अंडाल नयी विमानन नीति से होगा लाभान्वित, अगरतल्ला व रांची जाने वालाें को अधिक लाभ

कोलकाता : नयी विमानन नीति के तहत अब अंडाल एयरपोर्ट को लाभ मिल सकता है। अंडाल एयरपोर्ट की कोलकाता से हवाई दूरी मात्र 25 मिनट है। नयी नीति के तहत 30 मिनट वाले हवाई सफर में 1200 रुपये किराया लगेगा। गौरतलब है कि हाल ही में 17 जून से एयर इंडिया ने कोलकाता- दुर्गापुर-दिल्ली उड़ान सेवा को स्थगित रखने का निर्णय लिया है। अब जब केन्द्र की यह नीति चालू होगी तो इस परिसेवा को चालू करने पर विचार किया जा सकता है। इसके अलावा जिन सेक्टर को लाभ होगा वह कोलकाता से अगरतल्ला जाने वाली उड़ान है। यहां पर 1 घंटे वाले नियम के तहत यात्रियों को फायदा मिलेगा। उल्लेखनीय है कि नागरिक विमानन मंत्रालय ने एक नीति पेश की थी जिसे बुधवार को कैबिनेट की मंजूरी मिल गयी है। इसके तहत 30 मिनट वाले हवाई सफर में 1200 रुपये किराया तथा एक घंटे के हवाई सफर के लिए अब अधिकतम किराया 2500 रुपए लगने की बात कही गयी है। कोलकाता सेक्टर में यात्रा करने वालों के लिए सिर्फ अगरतल्ला की उड़ान में ही लाभ मिलेगा। इस बारे में एयरलाइंस आपरेटर्स कमेटी (आईएटीए) के चेयरमैन कैप्टन सर्वेश गुप्ता ने बताया कि इससे सभी यात्रियों को लाभ मिलेगा क्योंकि भाड़ा कम किया गया है लेकिन यह नीति कितनी स्थिर रह पाएगी, यह समय बताएगा। उन्होंने कहा कि मैं केन्द्र सरकार की इस कोशिश की सराहना करना चाहता हूं क्योंकि इससे नीचे तबके तथा मध्य वर्गीय परिवार के लोग भी अब हवाई यात्रा कर सकेंगे। वहीं उन्होंने आंशका जतायी कि एयरलाइंस इस पॉलिसी को कितना और कब तक लागू करेगी, इस पर संशय बरकरार है। उन्होंने कहा कि कोलकाता एयरपोर्ट से अगरतल्ला ही मात्र एक ऐसा क्षेत्र है जो कि 50 व 55 मिनट का समय हवाई यात्रा में लगता है। अन्य स्थानों पर 1 घंटे से अधिक का समय लग जाता है। उन्होंने कहा कि इससे छोटे-छोटे रूट में यात्रियों को फायदा होगा। इन स्थानों में रांची, पटना, भुवनेश्वर तथा बागडोगरा एयरपोर्ट हैं लेकिन यहां पर 1 घंटा व एक घंटा से अधिक का समय लग जाता है। बताया गया है कि कोलकाता से अगरतल्ला की हवाई दूरी 50 से 55 मिनट, रांची की दूरी 1 घंटे से 1.10 घंटे तक, पटना की दूरी 1.10 घंटे, भुवनेश्वर 1.05, बागडोगरा 1.10 घंटे की हैं।   वहीं ट्रैवेल एजेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (ईस्टर्न रीजन) के चेयरमैन अनिल पंजाबी ने बताया कि यात्रियों के लिए यह बेहद फायदेमंद है अगर इसमें कोई और हिडेन टैक्स न हो तो। अगर इस पर फ्यूल टैक्स व अन्य टैक्स लग जाएं तो यह अभी के किराए से भी अधिक हो जाएगा। वहीं एयरलाइंस केन्द्र सरकार की इस पॉलिसी से कितनी सहमत होगी यह भी देखना होगा क्योंकि इससे एयरलाइंसों को काफी नुकसान उठाना पड़ सकता है। यह भी हो सकता है कि एयरलाइंस उन इलाकों से अपनी सेवाएं वापस ले लें। इस बारे में एयरलाइंस सूत्रों का कहना है कि कोई भी एयरलाइंस कभी भी नुकसान में उड़ान सेवाएं नहीं चला सकती। ऐसा सुनने में आया है कि इससे होने वाले घाटे को केन्द्र सरकार वहन करेगी, अगर ऐसा है तब तो एयरलाइंस को कोई असुविधा नहीं है लेकिन अगर एयरलाइंस को ही इसका घाटा वहन करना पड़े तब तो मुश्किल है। वहीं एयरपोर्ट अथारिटी ऑफ इंडिया के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कोलकाता के कई सेक्टर में इससे भविष्य में लाभ मिल सकते हैं। इनमें गया एयरपोर्ट भी एक है वहां से छोटे एयरक्राफ्टों के साथ एयरलाइंस उड़ान परिसेवा शुरू कर सकती है। जल्द ही इस नीति की कॉपी हमें भेजी जाएगी। इसके बाद ही सब कुछ विस्तार में कहा जा सकता है।

Leave a Comment

अन्य समाचार

नदी में 12 किमी पीछा कर फिल्मी स्टाइल में कस्टम्स ने पकड़ा 3 करोड़ का गार्मेंट

काफी दिनों से चल रहा था समुद्री रास्तों से तस्करी का खेल गोली चलाए जाने से डरे तस्कर ट्रॉलर छोड़कर भागे कोलकाता : नदी में 12 किमी. पीछा कर फिल्मी स्टाइल में कस्टम्स की पी एंड आई यूनिट ने 3 करोड़ की [Read more...]

2019 चुनाव का शंखनाद होगा ब्रिगेड की मेगा रैली से

ममता का अनुमान : 125 सीटों पर सिमट जाएगी भाजपा कोलकाता : लोकसभा चुनाव से पहले 19 जनवरी यानी शनिवार को होने वाली मेगा ब्रिगेड रैली पर देश के राजनीतिज्ञों की निगाहें टिकी हैं। इस मंच से 2019 के लोकसभा चुनाव [Read more...]

मुख्य समाचार

अब जीन बतायेंगे कब तक है आपकी जिंदगी!

लंदन : शोधकर्ताओं ने जीवन की अवधि पता लगाने के लिये जीन आधारित एक स्कोरिंग सिस्टम विकसित किया है। वैसे तो एन्ड्रॉइड मोबाइल पर और सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर कई एप है जाे आपकी जिन्दगी कितनी है, आपकी मृत्यु कब [Read more...]

वरमाला के समय दुल्हन के पैर में लगी गोली, अगली सुबह लिए फेरे

नयी दिल्ली : मकर संक्राति के साथ ही खरमास की समाप्‍ति हाे जाती है तथा शुभ कार्य शुरु हो जाते है। अभी जोर शोर से शादी विवाह का मौसम चल रहा है। पर खुशियाें कभी कभी परेशानी का सबब बन [Read more...]

ऊपर