चेन्‍नई के कप्‍तान धोनी ने कहा, उम्र तो बस एक नंबर है

 मुंबई : चेन्नई सुपरकिंग्स को तीसरी बार आईपीएल खिताब दिलवाने वाले महेंद्र सिंह धोनी ने विपक्षी टीमों में युवा और अधिक फुर्तीले खिलाड़ियों की मौजूदगी के बावजूद अपने अनुभवी उम्रदराज चेहरों पर भरोसा जताया और चैंपियन बनने के बाद कहा कि उनके लिये उम्र केवल एक नंबर है और यह सफलता के लिये कोई पैमाना नहीं हो सकती।
चेन्नई सुपरकिंग्स ने मुंबई के वानखेड़े मैदान पर सनराइजर्स हैदराबाद को आठ विकेट से हराकर तीसरी बार इंडियन प्रीमियर लीग ट्वंटी 20 टूर्नामेंट का चैंपियन बना दिया। चेन्नई की टीम के लिये खिताबी मुकाबले में उसके अनुभवी 36 साल के आस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर शेन वाटसन मैन ऑफ द मैच बने जिन्होंने 11 चौकों और आठ छक्कों से सजी नाबाद 117 रन की मैच विजेता धुआंधार पारी खेली। टीम की जीत में कप्तान और विकेटकीपर 36 साल के धोनी की अहम भूमिका है जो करियर के आखिरी पड़ाव पर हैं और भारतीय टीम में कप्तानी के साथ टेस्ट क्रिकेट को भी छोड़ चुके हैं। इसके अलावा टीम को अहम मौकों पर जीत दिलाने में 33 साल के फाफ डू प्लेसिस और फाइनल में नाबाद 16 रन बनाने वाले 33 साल के अंबाटी रायुडू की भी अहम भूमिका रही है। रायुडू 16 मैचों में 602 रन के साथ चेन्नई के शीर्ष स्कोरर भी रहे हैं। वहीं 31 साल के सुरेश रैना (445) चौथे सबसे सफल स्कोरर रहे। क्रिकेट के सबसे चतुर खिलाड़ी माने जाने वाले टीम के कप्तान ने कहा कि हम अपनी गलतियों से वाकिफ थे। यदि वाटसन डाइव करते तो वह निश्चित ही चोटिल हो जाते, हम ऐसा नहीं चाहते थे। हम इन बातों के बारे में जानते हैं। लेकिन मैं अभी भी मानता हूं कि उम्र केवल एक नंबर ही है। आपके लिये फिट रहना बहुत जरूरी है।’ वर्ष 2010, 2011 और 2018 में अपनी टीम चेन्नई को चैंपियन बनाने वाले धोनी ने टूर्नामेंट में कमाल की बल्लेबाजी की और 16 मैचों में 150.66 के स्ट्राइक रेट से 455 रन बनाये जो टीम का तीसरा सर्वाधिक स्कोर रहा। इसमें तीन अर्धशतक भी शामिल हैं। उन्होंने साथ ही कहा कि बहुत से लोगों ने नंबर और आंकड़ों की बात की। फाइनल 27 तारीख को हुआ, मेरी जर्सी का नंबर भी सात है और यह चेन्नई का सातवां फाइनल भी है, लेकिन प्रदर्शन से फर्क पड़ता है।’ हमने पहले फील्‍डिंग की और उसी हिसाब से योजना भी बनाई थी। इसके अलावा हमारे बल्लेबाजों ने कमाल का खेल दिखाया। लेकिन हमें पता था कि हैदराबाद के पास जितने राशिद खान खतरनाक हैं उतने ही भुवनेश्वर कुमार भी हैं।’ धोनी ने तीन खिताबों में से किसी एक को खास नहीं बताया और माना कि सभी उनके लिये अहम हैं। धोनी ने साथ ही कहा कि उनकी टीम अब चेन्नई जाकर अपने प्रशंसकों से मिलेगी और उनका धन्यवाद करेगी।

Leave a Comment

अन्य समाचार

भारतीय स्पिनरों के सामने होंगे पाकिस्तान के तेज गेंदबाज, कौन पड़ेगा भारी ?

नई दिल्लीः पूरी दुनिया में फैले क्रिकेट के प्रशंसकों को इंतजार है 19 सितंबर का जब एशिया कप में भारत का सामना चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान से होगा। सदियों से पाकिस्तान के तेज गेंदबाज मैदान मारने की कोशिश करते हैं। वहीं [Read more...]

आस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम को स्म‌िथ ही जरूरतः वा

वार्नर की राह मुश्‍किल हो सकती है सिडनीः आस्ट्रेलिया टीम के पूर्व कप्तान स्टीव वा का मानना है कि आस्ट्रेलियाई क्रिकेट को दागी पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ [Read more...]

मुख्य समाचार

ब्रिटिश गोताखोर ने एलन मस्क पर किया मानहानि मुकदमा

कैलिफोर्नियाः थाईलैंड की गुफा में फंसे बच्चों को बचाने वाले ब्रिटिश गोताखोर वर्नोन अनस्वोर्थ ने अब इलेक्ट्रिक कार कंपनी टेस्ला के सीईओ एलन मस्क के खिलाफ 75,000 डॉलर (54 लाख 40 हजार रुपए) का मानहानि का मुकदमा किया है। अनस्वोर्थ [Read more...]

पूर्व सीएफओ से केस हारी इंफोसिस, अब ब्याज सहित देने होंगे 12.17 करोड़

नई दिल्लीः भारत की दूसरी सबसे बड़ी आईटी कंपनी इंफोसिस मंगलवार को आर्बिट्रेशन केस हार गई है। अब उसे पूर्व सीएफओ राजीव बंसल को 12.17 करोड़ रुपये और ब्याज चुकाने होंगे। दरअसल, इंफोसिस के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी विशाल सिक्‍का के कार्यकाल [Read more...]

ऊपर