फीफा के लिए सज गया साल्टलेक स्टेडियम

खेल मंत्री ने आयोजकों को सौंपा स्टेडियम

10 में से 10 अंक दिए
कोलकाताः फीफा अंडर-17 विश्वकप के लिये नये रंग-रूप में तैयार हुआ विश्व स्तरीय साल्टलेक स्टेडियम रविवार को स्थानीय आयोजक समिति को सौंप दिया गया। स्थानीय आयोजन समिति के अध्यक्ष जेवियर सेप्पी ने इसे 10 में से 10 अंक देते हुये कहा पुनर्निर्माण के बाद यह स्टेडियम किसी भी विश्व स्तरीय स्टेडियम के जैसा है, जिसे फीफा विश्व कप के फाइनल की मेजबानी करनी है।
उन्होंने स्टेडियम के पुनर्निर्माण कार्य को ढाई साल में पूरा करने में अहम योगदान के लिये राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को शुक्रिया करते हुये कहा, अगर आप मुझसे इस बारे में पूछेंगे तो यह संग्रहालय की तरह दिख रहा है, चाहे इसका प्रवेश स्थल हो या अंदर का हिस्सा। जैसा कि टीमों ने कहा, इसकी लॉबी किसी पंचतारा होटल की तरह है। उन्होंने कहा, स्टेडियम पहले से पूरी तरह बदल चुका है। ऐसा इसलिये क्योंकि इसे भारतीय फुटबाल इतिहास के सबसे महत्वपूर्ण मैच का आयोजन करना है। राज्य सरकार ने इसे चुनौती की तरह लिया। इस स्टेडियम की तुलना फुटबाल विश्वकप की मेजबानी करने वाले किसी भी स्टेडियम से की जा सकती है।
पहले विवेकानंद युवा भारती क्रीड़ांगन के नाम से मशहूर इस स्टेडियम का पुनर्निमार्ण कार्य एक फरवरी, 2015 को शुरू हुआ था जिसमें 100 करोड़ रुपये खर्च हुये हैं। इस स्टेडियम का औपचारिक उद्घाटन मुख्यमंत्री ममता बनर्जी 12 सितंबर को करेंगी।
इसलिए घटाई क्षमता
पुनर्निमार्ण के बाद स्टेडियम में दर्शकों की क्षमता पहले के 120,000 के मुकाबले विश्वकप के लिये 66,687 रह गयी है। ऐसा फीफा के दिशानिर्देश पर सुरक्षा की दृष्टि से ब्रिटेन की स्पोर्ट्स ग्राउंड सेफ्टी ऑथोरिटी के अध्ययन के बाद किया गया है। सेप्पी ने कहा कि इससे एक भी दर्शक अधिक नहीं आने दिया जाएगा, क्योंकि किसी अनहोनी की अवस्था में दर्शकों के निकलने की दृष्टि से यही संख्या सही है। हालांकि अब भी स्टेडियम में 80 हजार दर्शक आ सकते हैं।
105 मीटिंग हुई
स्टेडियम पुनर्निमार्ण के मैन-इन-चार्ज पीडब्ल्यूडी के प्रमुख सचिव इंदीवर पांडे थे। उन्होंने बताया कि इस पूरे काम की देखरेख सीधे मुख्यमंत्री कर रही थीं। हमने इसके लिए 105 मीटिंग की ताकि यह फाइनल की मेजबानी करने वाला श्रेष्ठ स्टेडियम बन जाए। खेल केप्रमुख सचिव सईद अहमद बावा ने स्टेडियम सौंपने के दस्तावेजों पर हस्ताक्षर किए।

बंगालियों को गर्व करना चाहिएः सेप्पी

सेप्पी ने कहा कि स्टेडियम का 98 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है और अब यह उनकी जिम्मेदारी है कि इसे अगले स्तर तक ले जायें। उन्होंने कहा कि इस म्यूजियम को अब पूरी तरह फुटबाल स्टेडियम में बदलना होगा, जो मुश्किल नहीं है, बस दो-तीन कदम उठाने होंगे। बंगालियों को अब इस पर गर्व होना चाहिए। हालांकि उन्होंने इस स्टेडियम की तुलना देश के अन्य पांच आयोजन स्थलों से करने से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा, ये सभी आयोजन स्थल हमारे बच्चों की तरह हैं, इनमें सर्वश्रेष्ठ चुनना असंभव है। मैं राजनीतिक बात नहीं करता, लेकिन आप देश के किसी भी स्टेडियम में जाइए, अद्भुत काम हुआ है।

वर्ल्ड क्लास

खर्च – 100 करोड़ रुपये

पहले क्षमता – 1,20,000

अब क्षमता – 66,687
काम शुरू – 1 फरवरी, 2015

अंडर-17 विश्वकप – 6 से 28 अक्टूबर
औपचारिक उद्घाटन – मंगलवार को करेंगी मुख्यमंत्री ममता बनर्जी

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

उत्तर प्रदेश में गरीब सवर्णों को 10 फीसदी आरक्षण पर कैबिनेट की मुहर

लखनऊः कैबिनेट की बैठक में यूपी में गरीब सवर्णों के लिए 10 फीसदी आरक्षण लागू करने के प्रस्ताव पर फैसला लिया गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसके लिए अध्यादेश के मसौदे को भी मंजूरी दे दी है। इसके तहत [Read more...]

फिल्म रिव्यूः वाय चीट इंडिया

पराग छापेकर- स्टार कास्ट: इमरान हाशमी , श्रेया धनंवतरी- निर्देशक: सौमिक सेन- निर्माता: भूषण कुमार, अतुल कसबेकर इमरान हाशमी की फिल्म 'वाय चीट इंडिया' शुक्रवार को बड़े पर्दे पर रिलीज हो गई है। फिल्म शिक्षा व्यवस्था में फैले भ्रष्टाचार [Read more...]

मुख्य समाचार

उत्तर प्रदेश में गरीब सवर्णों को 10 फीसदी आरक्षण पर कैबिनेट की मुहर

लखनऊः कैबिनेट की बैठक में यूपी में गरीब सवर्णों के लिए 10 फीसदी आरक्षण लागू करने के प्रस्ताव पर फैसला लिया गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसके लिए अध्यादेश के मसौदे को भी मंजूरी दे दी है। इसके तहत [Read more...]

फिल्म रिव्यूः वाय चीट इंडिया

पराग छापेकर- स्टार कास्ट: इमरान हाशमी , श्रेया धनंवतरी- निर्देशक: सौमिक सेन- निर्माता: भूषण कुमार, अतुल कसबेकर इमरान हाशमी की फिल्म 'वाय चीट इंडिया' शुक्रवार को बड़े पर्दे पर रिलीज हो गई है। फिल्म शिक्षा व्यवस्था में फैले भ्रष्टाचार [Read more...]

ऊपर