पेट्रोल-डीजल मूल्यवृद्धि के खिलाफ कांग्रेस का पूरे राजस्थान में विरोध प्रदर्शन

जयपुर : राजस्थान प्रदेश कांग्रेस की ओर से पेट्रोलियम उत्पाद की कीमतों में लगातार हो रही बढ़ोतरी के विरोध में बुधवार को समूचे प्रदेश में जिला मुख्यालयों पर प्रदर्शन किये गये और सरकार से तत्काल कीमतों में वापस लेने की मांग की गयी।
कांग्रेस द्वारा आयोजित प्रदर्शन के तहत राज्य के जिला मुख्यालयों पर कार्यकर्ताओं ने बैलगाड़ी और ऊंटगाड़ी की रैलियां निकाल कर अपना विरोध प्रकट किया। इस कार्यक्रम में कार्यकर्ताओं के साथ आम लोगों की भागीदारी भी देखी गयी। कोटा में युवक कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने जिला कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया। युवा कांग्रेस कार्यकर्ता नयापुरा क्षेत्र में जिला परिषद कार्यालय के सामने इकट्ठा हुए और वहां से सरकार विरोधी नारे लगाते हुए जिला कलक्ट्रेट पहुंचे। बाद में जिला कलक्टर को राज्य सरकार को संबोधित एक ज्ञापन दिया। उदयपुर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कोर्ट चौराहे से ऊंटगाड़ी और बैलगाड़ी पर बैठकर प्रदर्शन किया। कार्यकर्ता कोर्ट चौराहे से जिला कलक्ट्रेट पहुंचे और वहां प्रदर्शन कर जिला प्रशासन को ज्ञापन दिया। प्रदेश के डुंगरपुर, अजमेर, प्रतापगढ़ आदि जिलों से भी कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा विरोध प्रदर्शन की सूचना मिली है।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

राहुल ने प्रधानमंत्री से कोटा के लिए वाणिज्यिक विमान सेवा की मांग की

नयी दिल्ली/कोटा : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राजस्थान के कोटा के लिए वाणिज्यिक विमान सेवा उपलब्ध कराने की अपील प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से की है। मोदी को 25 अक्टूबर को भेजे पत्र में राहुल ने कहा है कि वहां [Read more...]

राजस्थान में सभी सीटों पर प्रत्याशी उतारने की तैयारी में है बसपा

जयपुर : बहुजन समाज पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष डूंगरराम गेदर ने बताया कि पार्टी आगामी विधानसभा चुनाव में राज्य की सभी 200 सीटों पर प्रत्याशी उतारेगी। इसके साथ ही पार्टी को लगता है कि गठजोड़ न होने से नुकसान अंततः [Read more...]

मुख्य समाचार

सुषमा का ऐलान : नहीं लड़ेगीं 2019 का चुनाव

नई दिल्ली : मध्यप्रदेश के इंदौर में संवाददाता सम्मेलन के दौरान विदिशा लोकसभा क्षेत्र से भाजपा सांसद और भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि - वह वर्ष 2019 में होने वाला लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी। सुषमा ने [Read more...]

स्थानीय निकायों को अधिकार से कम होगीं घरों की कीमतें

नयी दिल्लीः स्थानीय निकायों को 20 से 50 हजार वर्ग मीटर की परियोजनाओं से जुड़े हरित नियमों के अनुपालन का अधिकार दिए जाने के सरकार के फैसले से इनकी मंजूरी की प्रक्रिया तेज होगी। इससे घरों के दाम भी घटेंगे। [Read more...]

ऊपर