बाबुल सुप्रियो ने किया गंगा के नीचे टनल का परिदर्शन

हावड़ा/कोलकाता : सोमवार को केंद्रीय राज्य मंत्री बाबुल सुप्रियो हावड़ा मैदान में ईस्टवेस्ट मेट्रो परियोजना का काम देखने के लिए पहुंचे। इसके बाद उन्होंने केएमआरसीएल में संवाददाता सम्मेलन को संबोंधित किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि हावड़ा मैदान से दो टनल बोरिंग मशीनें सोमवार को गंगा नदी में जायेंगी। पूर्व भारत में पहली बार गंगा के नीचे से मेट्रो के लिए ट्यून टनल बोरिंग मशीन काम कर रही है। हावड़ा मैदान जैसे भीड़भाड़ वाले इलाके में मिट्टी खोदकर मेट्रो का निर्माण करना सराहनीय है। उन्होंने कहा कि हावड़ा मैदान से महाकरण तक मेट्रो लाने में कुछ परेशानी हो रही है। क्योंकि वहां हेरिटेज इमारतें हैं और कांग्रेस के जमाने में ऑर्कलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया के नियम के तहत उन इमारतों के 100 मीटर के आसपास किसी प्रकार की मरम्मत नहीं की जा सकती है। इसे लेकर वह दिल्ली में मंत्री महेश शर्मा से इस बारें में जिक्र करेंगे। हालांकि इस विषय में खड़गपुर के आईआईटी इंजीनियरों ने कहा कि मिट्टी खुदाई के काम से इमारत को किसी प्रकार की कोई हानि नहीं पहुंचेगी। उक्त परियोजनाओं में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था, परियोजना के पहले फेज में बननेवाले सियालदह से सॉल्टलेक सेक्टर 5 के मेट्रो परियोजना के लिए दत्ताबाद की जमीन में अतिक्रमण की समस्या आ रही थी। इसे लेकर 356 मीटर का काम अधूरा पड़ा लेकिन झालमुड़ी खाते-खाते उन्होंने राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से बात की थी। उन्होंने पूरा सहयोग देते हुए उक्त समस्या का समाधान किया। साल 2015 में पुनर्वासन के लिए इमारत बननी शुरू हुई थी। उसका काम भी पूरा हाे गया है। उन्होंने कहा कि यह पूरी तरह से केंद्र सरकार की परियोजना है। पहले इसका बजट 4900 करोड़ था लेकिन अभी यह बजट बढ़कर 8900 करोड़ रुपये हो गया। वहीं हावड़ा टनल में जाने का अनुभव को बांटते हुए उन्होंने कहा कि 820 वे स्लेव जाकर वहां उन्होंने विदेशी इंजीनियरों से बातचीत की और साथ ही उनकी मेहनत को सलाम किया।
उन्होंने कहा कि पहले फेज का काम आगामी 2018 में खत्म हो जायेगा जबकि द्वितीय फेज का काम पूरा होने में समय लगेगा। टनल के दौरे के समय विदेशी इंजीनियर ने उन्हें गंगा के नीचे की मिट्टी निकालकर बाबुल को दी। उन्होंने कहा कि मिट्टी का कुछ हिस्सा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देंगे। इस मौके पर केएमआरसीएल के अधिकारी मौजूद थे।

बाबुल सुप्रियो द्वारा बतायी गयी परियोजना की खास बातें

–    साल 2017-18 में परियोजना के लिए दिये गये 1937 करोड़
–    साल 2018 में पूरा हो जायेगा साल्टलेक से सियालदह मेट्रो परियोजना का काम
–    मेट्रो में इस्तेमाल की जायेगी आधुनिक तकनीक
–    मेट्रो के लिए बीएमएल बंगलुरू द्वारा तैयार किये जा रहे हैं 84 एसी कोच
–    प्लेटफार्म स्क्रीन से आयेगी दुर्घटनाओं में कमी
–    साल 2018 जून तक फूलबागान तक ऑपरेशन होगा पूरा

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

भाजपा इतिहास, नाम या नोट बदल सकती है गेम नहीं : ममता

कहा : देश बचाने में तृणमूल की होगी महत्वपूर्ण भूमिका ब्रिगेड की सभा को बताया लोकसभा के लिए टर्निंग प्वाइंट सन्मार्ग संवाददाता [Read more...]

बाल समझ बम से खेलते वक्त विस्फोट, बच्चे का हाथ उड़ा, 3 घायल

घटनास्थल से 20 बम बरामद कूचबिहारः कूचबिहार के दिनहाटा थानांतर्गत गोसानीमारी में शुक्रवार सुबह बम को बाल समझकर खेलते वक्त हुए विस्फोट से चार बच्चे बुरी तरह घायल हो गये। [Read more...]

मुख्य समाचार

साईं के दरबार में शिल्पा ने चढ़ाया लाखों का मुकुट

मुंबई : दुनिया के अमीर भगवानों में गिने जाने वाले शिरडी के साईंबाबा के दरबार में दूर-दूर से लोग मुराद पूरी होने पर चढ़ावा चढ़ाने आते हैं। शुक्रवार को बॉलीवुड अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी भी बाबा के दरबार में पहुंची। उन्होंने [Read more...]

तीन महीने तक भारत नहीं आ सकता : चोकसी

मुंबई : पंजाब नेशनल बैंक में हुए घोटाले के मुख्य आरोपी मेहुल चोकसी ने कहा है कि वह तीन महीने तक भारत नहीं आ सकते हैं। आपको बता दें कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कोर्ट से चोकसी को भगोड़ा आर्थिक [Read more...]

ऊपर