मोहम्मद हफीज को एक बार फिर निलंबित किया जा सकता हैः आईसीसी

नई दिल्लीः पाकिस्तान के फिरकी गेंदबाज मोहम्मद हफीज की गेंदबाजी के तरीके को संदिग्‍ध माना गया है। ऐसा उनके करियर में तीसरी बार हुआ। श्रीलंका के खिलाफ बुधवार को अबु धाबी में खेले गए तीसरे वनडे के दौरान यह पाया गया। इससे पहले उन्हें दो बार प्रतिबंधित किया जा चुका है।
आईसीसी की जांच रिपोर्ट के अनुसार अब हफीज को 14 दिनों के अंदर एक व्यक्तिगत गेंदबाजी विश्लेषण से गुजरना होगा। इसके अलावा उनके अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में गेंदबाजी पर टेस्ट की जांच आने तक रोक लगी रहेगी। अगर हफीज इस टेस्ट में विफल होते हैं तो अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में एक बार फिर उन्हें गेंदबाजी करने से निलंबित कर दिया जाएगा।
आईसीसी ने एक बयान जारी करते हुए पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को रिपोर्ट किया और कहा कि 37 वर्षीय हफीज का गेंदबाजी एक्शन फिर से चिंता का विषय बना है और यह रिपोर्ट पाकिस्तान टीम प्रबन्धन को सौंप दी गई।
गौरतलब है कि हफीज को श्रीलंका के खिलाफ टी-20 सीरीज के लिए हरफनमौला खिलाड़ी के तौर पर टीम में शामिल किया गया है।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

मैं भारत से प्यार करता हूं : ट्रंप

संयुक्त राष्ट्र : विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को संयुक्त राष्ट्र में एक उच्च स्तरीय कार्यक्रम के दौरान एक दूसरे का कुशल क्षेम पूछा। मादक पदार्थों के प्रतिरोध पर इस कार्यक्रम की अध्यक्षता अमेरिकी [Read more...]

देशभर में हो सकती है पेट्रोल-डीजल की भारी किल्लत

पेट्रोलियम उत्पादों और रुपये में स्थिरता के लिए सरकार उठाने जा रही है बड़ा कदम नई दिल्लीः देश में पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमत और डॉलर के मुकाबले [Read more...]

मुख्य समाचार

मैं भारत से प्यार करता हूं : ट्रंप

संयुक्त राष्ट्र : विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को संयुक्त राष्ट्र में एक उच्च स्तरीय कार्यक्रम के दौरान एक दूसरे का कुशल क्षेम पूछा। मादक पदार्थों के प्रतिरोध पर इस कार्यक्रम की अध्यक्षता अमेरिकी [Read more...]

विमान वाहक पोत ‘विराट’ को संरक्षित करने की पेशकश

मुंबईः वाइस एडमिरल गिरीश लूथरा, वेस्टर्न कमांड फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ ने सोमवार को संवाददाताओं से बताया कि महाराष्ट्र, गोवा और आंध्रप्रदेश ने जुलाई में सेवा मुक्त हुए विमान वाहक पोत ‘विराट’ को संरक्षित करने की पेशकश की है। महाराष्ट्र सरकार [Read more...]

ऊपर