बाबुल सुप्रियो ने किया गंगा के नीचे टनल का परिदर्शन

हावड़ा/कोलकाता : सोमवार को केंद्रीय राज्य मंत्री बाबुल सुप्रियो हावड़ा मैदान में ईस्टवेस्ट मेट्रो परियोजना का काम देखने के लिए पहुंचे। इसके बाद उन्होंने केएमआरसीएल में संवाददाता सम्मेलन को संबोंधित किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि हावड़ा मैदान से दो टनल बोरिंग मशीनें सोमवार को गंगा नदी में जायेंगी। पूर्व भारत में पहली बार गंगा के नीचे से मेट्रो के लिए ट्यून टनल बोरिंग मशीन काम कर रही है। हावड़ा मैदान जैसे भीड़भाड़ वाले इलाके में मिट्टी खोदकर मेट्रो का निर्माण करना सराहनीय है। उन्होंने कहा कि हावड़ा मैदान से महाकरण तक मेट्रो लाने में कुछ परेशानी हो रही है। क्योंकि वहां हेरिटेज इमारतें हैं और कांग्रेस के जमाने में ऑर्कलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया के नियम के तहत उन इमारतों के 100 मीटर के आसपास किसी प्रकार की मरम्मत नहीं की जा सकती है। इसे लेकर वह दिल्ली में मंत्री महेश शर्मा से इस बारें में जिक्र करेंगे। हालांकि इस विषय में खड़गपुर के आईआईटी इंजीनियरों ने कहा कि मिट्टी खुदाई के काम से इमारत को किसी प्रकार की कोई हानि नहीं पहुंचेगी। उक्त परियोजनाओं में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था, परियोजना के पहले फेज में बननेवाले सियालदह से सॉल्टलेक सेक्टर 5 के मेट्रो परियोजना के लिए दत्ताबाद की जमीन में अतिक्रमण की समस्या आ रही थी। इसे लेकर 356 मीटर का काम अधूरा पड़ा लेकिन झालमुड़ी खाते-खाते उन्होंने राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से बात की थी। उन्होंने पूरा सहयोग देते हुए उक्त समस्या का समाधान किया। साल 2015 में पुनर्वासन के लिए इमारत बननी शुरू हुई थी। उसका काम भी पूरा हाे गया है। उन्होंने कहा कि यह पूरी तरह से केंद्र सरकार की परियोजना है। पहले इसका बजट 4900 करोड़ था लेकिन अभी यह बजट बढ़कर 8900 करोड़ रुपये हो गया। वहीं हावड़ा टनल में जाने का अनुभव को बांटते हुए उन्होंने कहा कि 820 वे स्लेव जाकर वहां उन्होंने विदेशी इंजीनियरों से बातचीत की और साथ ही उनकी मेहनत को सलाम किया।
उन्होंने कहा कि पहले फेज का काम आगामी 2018 में खत्म हो जायेगा जबकि द्वितीय फेज का काम पूरा होने में समय लगेगा। टनल के दौरे के समय विदेशी इंजीनियर ने उन्हें गंगा के नीचे की मिट्टी निकालकर बाबुल को दी। उन्होंने कहा कि मिट्टी का कुछ हिस्सा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देंगे। इस मौके पर केएमआरसीएल के अधिकारी मौजूद थे।

बाबुल सुप्रियो द्वारा बतायी गयी परियोजना की खास बातें

–    साल 2017-18 में परियोजना के लिए दिये गये 1937 करोड़
–    साल 2018 में पूरा हो जायेगा साल्टलेक से सियालदह मेट्रो परियोजना का काम
–    मेट्रो में इस्तेमाल की जायेगी आधुनिक तकनीक
–    मेट्रो के लिए बीएमएल बंगलुरू द्वारा तैयार किये जा रहे हैं 84 एसी कोच
–    प्लेटफार्म स्क्रीन से आयेगी दुर्घटनाओं में कमी
–    साल 2018 जून तक फूलबागान तक ऑपरेशन होगा पूरा

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

इटली के उद्योगपतियों को बंगाल में निवेश का दिया न्योता

इटली और भारत को बताया स्वीट सिस्टर्स इटली : बंगाल में निवेश का माहौल है। सरकार निवेशकों को हर सुविधा देने के लिए तत्पर है। आइए और बंगाल में निवेश कीजिए यहां आपकाे अवसर मिलेगा। इटली के मिलान में आयोजित मिलान [Read more...]

गम में डूबा व गुस्से उबल रहा है इस्लामपुर

भाजपा ने दिया मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रु. इस्लामपुर : अपने इलाके दो छात्रों को गोलियों से मरते हुए देख इस्लामपुर गम और गुस्से में उबल रहा है। प्रशासन के खिलाफ लोगों का जबर्दस्त गुस्सा है। इसका कोपभाजन सत्ताधारी [Read more...]

मुख्य समाचार

इटली के उद्योगपतियों को बंगाल में निवेश का दिया न्योता

इटली और भारत को बताया स्वीट सिस्टर्स इटली : बंगाल में निवेश का माहौल है। सरकार निवेशकों को हर सुविधा देने के लिए तत्पर है। आइए और बंगाल में निवेश कीजिए यहां आपकाे अवसर मिलेगा। इटली के मिलान में आयोजित मिलान [Read more...]

मैं भारत से प्यार करता हूं : ट्रंप

संयुक्त राष्ट्र : विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को संयुक्त राष्ट्र में एक उच्च स्तरीय कार्यक्रम के दौरान एक दूसरे का कुशल क्षेम पूछा। मादक पदार्थों के प्रतिरोध पर इस कार्यक्रम की अध्यक्षता अमेरिकी [Read more...]

ऊपर