देश विरोधी बयानबाजी कर रहे हैं, उसके बावजूद पुलिस उन्हें गिरफ्तार क्यों नहीं कर रही, यह समझ से परे है। उन्होंने कहा कि सीएम के कहने पर ही वह बयानबाजी कर रहे हैं जिस कारण बरकती को गिरफ्तार नहीं किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि 25 मई को बरकती को गिरफ्तार करने की मांग के साथ लालबाजार घेराव किया जाएगा। इसके अलावा बरकती के संवाददाता सम्मेलन का वीडियो फुटेज केंद्र में गृह मंत्रालय व अमित शाह को भेज दिया गया है। इधर, बगैर हेलमेट के बाइक सवारी करने पर दर्ज हुए मामले को लेकर प्रदेश भाजपा की सचिव लॉकेट चटर्जी ने कहा कि अगर बरकती अपनी गाड़ी से लाल बत्ती हटा लेंगे तो फिर हम भी ट्रैफिक नियम उल्लंघन के मामले में जुर्माना देने को तैयार हैं।

 

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

सुषमा से मिल रो पड़े 6 साल बाद पाक से लौटने वाले हामिद

नई दिल्लीः पाकिस्तान की जेल में 6 साल कैद रहे हामिद निहाल अंसारी (33 वर्ष) ने बुधवार को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मुलाकात की। इस दौरान वे भावुक हो गए। हामिद के साथ उनके माता-पिता भी थे। उन्होंने बेटे [Read more...]

यूपी और बिहार के लोगों को ‘बाहरी’ बताने वाले कमलनाथ खुद बाहरी है : कैलाश विजयवर्गीय

नयी दिल्‍ली : मध्य प्रदेश में 15 साल बाद सत्‍ता में लौटी कांग्रेस पार्टी के मुख्‍यमंत्री कमलनाथ की जुबान आखिर फिसल ही गयी। उन्‍होंने बिहार और उत्‍तरप्रदेश के लोगों को बाहरी करार दिया। उनके इस विवादित बयान की चौतरफा आलोचना [Read more...]

मुख्य समाचार

एमएसएमई की मदद के लिए बनेंगे 20 प्रौद्योगिकी केंद्र

नयी दिल्लीः सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उपक्रमों (एमएसएमई) की मदद के लिए सरकार 20 अतिरिक्त प्रौद्योगिकी केंद्र स्थापित करेगी। एमएसएमई को आधुनिक प्रौद्योगिकियों तक पहुंच उपलब्ध कराने के अलावा ये केंद्र श्रमबल को कुशल बनाने तथा तकनीकी एवं कारोबारी सलाह [Read more...]

सुषमा से मिल रो पड़े 6 साल बाद पाक से लौटने वाले हामिद

नई दिल्लीः पाकिस्तान की जेल में 6 साल कैद रहे हामिद निहाल अंसारी (33 वर्ष) ने बुधवार को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मुलाकात की। इस दौरान वे भावुक हो गए। हामिद के साथ उनके माता-पिता भी थे। उन्होंने बेटे [Read more...]

ऊपर