विनोद कांबली ने मॉल में मशहूर सिंगर के पिता को मारा मुक्का

मुंबईः विनोद कांबली और उनकी पत्नी एंड्रिया पर गायक अंकित तिवारी के पिता आरके तिवारी (58 वर्ष) से मारपीट और बदसलूकी का आरोप लगा है। वहीं, एंड्रिया ने आरके तिवारी पर बदनीयती से छूने का आरोप लगाया है। दोनों पक्षों ने यहां के बांगुर नगर थाने में एक-दूसरे के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है। घटना रविवार दोपहर यहां मलाड स्थित एक मॉल की है। इसका सीसीटीवी फुटेज भी सामने आया है। इसमें आरके तिवारी, एंड्रिया के बगल में से जाते नजर आ रहे हैं। आरोप है कि विनोद काबंली ने अंकित तिवारी के पिता को मुक्का मारा और उनकी पत्नी ने भी उन्हें मारने के लिए सैंडिल निकाल ली।
रविवार की वजह से भीड़ थी
अंकित के भाई अंकुर ने अपनी शिकायत में कहा कि उनके पिता बच्ची को घुमाने मॉल ले गए थे। रविवार की वजह से वहां काफी भीड़ थी। वे गेमिंग जोन से बाहर आ रहे थे, तभी उनका हाथ एंड्रिया से छू गया। इस पर एंड्रिया बिफर गईं। अंकुर ने कहा कि समझाने पर कांबली ने उन्हें धक्का दे दिया और गालियां बकने लगे। उधर, एंड्रिया का आरोप है कि आरके तिवारी ने उन्हें जानबूझकर छुआ था।

Leave a Comment

अन्य समाचार

न्याय के मं‌दिर में वकीलों ने ही किया महिला वकील साथी के साथ सामूहिक दुष्कर्म

नई दिल्लीः मानवाधिकार और अधिकारों के संरक्षण की रक्षा करने वाले या लड़ने वाले अगर खुद किसी के अधिकार उल्लंघन करे तो क्या कहेंगे। ऐसा ही एक घटना दिल्ली के साकेत कोर्ट्र परिसर की है। यहां एक वकील के चेंबर [Read more...]

मोदी ने पूर्वांचल के किसानों को दिया 3420 करोड़ की परियोजना

मिर्जापुरः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने पूर्वांचल दौरे के दूसरे दिन मिर्जापुर में एक रैली को संबोधित किया। जनसभा को संबोधित करने से पहले उन्होंने बाणसागर परियोजना का शुभारंभ किया। इस परियोजना से इलाके में सिंचाई को बढ़ावा मिलेगा, जिससे [Read more...]

मुख्य समाचार

अफगान में आत्मघाती हमला, 7 मरे, 15 जख्मी

काबुलः अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में रविवार की शाम शाम करीब 4.30 बजे ग्रामीण पुनर्वास और विकास मंत्रालय के गेट के बाहर एक हमलावर ने खुद को विस्फोटक से उड़ा लिया। इस आत्मघाती हमले में आम लोग एवं सुरक्षाकर्मी समेत [Read more...]

भगवान जगन्नाथ का रथ गुंडिचा मंदिर पहुंचा

पुरीः भगवान जगन्नाथ का ‘नंदीघोष’ रथ रविवार को गुंडिचा मंदिर पहुंच गया। रथ यात्रा के दौरान शनिवार को बालागंडी चक पर इस रथ को रोकना पड़ा और उस दिन रथयात्रा पूरी नहीं हुई क्योंकि सूर्यास्त के बाद रथों को नहीं [Read more...]

ऊपर