प्लेऑफ के 3 स्थान के लिए टीमों में कड़ी प्रतिस्पर्धा, अंक तालिका में सबसे आगे बेंगलुरु एफसी

नयी दिल्लीः सुनील छेत्री के नेतृत्व वाले बेंगलुुरु एफसी ने इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के चौथे सीजन में पदार्पण करने के साथ ही सेमीफाइनल में पहुंचने वाली पहली टीम होने का गौरव हासिल कर लिया है।
बेंगलुरु को अभी तीन मैच और खेलने हैं, लेकिन वह 33 अंकों के साथ तालिका में टॉप पर शान के साथ विराजमान है। उसे 15 मैचों में से 11 में जीत मिली है। अब सेमीफाइनल के तीन स्थान बचे हैं और अगले तीन सप्ताह तक इन स्थानों के लिए जोरदार प्रतिस्पर्धा होगी, जो इस लीग के रोमांच को बढ़ा देगी।
एफसी पुणे सिटी दूसरे स्‍थान पर
लीग में इस साल की दूसरी सबसे अच्छी टीम एफसी पुणे सिटी ने सेमीफाइनल तक एक कदम बढ़ा दिया है। उसके खाते में 28 अंक हैं और उसे अभी भी तीन मैच खेलने हैं। पुणे को हालांकि सेमीफाइनल में अपना स्थान सुरक्षित नहीं मानना चाहिए। इस सीजन में प्रतिस्पर्धा का स्तर काफी ऊंचा है और प्लेऑफ के लिए जोरदार टक्कर चल रही है। कम से कम छह टीमें ऐसी हैं, जो क्वालीफाई कर सकती हैं। स्थान तो तीन ही बचे हैं, ऐसे में जो टीम श्रेष्ठ खेल दिखाएगी, उसे ही आगे का टिकट मिलेगा।
मुंबई के लिए चुनौती
मुम्बई सिटी एफसी को अपने अंतिम मैच में एफसी पुणे सिटी के हाथों 0-2 से हार मिली। मुंबई के कोच एलेक्सजेंडर गुइमारेस ने कहा कि हमें अभी भी 12 अंकों के लिए खेलना है। अगर हम अगले चार मैच जीत जाते हैं तो हमारा भी आगे जाने का रास्ता साफ हो सकता है।
जमशेदपुर भी कर सकता है वापसी
पहली बार आईएसएल में खेल रही जमशेदपुर टीम को कोपेल शांत के साथ प्लेऑफ की ओर ले जा रहे हैं। इस टीम ने तीन ड्रॉ के साथ शुरुआत की थी और अब उसने बीते छह में से पांच मैच जीतते हुए अपनी किस्मत पलट दी है। जमशेदपुर को को आगे चेन्नयन एफसी, बेंगलुरू एफसी और एफसी गोवा के साथ खेलना है।

Leave a Comment

अन्य समाचार

मीडिया पर भी गुंडई

कोलकाता : सोमवार को नामांकन के अंतिम दिन राज्य के विभिन्न जिलों में हिंसक घटनाएं तो हुई ही, साथ ही चौथे स्तंभ यानी मीडिया को भी नहीं बख्शा गया। राज्य में मीडिया पर भी हमले हुए। जिलों में तो हमले [Read more...]

गिरिजा देवी के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता: राज्यपाल

कोलकाता : बनारस घराने की अंतिम दीपशिखा के रूप में पद्म विभूषण गिरिजा देवी भले ही आज मौन हो गईं, लेकिन उनका संगीत लोगों के जहन में युगों-युगों तक रहेगा। भले ही वह मौन हो गई हों लेकिन उनकी ठुमरी, [Read more...]

मुख्य समाचार

मीडिया पर भी गुंडई

कोलकाता : सोमवार को नामांकन के अंतिम दिन राज्य के विभिन्न जिलों में हिंसक घटनाएं तो हुई ही, साथ ही चौथे स्तंभ यानी मीडिया को भी नहीं बख्शा गया। राज्य में मीडिया पर भी हमले हुए। जिलों में तो हमले [Read more...]

गिरिजा देवी के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता: राज्यपाल

कोलकाता : बनारस घराने की अंतिम दीपशिखा के रूप में पद्म विभूषण गिरिजा देवी भले ही आज मौन हो गईं, लेकिन उनका संगीत लोगों के जहन में युगों-युगों तक रहेगा। भले ही वह मौन हो गई हों लेकिन उनकी ठुमरी, [Read more...]

उपर