रहस्य व खौफ को तलाशती हैं इनकी नजरें

कोलकाता : आत्मा, भूत-प्रेत का नाम सुनते ही जहां लोगों की रूह कांप उठती है। वहीं कुछ ऐसे भी लोग हैं जो इनकी तलाश में ही निकल पड़ते हैं। रहस्यमी दुनिया को तलाशने की ललक लिए यह खंडहर, जंगलों की ओर निकल पड़ते हैं। चेहरे पर ना कोई सिकन, ना भय। आत्मा और भूत-प्रेत व रहस्यमयी दुनिया जैसे सब्जेक्ट्स पर वैज्ञानिक अध्ययन के लिए महानगर में ‘डीटेक्टीव ऑफ सुपरनेच्युरल’ नामक संस्था काम कर रही है। बहुत कम समय के अंदर टीम डीओएस के सदस्यों ने राज्य के विभिन्न इलाकों में अपनी अत्याधुनिक यंत्रों के जरिए भूत व आत्मओं की उपस्थिति पायी है। खासतौर पर डाउहिल में तो डीओएस के सदस्यों को आत्माओं से जान का खतरा उत्पन्न हो गया था। भारत में भूत-प्रेत की कहानियां कई सालों से लोगों को रोमांचित करती आ रही हैं, लेकिन देश में कई ऐसी जगह भी हैं जहां कहानियां ही नहीं बल्कि हकीकत में भी भूत देखे जाते हैं। ऐसी एक दो ही नहीं बल्कि कई जगह हैं।
क्या हुआ था डाउहिल में ?
अगर इंटरनेट पर आप होंटेड प्लेस इन इंडिया टाइप कर सर्च करेंगे तो सबसे पहले कर्सियांग के डाउहिल का नाम सामने आएगा। डाउहिल में 500 मीटर लंबी एक ऐसी सड़क है जहां शाम होते ही भूत-प्रेत के डर से कोई जानवर तक नहीं गुजरता है। ऐसे में वहां की सच्चाई जानने के लिए टीम डीओएस वहां पहुंचा।
टीम डीओएस के देवराज सान्याल ने बताया कि वर्ष 2016 के जून महीने में वह अपने सदस्यों के साथ डाउहिल पहुंचे। उन्होंने सुनिश्चित किया था कि वे लोग 5 दिनों तक उक्त भूतहा रास्ते पर रात 8 बजे से आधी रात तक रहेंगे। साथ में अपने अत्याधुनिक यंत्रों व कैमरे के साथ देवराज डाउहिल पहुंचे लेकिन देर रात 3 बजे से ज्यादा समय तक वे लोग वहां पर नहीं टिक पाए।
अचानक उनके यंत्रों में मैग्नेटिक फील्ड में वृद्धि देखी गयी। साथ ही आसपास कोई मोबाइल टॉवर नहीं था तब भी मैग्नेटिक फील्ड ज्यादा देख उन्हें लगा कि आसपास कोई आत्मा मौजूद है।
इस बीच अचानक जैकेट पहने हुए टीएम डीओएस के सदस्य शुभोजीत के पीठ पर किसी ने खरोंच लगा दी। देवराज ने बताया कि इस दौरान अचानक गिरने से शुभोजीत का हाथ भी दब गया जबकि वहां आसपास में न कोई पेड़ था  न कुछ और। ऐसे में शुभोजीत को लगा था कि किसी ने उसे पीछे से धक्का मारा, लेकिन मुड़कर देखने पर पीछे कोई भी नहीं था। इस घटना से भयभीत टीम डीओएस डाउहिल से पास लौट आयी।
जब आत्मा ने 4 दोस्तों के जीवन में लाया अंधेरा
टीम डीओएस के संस्थापक सदस्य देवराज ने बताया कि महानगर कोलकाता के कसबा इलाके में एक आत्मा ने 4 दोस्तों के जीवन में अंधेरा ला दिया। देवराज ने बताया कि कसबा के राजडांगा मेन रोड में रहनेवाले अभिजीत व उनके 3 दोस्तों ने एक साथ मिलकर एक बैंड शुरू किया। जिस घर में उन्होंने बैंड शुरू किया वहां, आए दिन कुछ अजीब घटना घटती थी। इस बीच अचानक उनका बैंड बंद हो गया और उनकी जिंदगी में परेशानियों का अंबार लग गया। ऐसे में उक्त बैंड की सच्चाई जानने के लिए टीम डीओएस उक्त कमरे में पहुंची जहां वे लोग बैंड की प्रैक्टिस करते थे। वहां पर जांच करने के दौरान उन्होंने पाया कि अचानक मैग्नेटिक फिल्ड बढ़ गया और साथ ही कमरे का तापमान भी बढ़ गया। इसके अलावा ड्रम स्टिक अचानक गिरने लगे। ऐसे में उन्हें अहसास हुआ कि वहां पर कोई आत्मा मौजूद है ।
आत्माओं को पकड़ने के लिए इस्तेमाल होने वाले यंत्र
1. ईएमएफ- आसपास के एनर्जी फिल्ड में कोई परिवर्तन होने पर ईएमएफ डिटेक्टर के पकड़ में आ जाएगा।
2. ईवीपी साउंड रिकॉर्डर- ऐसा कोई आवाज जो मनुष्य को सुनायी नहीं देता है, वह सभी आवाज ईवीपी साउड रिकॉर्डर में रिकॉर्ड हो जाता है। इन्फ्रा व अल्ट्रा फ्रिक्वेंसी साउंड भी ईवीपी रिकॉर्डर में कैद हो जाता है।
3. एक्सटर्नल व इंफ्रारेड थर्मामीटर- किसी कमरे व जगह की गर्म व ठंड तापमान मापने के लिए एक्सटर्नल एवं इंफ्रारेड थर्मामीटर को काम में लाया जाता है। टीम डीओएस के अनुसार जब कोई आत्मा आसपास एनर्जी संग्रह करती है तो वहां की तापमान अचानक गिर जाती है। यह यंत्र इसे समझाने में मदद करती है।   4. पाउडर : कोई आत्मा अगर किसी कमरे के अंदर टहल रही है या नहीं उसे पता करने में पाउडर मदद करती है। अगर कोई आत्मा कमरे में मूव करती है तो पाउडर एक जगह से दूसरे जगह पर चली जाती है।
कौन-कौन है टीम डीओएस में
टीम डीओएस में कुल 5 सदस्य हैं। इनमें से मुख्य देवराज सान्याल हैं। इनके अलावा टीम में सुमन मित्रा, इशिता दास, शुभोजित साहा, अनिंदम घोषाल एवं मेघा सिन्हा शामिल हैं।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

