मोदी सरकार बेसलेस-ममता

पीएम के घर के सामने धरना देने की चेतावनी

एजेंसियों से दिखाया जा रहा है डर

सन्मार्ग संवाददाता

कोलकाता : मोदी सरकार बेसलेस है। यह फेसलेस और कैशलेस दोनों है। यह कहना है मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का। नोटबंदी के खिलाफ सोमवार को सड़क पर लगभग 5 किमी. पैदल चलीं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने जनता से मोदी जी को राजनीति से उखाड़ फेंकने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि मैं मरूं या जीऊं उन्हें सत्ता से हटाकर रहूंगी। हमारे देश को ऐसे डिक्टेटर की जरूरत नहीं है जो केवल मनमानी करता है। मोदी जी देश को रसातल में पहुंचाकर स्वयं चैन से सो रहे हैं। जो भी इसका विरोध करता है उसे एजेंसियों का डर दिखाया जाता है। मैं डरने वाली नहीं हूं। सीएम ने पीएम को चेतावनी देते हुए कहा कि वे अविलंब अपने फैसले को वापस लें व आर्थिक स्थिति को सुधारें वरना इस बार जरूरत पड़ी तो मैं जंतर – मंतर में नहीं बल्कि पीएम के घर के सामने धरना दूंगी।

आज देश का एक ही नारा है – मोदी जी, तानाशाही नहीं चलेगी।

तृणमूल कांग्रेस की प्रतिवाद रैली दोपहर 12 बजे से कालेज स्क्वायर से निकली, जिसका नेतृत्व पार्टी सुप्रीमो ममता बनर्जी ने किया। यह रैली हिंद सिनेमा, गणेश चंद्र एवेन्यू, सी.आर. एवेन्यू होते हुए धर्मतल्ला जाकर खत्म हुई। रैली के दौरान सीएम ने स्वयं माइक से हिंदी में मोदी जी तानाशाही नहीं चलेगी नहीं चलेगी के नारे लगाये। उन्होंने जनता को भी बताया कि आखिर क्यों आज सड़क पर उतरना पड़ा है।

नोटबंदी से 80 लोग मारे गये

सीएम ने कहा कि देश के विभिन्न हिस्सों में नोटबंदी के कारण करीब 80 से अधिक लोग मारे गये हैं। देश को बर्बाद करने का अधिकार किसी को नहीं है। सिंगुर आंदोलन के समय भी बहुत ने बहुत कुछ कहा था लेकिन जनता के हित के लिए लड़ाई जारी रखी थी। उसी प्रकार एक बार फिर कहती हूं कि जब तक स्थिति सामान्य नहीं हो जाती है तब तक आंदोलन जारी रहेगा।

देश रो रहा है और मोदीजी हंस रहे हैं

केंद्र पर एक के बाद एक तोप दागते हुए सीएम ने कहा कि कोई भी फैसला लेने से पहले एक प्लानिंग करनी पड़ती है मगर केंद्र सरकार ने ऐसा कुछ नहीं किया और अभी जनता भुगत रही है। उन्होंने कहा कि अगर बैंक और एटीएम में नाेट उपलब्ध होता तो हमें क्या आपत्ति हो सकती है, मगर सुबह से बैंकों और एटीएम में लाइन देने के बाद 4 बजे ही कहा जाता है कि रुपये खत्म हो गये हैं। जनता अब पेटीएम को पे पीएम कह रही है, न जाने देश में ये सब क्या हो रहा है। किसान, श्रमिक, हॉकर्स, दुकानदार सभी की स्थिति बहुत ही खराब है। वे अपनी आर्थिक स्थिति पर रो रहे हैं और मोदी जी मजे से हंस रहे हैं।

मोदीजी को लग रहा है वे भगवान हो गये

आज चारों ओर हाहाकार मचा हुआ है। पूरी पृथ्वी में इस तरह के फैसले नहीं लिए गये हैं। अचानक ही मोदीजी को लग रहा है कि वे भगवान हो गये। बिना सोचे – समझे केवल अपनी मर्जी का काम कर रहे हैं। हिटलर ने भी कभी ऐसा नहीं किया होगा। बाजार, सिनेमा, संगीत, सब बंद हो गया है। पहली बार बुद्धिजीवी रास्ते पर उतरे हैं। मैं सभी को आह्वान करती हूं कि रास्ते पर उतरकर विरोध करें। ये केवल तृणमूल का आंदोलन नहीं बल्कि जनता का आंदाेलन है।

