चैंपियंस ट्रॉफी में खेलेगा भारत, सोमवार को चुनी जाएगी टीम

नई दिल्लीः आखिरकार लंबी प्रतिक्षा और गतिरोध के बाद यह तय हो गया है कि भारत चैंपियंस ट्राफी में भाग लेगा। भारतीय टीम की घोषणा आठ मई को की जाएगी। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड का अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट कांन्‍उसील के साथ चल रहे राजस्व मसले के गतिरोध और इसको लेकर समूचे विश्व में हो रही भारत की बदनामी को देखते हुए अंततः सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित प्रशासकों की समिति (सीओए) ने हस्तक्षेप करते हुए बीसीसीआई को निर्देश जारी किया कि वे चैंपिंयस ट्राफी में भाग लेने वाली भारतीय टीम की घोषणा करें अन्यथा समिति मामले को लेकर उच्चतम न्यायालय का दरवाजा खटखटाएगी। बीसीसीआई आखिरकार प्रशासकों  की समिति के आगे झुकते हुए आठ मई को भारतीय टीम की घोषणा करने का फैसला किया है।

सात देशों ने कर दिया है टीम घोषित

चैंपियंस ट्राफी में भाग लेने वाले अन्य सात देशों ने आईसीसी द्वारा निर्धारित तय समय सीमा 25 अप्रैल के भीतर अपनी टीम घोषित कर दी है। भारत आईसीसी के साथ राजस्व बटवारा और प्रशासनिक मसलों के कारण अब तब अपनी टीम घोषित नहीं किया था। गौरतलब है कि आईसीसी के नए राजस्व नियमों के तहत बीसीसीआई का राजस्व 570 मिलियन डॉलर से घटकर 293 मिलियन डॉलर रह जाएगा जिसका भारत शुरू से विरोध कर रहा है और चैंपियंस ट्राफी से हटने तक की धमकी भी दे डाली थी।

सीओए के आदेश के सामने झुकना पड़ा

राजस्व मामले को लेकर लड़ाई लड़ रहे बीसीसीआई को तब झटका लगा जब प्रशासकों की समिति (सीओए) ने बीसीसीआई को भारतीय टीम की घोषणा करने का हुक्म दिया। हालांकि सीओए ने बीसीसीआई द्वारा राजस्व मसले को लेकर आगामी सात मई को आयोजित होने वाली बीसीसीआई की विशेष बैठक को संचालन करने पर किसी प्रकार का कोई एतराज नहीं जताया है। सीओए के मुताबिक राजस्व मसले को लेकर बीसीसीआई आईसीसी से भले ही गतिरोध जारी रखे पर चैंपियंस ट्राफी के लिए भारतीय टीम की पहले घोषणा कर दे।

बिग थ्री फॉर्मूला रहा गतिरोध का बड़ा कारण

दरअसल, बीसीसीआई और आईसीसी के बीच बिग थ्री फॉर्मूले को लेकर बहस छिड़ी थी। इस मुद्दे को लेकर दोनों बोर्ड के अधिकारियों के बीच कई बार बहस और बातचीत हुई, पर कोई निष्कर्ष नहीं निकल पाया। ’बिग थ्री’ फॉर्मूले के तहत भारत, ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड को आईसीसी के राजस्व का बड़ा हिस्सा मिलता है। इस मॉडल का समर्थन करने के लिए एक तिहाई सदस्यों की आवश्यकता होती है। पर बीसीसीआई इस मसले पर आईसीसी की बैठक में हुए चुनाव में 1-9 से हार गया था।

 

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

स्वार्थी दुनिया में वफादारी की मिसाल है मेडिसन

सैन फ्रांसिस्को : उत्तरी कैलिफोर्निया के जंगलों में भीषण आग लगने के करीब एक महीने बाद एक हैरान कर देने वाला वाकया सामने आया है जिसमें आग में सबकुछ राख होने के बावजूद एक कुत्ता अपने क्षतिग्रस्त घर की रखवाली [Read more...]

माल्या के प्रत्यर्पण की सुनवाई के लिए सीबीआई टीम लंदन रवाना

नई दिल्ली : शराब कारोबारी विजय माल्या के प्रत्यर्पण की मामले में सीबीआई के संयुक्त निदेशक एस साईं मनोहर के नेतृत्व में अधिकारियों की टीम रविवार को लंदन रवाना हुई। इस मामले के सुनवाई सोमवार को लंदन में वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट [Read more...]

मुख्य समाचार

मुकेश अंबानी की बेटी के वैवाहिक कार्यक्रम में पहुंचीं नामी गिरामी हस्तियां

हॉलीवुड सिंगर बियोंसे सहित अन्य ने अपनी प्रस्तुतियां दीं उदयपुर : देश के प्रमुख उद्योगपति मुकेश अंबानी की बेटी ईशा के वैवाहिक कार्यक्रम में शामिल लेने के लिए देश दुनिया की प्रमुख हस्तियों रविवार को उदयपुर पहुंचीं। हॉलीवुड सिंगर बियोंसे सहित [Read more...]

भारत ने सत्तर के दशक में पूर्ण कंप्यूटरीकृत कर प्रणाली का मौका गंवाया

‘द टाटा ग्रुपः फ्रॉम टार्चबियरर्स टु ट्रेलब्लेजर्स’ में दावा नयी दिल्लीः सत्तर के दशक के आखिर में पूर्ण कंप्यूटरीकृत कर प्रशासन प्रणाली [Read more...]

ऊपर