स्वार्थी दुनिया में वफादारी की मिसाल है मेडिसन

सैन फ्रांसिस्को : उत्तरी कैलिफोर्निया के जंगलों में भीषण आग लगने के करीब एक महीने बाद एक हैरान कर देने वाला वाकया सामने आया है जिसमें आग में सबकुछ राख होने के बावजूद एक कुत्ता अपने क्षतिग्रस्त घर की रखवाली [Read more...]

माल्या के प्रत्यर्पण की सुनवाई के लिए सीबीआई टीम लंदन रवाना

नई दिल्ली : शराब कारोबारी विजय माल्या के प्रत्यर्पण की मामले में सीबीआई के संयुक्त निदेशक एस साईं मनोहर के नेतृत्व में अधिकारियों की टीम रविवार को लंदन रवाना हुई। इस मामले के सुनवाई सोमवार को लंदन में वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट [Read more...]

मुख्य समाचार

मुकेश अंबानी की बेटी के वैवाहिक कार्यक्रम में पहुंचीं नामी गिरामी हस्तियां

हॉलीवुड सिंगर बियोंसे सहित अन्य ने अपनी प्रस्तुतियां दीं उदयपुर : देश के प्रमुख उद्योगपति मुकेश अंबानी की बेटी ईशा के वैवाहिक कार्यक्रम में शामिल लेने के लिए देश दुनिया की प्रमुख हस्तियों रविवार को उदयपुर पहुंचीं। हॉलीवुड सिंगर बियोंसे सहित [Read more...]

भारत ने सत्तर के दशक में पूर्ण कंप्यूटरीकृत कर प्रणाली का मौका गंवाया

‘द टाटा ग्रुपः फ्रॉम टार्चबियरर्स टु ट्रेलब्लेजर्स’ में दावा नयी दिल्लीः सत्तर के दशक के आखिर में पूर्ण कंप्यूटरीकृत कर प्रशासन प्रणाली [Read more...]

ऊपर