वेतन के लिए कैश कहां से आएगा

मोदी पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा कि पिछली बार 8 तारीख तक सभी को वेतन मिल गया था, इस बार क्या होगा आपने सोचा है मोदीजी। चेक में पेमेंट के बाद भी कैश कहां से आएगा। 4 बजे ही बैंक बंद हो जाते हैं और कैस खत्म हो जाता है। उन्होंने टिप्पणी करते हुए कहा कि कैश लेस और फेस लेस हो गये हैं हमारे देश के एक लीडर।

देश को आपने बेच दिया

ममता बनर्जी ने कहा कि आप (मोदी जी) केवल स्वयं को सादा समझ रहे हैं और पूरे देश को काला। देश की 86 प्रतिशत आम जनता के पास ब्लैकमनी है ? उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि आने वाले दिनों में यह साबित हो जाएगा कि मोदी जी ने देश को बिक्री कर दिया है।

मोदी के इशारों पर चलना पड़ेगा

सीएम ने कहा कि लोगों ने मेहनत से अपना धन संचय किया है। टैक्स भरते हैं मगर खुद का पैसे का इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं। बैंक से नहीं निकाल सकते हैं। मोदी जी कहते हैं कि दिखा दूंगा, आप क्या दिखा देंगे मोदी जी, एक दिन आएगा जब जनता के घर – बाड़ी, जमीन, जेवरात सब ले लिये जाएंगे। किस रास्ते पर चलना है यह भी मोदीजी ही फैसला लेंगे।

वाममोर्चा को दी नसीहत

सीएम ने लगे हाथों वाममोर्चा को भी नसीहत दी। उन्होंने कहा कि केवल घर में बैठकर बंद – बंद कहने से नहीं होता है। माकपा दोस्तों से कहना चाहूंगी कि रास्ते पर उतरिए। रैली – सभा कीजिए। थोड़ी मेहनत कीजिए। सिर्फ घर में बैठने से कुछ नहीं होता है। आज भी मैं खुद को नेता नहीं कर्मी मानती हूं। बंद को बेअसर करने के लिए जनता को धन्यवाद देती हूं।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

महापर्व : सूर्य को अर्घ्य देने हजारों श्रद्धालु पहुंचे बाबूघाट व छोटेलाल घाट

घाटों पर दिखा मिनी बिहार जैसा नजारा कोलकाता : दुर्गापूजा और कालीपूजा के बाद बड़े पैमाने पर मनाएं जाने वाला पर्व हैं महाछठ। इस खास मौके पर कोलकाता के छोटे-बड़े लगभग सभी घाटों में भारी संख्या में छठव्रतियों ने अस्तचलगामी सूर्य [Read more...]

ममता ने छठ घाट पर सूर्य देवता की उपासना की

बिहारी, यूपी व राजस्थान के लोगों से सीएम ने कहा - बंगाल आपका घर है कोलकाता : आस्था का महापर्व छठ पूजा में हर साल की तरह इस साल भी राज्य की सीएम ममता बनर्जी गंगा घाट पर पहुंचीं और भगवान [Read more...]

मुख्य समाचार

महापर्व : सूर्य को अर्घ्य देने हजारों श्रद्धालु पहुंचे बाबूघाट व छोटेलाल घाट

घाटों पर दिखा मिनी बिहार जैसा नजारा कोलकाता : दुर्गापूजा और कालीपूजा के बाद बड़े पैमाने पर मनाएं जाने वाला पर्व हैं महाछठ। इस खास मौके पर कोलकाता के छोटे-बड़े लगभग सभी घाटों में भारी संख्या में छठव्रतियों ने अस्तचलगामी सूर्य [Read more...]

ममता ने छठ घाट पर सूर्य देवता की उपासना की

बिहारी, यूपी व राजस्थान के लोगों से सीएम ने कहा - बंगाल आपका घर है कोलकाता : आस्था का महापर्व छठ पूजा में हर साल की तरह इस साल भी राज्य की सीएम ममता बनर्जी गंगा घाट पर पहुंचीं और भगवान [Read more...]

ऊपर