भारत से छिनी एशिया कप की मेजबानी

यूएई में सितंबर महीने में आयोजित किया जाएगा
नई दिल्लीः भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव के चलते भारत से एशिया कप की मेजबानी छीन ली गई है और अब इसे संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में आयोजित कराने का फैसला किया गया है। टूर्नामेंट का आयोजन इस वर्ष 13 से 28 सितंबर तक दुबई और अबुधाबी में होगा। हालांकि इस टूर्नामेंट की मेजबानी बीसीसीआई द्वारा ही की जाएगी। बीसीसीआई के कार्यकारी सचिव अमिताभ चौधरी मलेशिया के कुआलालंपुर में आयोजित एशियन क्रिकेट काउंसिल (एसीसी) की बैठक में शामिल हुए थे। बैठक के बाद उन्होंने बताया कि एसीसी की सर्वसम्मति से एशिया कप के लिए खेल स्‍थल के लिए सहमती दी गई है।
सूत्रो ने कहा ‘बीसीसीआई द्वारा भारत सरकार से इसकी अनुमति मांगी गई थी जिसे स्वीकार किया जा चुका है।’ इसके साथ ही सूत्रों ने यह भी कहा कि भारतीय सरकार को इससे आपत्ति थी कि पाकिस्तान एशिया कप के लिए भारत में खेलता। बीसीसीआई भारत में इस साल एशिया कप की मेजबानी करने वाला था लेकिन पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को भारत में खेलने से आपत्ति थी। वहीं बीसीसीआई द्वारा की जाने वाली मेजबानी को बिना बदले यूएई को एशिया कप का वेन्यू रखा गया क्योंकि यहां खेलों को लेकर किसी भी देश को कोई परेशानी नहीं है।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

सपना चौधरी के गाने पर ठुमके लगाते क्रिस गेल

नई दिल्लीः हरियाणा की मश्हूर कलाकार सपना चौधरी देशभर में काफी लोकप्रिय है। वहीं क्रिकेट जगत के ताबड़तोड़ बल्लेबाज को भी बहुत पसंद किया जाता है। इन दोनों का तड़का एक वीडियो के माध्यम से सामने आया है। इस वीडियो [Read more...]

2019 विश्व कप के बाद अपने करियर को लेकर फैसला करेंगे युवराज

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम में सिक्सर किंग नाम से प्रचलित स्टार हरफनमौल खिलाड़ी युवराज सिंह ने अपने संन्यास को लेकर अहम बयान दिया है। उन्होंने ये साफ कर दिया कि वह 2019 के बाद अपने करियर को लेकर फैसला [Read more...]

मुख्य समाचार

मीडिया पर भी गुंडई

कोलकाता : सोमवार को नामांकन के अंतिम दिन राज्य के विभिन्न जिलों में हिंसक घटनाएं तो हुई ही, साथ ही चौथे स्तंभ यानी मीडिया को भी नहीं बख्शा गया। राज्य में मीडिया पर भी हमले हुए। जिलों में तो हमले [Read more...]

गिरिजा देवी के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता: राज्यपाल

कोलकाता : बनारस घराने की अंतिम दीपशिखा के रूप में पद्म विभूषण गिरिजा देवी भले ही आज मौन हो गईं, लेकिन उनका संगीत लोगों के जहन में युगों-युगों तक रहेगा। भले ही वह मौन हो गई हों लेकिन उनकी ठुमरी, [Read more...]

उपर