ढाबे में काम करने वाली कविता ने कबड्डी टीम में जगह बनायी

नयी दिल्‍ली : इंडोनेशिया में शुरु हो चुके एशियाई खेलों में देश को कबड्डी टीम से स्‍वर्ण की काफी उम्‍मीद है। अपने मेहनत के दम पर भारतीय महिला कबड्डी टीम में जगह बनाने वाली कविता की कहानी संघर्ष भरी है। गरीब परिवार में पली-बढ़ी कविता के लिए इस मुकाम तक पहुंचना आसान नहीं था। हिमाचल की हांड़ कंपा-कंपा देने वाली सर्दियों में न तन पर गर्म कपड़ा होता था और न रात में सोने के लिए कंबल। इन हालातों से पार पाते हुए कविता ने भारतीय टीम में नुमाइंदगी की। मनाली की रहने वाली कविता का अधिकतर जीवन एक ढाबे में ही गुजरा। मां कृष्णा देवी चाय बनाने और खाने-पीने का समान तैयार करती हैं। बड़ी बहन कल्पना भी गरीबी से लड़ने के लिए मां-बाप का हाथ बंटाया करती थी। खेलने कूदने की उम्र में उनका सारा बचपन बर्तन धोने और जूठन साफ करने में गुजर गया। 2014 एशियाड ने कविता और उनके पूरे परिवार की किस्मत पलट दी। गोल्ड मेडल जीतने वाली महिला कबड्डी टीम में कविता के होने के चलते सरकार का ध्यान कविता की ओर गया। कविता ने 2007 में कबड्डी खेलना शुरू किया था। स्कूल में लगे इस शौक के बारे में वह बताती है कि यह सबसे सस्ता खेल था इसलिए इसे खेलनी लगी। कविता कहती हैं कि, ‘बड़ी बहन कल्पना मुझसे बेहतर कबड्डी खिलाड़ी थी, लेकिन गरीबी और मां-बाप को ढाबे में मदद के चलते उसे अपना सपना मारना पड़ा।’ राष्ट्रीय स्तर पर लगातार बेहतर प्रदर्शन करने के बाद कविता को 2009 में धर्मशाला स्थित भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) में जाने का मौका मिला। फिर कविता ने पलट कर पीछे नहीं देखा।

Leave a Comment

अन्य समाचार

भारतीय महिला टीम ने 3-0 से टी-20 सीरीज भी जीती

चौथे मैच में श्रीलंका को 7 विकेट से हराया अनुजा ने जेमिमा के साथ 96 रन की अटूट साझेदारी की कोलंबोः स्टार खिलाड़ी [Read more...]

शमी के खिलाफ जारी हो सकता है गैर-जमानती वारंट !

कोर्ट में पेश नहीं होने से शमी की मुश्किलें बढ़ सकती है नई दिल्लीः भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने इंग्लैंड दौरे पर [Read more...]

मुख्य समाचार

देशभर में हो सकती है पेट्रोल-डीजल की भारी किल्लत

पेट्रोलियम उत्पादों और रुपये में स्थिरता के लिए सरकार उठाने जा रही है बड़ा कदम नई दिल्लीः देश में पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमत और डॉलर के मुकाबले [Read more...]

वफादारी के बदले मालिक से ईनाम में मिला टी-शर्ट, तो नौकर ने लगाया 70 लाख का चूना

नई दिल्लीः मालिक के लिए जान की बाजी लगाकर एक नौकर ने लाखों रुपये लूटने से बचाए, उसके एवज में मालिक ने ईनाम में उसे एक टी-शर्ट दिया। इससे खफा होकर नौकर ने मालिक को ही 70 लाख रुपये का [Read more...]

ऊपर