टीम के प्रयास से खुश हूं, लेकिन परिणाम से नहीं : मातोस

नई दिल्लीः फीफा अंडर-17 विश्व कप में शुक्रवार को भारतीय टीम को अमेरिका के हाथों 0-3 से हार का सामना करना पड़ा। इस करारी हार के बाद भारतीय टीम के कोच डी मातोस ने कहा ‘मैं टीम के खिलाड़ियों के सामूहिक प्रयास से खुश हूं, लेकिन उसके परिणाम से खुश नहीं हूं। मैंने कहा था यूएस टीम और दूसरे टीमों की तुलना में हमारे ग्रुप के बीच में बड़ा अंतर है। इसके लिए मुझे उनसे सजा मिली है। मगर कुछ और अनुभव के साथ अगले मैच में टीम बेहतर प्रदर्शन कर सकती है।’
उन्होंने कहा कि भारतीय टीम को शायद पहले हाफ में गेंद का अनुभव मिला हो। मगर दूसरे हाफ में मेजबान देश ने बेहतर प्रदर्शन किया।
वहीं अमेरिकी कोच  हैकवर्थ ने भी भारतीय टीम की लगन और मेहनत की तारिफ करते हुए बताया ‘मैं इस प्रदर्शन से काफी खुश हूं। भारत ने वास्तव में अच्छा खेला है। टीम ने काफी मेहनत की।’
 

रक्षापंक्‍ति मजबूत करने की जरूरत

भारतीय खिलाड़ियों ने निश्चित रूप से अच्छा प्रदर्शन किया जिससे खिलाड़ियों का अगले मैच के लिए मनोबल मजबूत होगा। भारत को अब अपने रक्षापंक्‍ति पर ध्यान देना होगा जिसमें चूक के कारण अमेरिकी खिलाड़ियों को गोल करने का मौका मिल गया।

पहला गोल पेनल्टी पर किया

अमेरिका के सबसे अनुभवी खिलाड़ी और कप्तान सार्जेंट को 30वें मिनट में भारतीय बॉक्स में गिराया गया और रेफरी ने सीधे पेनल्टी का इशारा कर दिया। फॉरवर्ड सार्जेंट खुद पेनल्टी लेने आये और उन्होंने भारतीय गोलकीपर धीरज मोईरंगथम को आसानी से छका दिया। सार्जेंट का शॉट गोल के बाएं हिस्से में गया जबकि धीरज ने दायीं तरफ छलांग लगायी।

दूसरा गोल कार्नर किक से

दूसरे हाफ में 51 वें मिनट में अमेरिका के कार्नर पर डिफेन्स की चूक भारत को भारी पड़ गयी। कार्नर पर भारतीय खिलाड़ी गेंद को ठीक से क्लियर नहीं कर सके और कार्लटन ने बाएं पैर से शक्तिशाली वॉली लगते हुए न केवल भारतीय डिफेन्स को चखा दिया बल्कि अमेरिका का दूसरा गोल भी दाग दिया।

भारतीय खिलाड़ियों ने कई मौंके गंवाए

भारतीय टीम पहले हाफ में अमेरिका के गोल पर एक निशाना ही साध पायी। यह मौका 42 वें मिनट में मिला था लेकिन शॉट सीधे अमेरिकी गोलकीपर के हाथों में गया। दूसरा गोल खाने के चार मिनट बाद कोमल थाटल की किक पोस्ट के ऊपर से निकल गयी। भारतीय खिलाड़ी लगातार कोशिश करते रहे और 83 वें मिनट में अनवर अली का बेहतरीन शॉट पोस्ट से टकरा गया। भारत के हाथ से कम से कम एक गोल करने का मौका निकल गया।

निराशा ने करवाई तीसरी गोल

ये मौका चूकने से भारतीय खिलाड़ी इतने निराश हो गए कि अपने डिफेन्स की तरफ जल्दी नहीं लौट सके। इसका फायदा उठाकर कार्लटन ने गेंद संभाली और बढ़ चले भारतीय गोल की तरफ। कार्लटन ने भारतीय बॉक्स में घुसने के बाद गोलकीपर धीरज को छकाया और आसानी से अमेरिका का तीसरा गोल दाग दिया।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

वापसी की राह पर मानसून, कई राज्य रह गए सूखे

नयी दिल्ली : मानसून के बादल सिमटने लगे हैं। इस मौसम में जहां देश के कई इलाकों में जमकर बारिश हुई, वहीं कई इलाकों में इसमें काफी कमी भी दर्ज की गई है। अब तक पूरे देश में मानसून की [Read more...]

सर्जिकल स्ट्राइक की सालगिरह राजनीति नहीं देशभक्ति है : जावड़ेकर

नयी दिल्ली : विश्‍वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) द्वारा सर्जिकल स्ट्राइक की सालगिरह पर विश्वविद्यालयों को जारी संवाद पर विवाद के मद्देनजर मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने सफाई देते हुए कहा कि इसमें कोई राजनीति नहीं है, बल्कि यह देशभक्ति [Read more...]

मुख्य समाचार

आयुष्मान की पत्नी ताहिरा को कैंसर

मुंबईः बॉलीवुड अभिनेता आयुष्मान खुराना की पत्नी व लेखिका ताहिरा कश्यप ने खुलासा किया है कि चिकित्सीय जांच में उन्हें शुरुआती चरण का स्तन कैंसर होने की बात पता चली है। इंस्टाग्राम पोस्ट पर अपने आशावादी रवैये को जाहिर करते हुए [Read more...]

‘सबका साथ सबका विकास’ के मिशन के साथ आगे बढ़ रहा छत्तीसगढ़ : मोदी

रायपुरः छत्तीसगढ़ के एक दिवसीय संक्षिप्त दौरे पर शनिवार को गये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जांजगीर चांपा जिला में अटल विकास यात्रा के दौरान कृषक सम्मेलन में कहा कि रमन सिंह सरकार ने छत्तीसगढ़ को प्रगति करने वाले राज्यों में [Read more...]

ऊपर