ममता फिर बनीं तृणमूल सुप्रीमो

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : जैसी कि उम्मीद थी। ममता बनर्जी फिर एक बार पार्टी की सुप्रीमो चुन ली गयीं। इसकी औपचारिक घोषणा मुकुल राय ने की। ममता बनर्जी ने नेता व समर्थकों को संबो​धित करते हुए कहा कि हमारा लक्ष्य देशभर में तृणमूल का झण्डा लहराना है। इसके लिए सभी नेता व समर्थकों को एकजुट होकर काम करना होगा। अपने इस लक्ष्य को पूरा करने के लिए अगला 2 वर्ष हमारे लिए चुनौतीपूर्ण है। पार्टी के नेता व कर्मियों को एकजुट होकर भाजपा के खिलाफ खड़े होना होगा। ममता बनर्जी ने कहा कि हमारी पार्टी नोटबंदी के नाम पर बैठती नहीं बल्कि खुद के फंड से पार्टी चलाती है। इसमें बहुत सी समस्याएं भी सामने आती हैं बावजूद इसके पार्टी के कार्यों में कहीं कोई बाधा नहीं दी जाती है। पार्टी अध्यक्ष के तौर पर अपने चयन के बाद ममता ने कहा कि मेरी जगह अन्य व्यक्ति को यह जिम्मेदारी दी जाती तो बेहतर होता क्योंकि मैं अन्य कार्यों में व्यस्त हूं। मैं एक कार्यकर्ता बने रहना पसंद करूंगी क्योंकि कार्यकर्ता ही पार्टी की निधि होते हैं ना कि नेता।
देश के अन्य राज्यों से आये पार्टी के प्रतिनिधियों की सराहना करते हुए ममता ने कहा कि इसी उत्साह के साथ आगे भी काम करते रहें। पंजाब में पार्टी लोकसभा चुनाव लड़ेगी। त्रिपुरा में जीत को लेकर पार्टी पूरी तरह आश्वस्त है। उत्तर प्रदेश और पंजाब की जिम्मेदारी मुकुल राय को दी गयी है।
अरुणाचल व मणिपुर के लिए डेरेक ओब्रायन, त्रिपुरा के लिए सुब्रत बख्शी व अभिषेक बंद्योपाध्याय के साथ सहयोगी के तौर पर मुकुल राय, झारखण्ड में जितेंद्र तिवारी, ओडिशा में मानस भुइयां व अन्य राज्यों में सभी को मिल जुलकर कार्य करने का ममता बनर्जी ने निर्देश दिया है।   ममता ने पार्टी कर्मियों को संबोधित करते हुए कहा ​कि तृणमूल का टार्गेट भाजपा को दिल्ली से हटाना है। भाजपा भंग की राजनीति करती है जिसका जवाब उसे देना होगा। इसके लिए उत्तर प्रदेश, बिहार, असम, त्रिपुरा, अरुणाचल, मणिपुर, पंजाब, ओडिशा समेत देशभर के राज्यों में तृणमूल पार्टी का प्रसार-प्रचार करेंगी।  ममता बनर्जी ने पार्टी नेता व कर्मियों को ब्लॉक स्तर पर ज्यादा लोगों से मेलजोल बढ़ाने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि जरूरत पड़े तो रातभर जाग कर पहरेदारी करें ताकि भाजपा द्वारा जहां भी दंगा करने की कोशिश की जा रही है उसे रोका जा सके। उन्होंने कहा ​कि धर्म शांति चाहता है मगर भाजपा धर्म के नाम पर हिन्दुत्व को कलंकित कर रही है। इसके खिलाफ तृणमूल को डट कर मुकाबला करना होगा। साथ ही वाममोर्चा पर भी नजर रखनी होगी ताकि उसका वोट भाजपा की तरफ ना जाये। ममता ने कहा ​कि पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान आरएसएस व बजरंग दल के कई लोग गुजरात से यहां लाये गये थे। आने वाले चुनाव के दौरान भी ऐसा ना हो इसका पूरा ध्यान रखा जाय। खासकर अन्य राज्याें से कौन आ रहा है इस पर निगरानी रखें। अगर किसी को शक होता है तो वह स्थानीय पुलिस या खुद कागज पर लिखकर कालीघाट स्थित मेरे आवास पर यह जानकारी दे सकता है।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

साईं के दरबार में शिल्पा ने चढ़ाया लाखों का मुकुट

मुंबई : दुनिया के अमीर भगवानों में गिने जाने वाले शिरडी के साईंबाबा के दरबार में दूर-दूर से लोग मुराद पूरी होने पर चढ़ावा चढ़ाने आते हैं। शुक्रवार को बॉलीवुड अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी भी बाबा के दरबार में पहुंची। उन्होंने [Read more...]

तीन महीने तक भारत नहीं आ सकता : चोकसी

मुंबई : पंजाब नेशनल बैंक में हुए घोटाले के मुख्य आरोपी मेहुल चोकसी ने कहा है कि वह तीन महीने तक भारत नहीं आ सकते हैं। आपको बता दें कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कोर्ट से चोकसी को भगोड़ा आर्थिक [Read more...]

मुख्य समाचार

सरकारी अस्पताल में पहला हृदय प्रत्यारोपण

कोलकाता मेडिकल कॉलेज व अस्पताल के डॉक्टरों ने की सफल सर्जरी कोलकाताः कोलकाता मेडिकल कॉलेज व अस्पताल ने देश में पहले किसी भी [Read more...]

हिन्दी पर हुई बात, तो रुकी हर धड़कन…

हिन्दी के पक्ष व विपक्ष में बोले दिग्गज ‘हिंदी ने देश को बांधा कम, बांटा अधिक’ विषय पर वाद-विवाद 2018 का आयोजन [Read more...]

ऊपर