हर खेल को मिले क्रिकेट जैसा बढ़ावा

भविष्य के सितारों का सम्मान

कोलकाताः जैसा बढ़ावा क्रिकेट को मिला है, वैसा ही हर खेल को मिलना चाहिए। सभी खेलों के लिए जूनियर स्तर के खिलाड़ियों के लिए सर्वश्रेष्ठ सुविधाएं प्रदान की जानी चाहिए। यह बात मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कही। वे क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ बंगाल (कैब) द्वारा मंगलवार को आयोजित ‘वार्षिक पुरस्कार समारोह’ के दौरान मुख्य अतिथि थीं। ममता ने क्रिकेट विश्व कप में भारतीय तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी की प्रशंसा करते हुए उनको 10 लाख रुपए से पुरस्कृत किया। मुख्यमंत्री ने बताया कि फीफा अंडर-17 विश्व कप का फाइनल कोलकाता में खेला जाएगा जो कि प्रदेश के लिए बड़ी उपलब्धि है। फुटबाल जगत के महान खिलाड़ी डिएगो माराडोना भी कोलकाता में शिरकत करेंगे। उन्होंने पिछले साल भारत-पाकिस्तान के बीच विश्व कप ग्रुप चरण मैच का आयोजन ईडन गार्डेन में करवाने वाले कैब के अध्यक्ष सौरभ गांगुली की भी प्रशंसा की। गांगुली ने कहा कि विश्व स्तर पर भारत और पाकिस्तान का मैच करवाना बहुत चुनौतीपूर्ण था, जो उन्हें जिंदगीभर याद रहेगा। उन्होंने मुख्यमंत्री की प्रशंसा करते हुए बताया कि उनके बिना यह मैच करवाना कभी संभव नहीं हो पाता।
डालमिया की प्रतिमा स्थापित की जाएः मुख्यमंत्री ने कैब में बीसीसीआई और कैब के पूर्व अध्यक्ष जगमोहन डालमिया की अर्ध-प्रतिमा स्थापित करने को कहा। ममता ने कहा कि डालमिया बंगाल का गौरव थे। उन्होंने डालमिया की तुलना पूर्व भारतीय खिलाड़ी एवं मोहन बागान के फुटबालर गोस्तो पाल से की जिनकी प्रतिमा स्थापित की गई थी। उन्होंने कहा जिस तरह से हम फुटबॉल में गोस्तो पाल को नहीं भूल सकते उसी प्रकार हम क्रिकेट में जगमोहन डालमिया को नहीं भूल सकते हैं।

कोच से कहा था, मुझे विश्वकप टीम से निकाल दें

भारतीय महिला टीम की तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी ने सम्मान के लिए कैब का धन्यवाद किया। साथ ही उन्होंने चौंकाने वाला खुलासा किया कि वह महिला विश्व कप के पहले दो मैचों में अपने प्रदर्शन से इतना अधिक निराश थीं कि उन्होंने कोच तुषार अरोठे से कह दिया था कि मुझे विश्वकप टीम से निकाल दीजिए। अरोठे ने हालांकि न सिर्फ इस अनुभवी तेज गेंदबाज का समर्थन किया बल्कि उन्हें कप्तान मिताली राज का भी पूरा समर्थन मिला और आखिर में भारत को फाइनल तक पहुंचाने में झूलन ने अहम भूमिका निभायी।

नंदी को लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड

कैब ने बंगाल के पूर्व रणजी ट्रॉफी कोच पलाश नंदी को ‘लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड’ और 2 लाख रुपए की राशि से सम्मानित किया। वहीं बंगाल क्रिकेट के कप्तान मनोज तिवारी को ‘क्रिकेटर ऑफ द ईयर’ अवार्ड से नवाजा गया। अशोक डिंडा को वर्ष का ‘सर्वश्रेष्ठ तेज गेंदबाज’ चुना गया।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

अगड़ी जाति के लोगों को 10 प्रतिशत आरक्षण के खिलाफ हाईकोर्ट पहुंची डीएमके

नयी दिल्‍ली : चुनावी वर्ष के शुरुआत से ही राजनीतिक दलों द्वारा तरह तरह के ऐसे हथकंडे अपनाये जा रहे है ताकि उन्‍हें लगे कि वे ही जनता के सच्‍चे हितैषी है। इसी क्रम में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी [Read more...]

उत्तर प्रदेश में गरीब सवर्णों को 10 फीसदी आरक्षण पर कैबिनेट की मुहर

लखनऊः कैबिनेट की बैठक में यूपी में गरीब सवर्णों के लिए 10 फीसदी आरक्षण लागू करने के प्रस्ताव पर फैसला लिया गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसके लिए अध्यादेश के मसौदे को भी मंजूरी दे दी है। इसके तहत [Read more...]

मुख्य समाचार

अगड़ी जाति के लोगों को 10 प्रतिशत आरक्षण के खिलाफ हाईकोर्ट पहुंची डीएमके

नयी दिल्‍ली : चुनावी वर्ष के शुरुआत से ही राजनीतिक दलों द्वारा तरह तरह के ऐसे हथकंडे अपनाये जा रहे है ताकि उन्‍हें लगे कि वे ही जनता के सच्‍चे हितैषी है। इसी क्रम में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी [Read more...]

उत्तर प्रदेश में गरीब सवर्णों को 10 फीसदी आरक्षण पर कैबिनेट की मुहर

लखनऊः कैबिनेट की बैठक में यूपी में गरीब सवर्णों के लिए 10 फीसदी आरक्षण लागू करने के प्रस्ताव पर फैसला लिया गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसके लिए अध्यादेश के मसौदे को भी मंजूरी दे दी है। इसके तहत [Read more...]

ऊपर