अलवर में किसानों का महापड़ाव जारी

अलवर : अलवर में अपनी मांगों एवं शिकायतों को लेकर किसानों का महापड़ाव बुधवार को तीसरे दिन भी जारी रहा। हालांकि महापड़ाव स्थल पर किसानों और प्रशासन के बीच वार्ता भी हुई लेकिन मांगों पर कोई सहमति नहीं बन पाई। वार्ता में किसान यूनियन के पदाधिकारी इस बात पर अड़े रहे कि जिला कलक्टर वार्ता के लिये आयेंगे तभी वार्ता आगे बढ़ेगी। कलक्टर के वार्ता के लिये नहीं आने पर शाम को किसानों ने उनका पुतला फूंका।
सरिस्का तिराहे पर भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले किसान महापड़ाव पर बैठे हैं। उधर आंदोलन के कारण अलवर जयपुर हाईवे पर स्थित ग्रामीणों ने बाजार खोलने का निर्णय लिया, जहां बाजार खुले रहे लेकिन पर्यटकों के लिये वाहनों का संचालन नहीं हो पाया। किसान नेताओं का कहना है कि सरिस्का का वन विभाग तानाशाही करते हुए सरिस्का एवं आसपास बसे गांव में रहने वाले ग्रामीणों को बेवजह परेशान कर रहा है। सरिस्का प्रशासन की ओर से ग्रामीणों पर झूठे मुकदमे लगाये जाते हैं, ग्रामीणों को रिहायशी पट्टे नहीं देने, 24 घंटे वाहनों की आवाजाही नहीं होने देना, टहला गांव के लिये चलने वाली बसों को बंद कर देना, थानागाजी में कुशलगढ़ में लगे नाकों पर से बैरियर हटाने सहित विभिन्न मूल सुविधाओं की मांग के लिये क्षेत्रवासियों को वर्षों से आंदोलन करना पड़ रहा है।

Leave a Comment

अन्य समाचार

सचिन पायलट को बधाई देने वालों का लगा तांता

जयपुर : राजस्थान में सचिन पायलट के उपमुख्यमंत्री बनने पर उन्हें बधाई देने के लिए मंगलवार सुबह से ही यहां नवनिर्वाचित विधायकों सहित उनके समर्थकों का तांता लग गया। सचिन पायलट के निवास पर सुबह से उनके समर्थकों का जमावड़ा लग [Read more...]

भाटी बंधुओं के लिए पारिवारिक विवाद बना मुसीबत

अजमेर : राजस्थान के अजमेर (दक्षिण) विधानसभा क्षेत्र से विधानसभा चुनाव में हारे कांग्रेस प्रत्याशी हेमंत भाटी एवं उनके भाई पूर्व मंत्री ललित भाटी के पारिवारिक विवाद के गहराने से उनके राजनीतिक प्रभुत्व पर असर पड़ने की संभावना है। हाल में [Read more...]

मुख्य समाचार

आखिर क्यों सोनू को कहना पड़ा काश! पाक में पैदा हुआ होता

मुंबईः अक्सर विवादों में घिरे रहने वाले गायक सोनू निगम ने म्यूजिक इंडस्ट्री में काम मिलने के तौर-तरीकों पर सवाल उठाते हुए एक बार फिर विवादास्पद बयान दिया। एक चैनल से बातचीत में उन्होंने कहा ‘गाना गाने के बदले म्यूजिक [Read more...]

एमएसएमई की मदद के लिए बनेंगे 20 प्रौद्योगिकी केंद्र

नयी दिल्लीः सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उपक्रमों (एमएसएमई) की मदद के लिए सरकार 20 अतिरिक्त प्रौद्योगिकी केंद्र स्थापित करेगी। एमएसएमई को आधुनिक प्रौद्योगिकियों तक पहुंच उपलब्ध कराने के अलावा ये केंद्र श्रमबल को कुशल बनाने तथा तकनीकी एवं कारोबारी सलाह [Read more...]

ऊपर