भारत पर कायरों का सर्जिकल स्ट्राइक

आईएसआई और माले मिलकर अंजाम दे रहे हैं रेल दुर्घटनाओं को

कोलकाता : विगत दो महीनों से देश के विभिन्न भागों में ट्रेन दुर्घटनाएं हो रही हैं, जिसमें समग्र रूप से सैकड़ों लोग मारे गये और आहत हुए तथा करोड़ों रुपये की राष्ट्रीय संपदा का विनाश हुआ। इसके अलावा देश की सबसे बड़ी परिवहन व्यवस्था पर अविश्वास बढ़ता गया। इन घटनाओं की गंभीर जांच के बाद पाया गया कि सबकी ‘कार्यविधि (मोडस ऑपरेंडी)’ समान है- पटरियों को तोड़ना या बाधित करना। इनमें एक संबंध यह भी है कि सारी घटनाएं रात के दूसरे अथवा तीसरे पहर में हुई हैं। नवंबर के अंत में कानपुर के पास जो हादसा हुआ और शनिवार की रात विजयनगरम् के समीप हीराखंड एक्सप्रेस की जो घटना हुई, उनमें और इसके अलावा चम्पारण के घोड़ासहन में पटरी उड़ाने में नाकामयाबी और सीतामढ़ी में रविवार की रात पटरी पर सीमेंट के स्लीपर रखकर उसे बाधित करने की कोशिश करते हुए एक व्यक्ति को देखे जाने से सारी घटनाओं के तार आपस में जुड़ते दिखते हैं। पिछली दो घटनाओं में पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के हाथ होने की बात सामने आयी थी पर इनसे उनकी पुष्टि हो गयी। नेपाल और दुबई में पल रहे आईएसआई के एजेंटों द्वारा इसे पाकिस्तान पर भारत के सर्जिकल स्ट्राइक के तौर पर प्रचारित किया जा रहा है। नेपाल सरकार के उच्च पदस्थ सूत्रों के मुताबिक भारत-नेपाल के तनावपूर्ण होते संबंधों का लाभ उठाकर ये तत्व भारतीय सीमा के गांवों में अपने अड्डे बना रहे हैं और उन्हीं इलाकों में सक्रिय हैं, जहां माले अथवा कहें सीपीआई (एमएल) के लोग सक्रिय हैं। भारत के बहुप्रचारित सर्जिकल स्ट्राइक के बाद यह तय किया गया और इसका इंचार्ज आईएसआई के मेजर रैंक के अफसर मुनीर अकरम को बनाया गया है।
सूत्रों के मुताबिक मेजर अकरम नेपाल में पाकिस्तानी दूतावास में काम कर चुका है। वह यहां सन् 2013-14 में पाकिस्तानी दूतावास में क्रीड़ा एवं शिक्षा सचिव हुआ करता था। सर्जिकल स्ट्राइक के बाद वह नेपाल आया था तथा पोखरा के एक बड़े होटल में बैठक के दौरान कथित तौर यह रणनीति तय हुई। इसके लिए चार लोगों की टीम बनायी गयी, जो माले के कई नेताओं की मदद से भारत में तोड़फोड़ को अंजाम देगी। सूत्रों के मुताबिक इसके लिए धन दुबई के पाकिस्तानी स्रोत देंगे। हर घटना के वक्त उसे अंजाम देने वालों में से प्रत्येक को एक-एक लाख रुपये दिया जाना तय हुआ है। चूंकि इसके पीछे माले के कैडर हैं अतएव उनके प्रभाव क्षेत्र में काम होने की पूरी गारंटी है। रेल लाइन काटकर या लाइन पर बाधा डालकर ट्रेन को पटरी से गिराने की यह माले की बहुत पुरानी तकनीक है। अगर एनआईए की मानें तो कानपुर वाली घटना तथा हीराखंड एक्सप्रेस की घटना के कारण एकदम समान हैं। दोनों जगहों पर एक ही तकनीक से रेल लाइन काटी गयी है। पटरी काटने के कोण और आकार भी समान हैं। पूर्वी चंपारण में जो तीन लोग गिरफ्तार किये गये हैं, उन्होंने भी कानपुर की घटना में हाथ होना स्वीकार किया है और पुलिस के अनुसार वे माले के लिए काम करते थे और अरसे से अंडरग्राउंड थे। इनके संबंध नेपाल के ब्रजेश गिरि से हैं और वह मेजर अकरम के लिए पहले भी काम कर चुका है। वैसे सुरक्षा क्षेत्रों में चर्चा है कि इन घटनाओं को अंजाम देने के लिए कुख्यात डॉन दाऊद इब्राहिम धन दे रहा है पर इसके अभी सबूत नहीं मिले हैं। दुबई में बांग्लादेशी मूल के नेपाली नागरिक एक व्यवसायी अब्दुल जकी के दाऊद से रिश्ते के कारण भी दाऊद का नाम सामने आ रहा है। जकी और अकरम के ताल्लुकात बहुत पुराने हैं और सम्भवत: इसलिए यह चर्चा है। पर ऐसा होना संभव भी है। याद होगा सन् 2013 में रक्सौल के समीप ही इंडियन मुजाहिदीन के प्रमुख यासीन भटकल को गिरफ्तार किया गया था।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

जोकोविच एटीपी फाइनल्स के खिताबी मुकाबले में ज्वेरेव से भिड़ेंगे

ज्वेरेव ने फेडरर को चौकाया लंदनः नोवाक जोकोविच एकतरफा मुकाबले में केविन एंडरसन को हराकर शनिवार को एटीपी फाइनल्स टेनिस टूर्नामेंट के खिताबी मुकाबले में जगह बनाने में सफल रहे जहां उनका [Read more...]

रवि कुमार को अंडर-23 विश्व चैंपियनशिप में रजत

4-0 से जापानी पहलवान से हारे रवि नई दिल्लीः भारत के रवि कुमार को फाइनल में जापान के तोशिहिरो हासेगावा से हारने के कारण अंडर-23 विश्व पुरुष [Read more...]

मुख्य समाचार

जोकोविच एटीपी फाइनल्स के खिताबी मुकाबले में ज्वेरेव से भिड़ेंगे

ज्वेरेव ने फेडरर को चौकाया लंदनः नोवाक जोकोविच एकतरफा मुकाबले में केविन एंडरसन को हराकर शनिवार को एटीपी फाइनल्स टेनिस टूर्नामेंट के खिताबी मुकाबले में जगह बनाने में सफल रहे जहां उनका [Read more...]

रवि कुमार को अंडर-23 विश्व चैंपियनशिप में रजत

4-0 से जापानी पहलवान से हारे रवि नई दिल्लीः भारत के रवि कुमार को फाइनल में जापान के तोशिहिरो हासेगावा से हारने के कारण अंडर-23 विश्व पुरुष [Read more...]

ऊपर