चेन्‍नई के कप्‍तान धोनी ने कहा, उम्र तो बस एक नंबर है

 मुंबई : चेन्नई सुपरकिंग्स को तीसरी बार आईपीएल खिताब दिलवाने वाले महेंद्र सिंह धोनी ने विपक्षी टीमों में युवा और अधिक फुर्तीले खिलाड़ियों की मौजूदगी के बावजूद अपने अनुभवी उम्रदराज चेहरों पर भरोसा जताया और चैंपियन बनने के बाद कहा कि उनके लिये उम्र केवल एक नंबर है और यह सफलता के लिये कोई पैमाना नहीं हो सकती।
चेन्नई सुपरकिंग्स ने मुंबई के वानखेड़े मैदान पर सनराइजर्स हैदराबाद को आठ विकेट से हराकर तीसरी बार इंडियन प्रीमियर लीग ट्वंटी 20 टूर्नामेंट का चैंपियन बना दिया। चेन्नई की टीम के लिये खिताबी मुकाबले में उसके अनुभवी 36 साल के आस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर शेन वाटसन मैन ऑफ द मैच बने जिन्होंने 11 चौकों और आठ छक्कों से सजी नाबाद 117 रन की मैच विजेता धुआंधार पारी खेली। टीम की जीत में कप्तान और विकेटकीपर 36 साल के धोनी की अहम भूमिका है जो करियर के आखिरी पड़ाव पर हैं और भारतीय टीम में कप्तानी के साथ टेस्ट क्रिकेट को भी छोड़ चुके हैं। इसके अलावा टीम को अहम मौकों पर जीत दिलाने में 33 साल के फाफ डू प्लेसिस और फाइनल में नाबाद 16 रन बनाने वाले 33 साल के अंबाटी रायुडू की भी अहम भूमिका रही है। रायुडू 16 मैचों में 602 रन के साथ चेन्नई के शीर्ष स्कोरर भी रहे हैं। वहीं 31 साल के सुरेश रैना (445) चौथे सबसे सफल स्कोरर रहे। क्रिकेट के सबसे चतुर खिलाड़ी माने जाने वाले टीम के कप्तान ने कहा कि हम अपनी गलतियों से वाकिफ थे। यदि वाटसन डाइव करते तो वह निश्चित ही चोटिल हो जाते, हम ऐसा नहीं चाहते थे। हम इन बातों के बारे में जानते हैं। लेकिन मैं अभी भी मानता हूं कि उम्र केवल एक नंबर ही है। आपके लिये फिट रहना बहुत जरूरी है।’ वर्ष 2010, 2011 और 2018 में अपनी टीम चेन्नई को चैंपियन बनाने वाले धोनी ने टूर्नामेंट में कमाल की बल्लेबाजी की और 16 मैचों में 150.66 के स्ट्राइक रेट से 455 रन बनाये जो टीम का तीसरा सर्वाधिक स्कोर रहा। इसमें तीन अर्धशतक भी शामिल हैं। उन्होंने साथ ही कहा कि बहुत से लोगों ने नंबर और आंकड़ों की बात की। फाइनल 27 तारीख को हुआ, मेरी जर्सी का नंबर भी सात है और यह चेन्नई का सातवां फाइनल भी है, लेकिन प्रदर्शन से फर्क पड़ता है।’ हमने पहले फील्‍डिंग की और उसी हिसाब से योजना भी बनाई थी। इसके अलावा हमारे बल्लेबाजों ने कमाल का खेल दिखाया। लेकिन हमें पता था कि हैदराबाद के पास जितने राशिद खान खतरनाक हैं उतने ही भुवनेश्वर कुमार भी हैं।’ धोनी ने तीन खिताबों में से किसी एक को खास नहीं बताया और माना कि सभी उनके लिये अहम हैं। धोनी ने साथ ही कहा कि उनकी टीम अब चेन्नई जाकर अपने प्रशंसकों से मिलेगी और उनका धन्यवाद करेगी।

Leave a Comment

अन्य समाचार

भारतीय महिला टीम की नजरें विश्व टी20 सेमीफाइनल पर

गुयानाः सेमीफाइनल पर नजरें टिकाए बैठा भारत गुरुवार को आयरलैंड के खिलाफ होने वाले आईसीसी महिला विश्व टी20 के ग्रुप बी लीग मैच में जीत के प्रबल दावेदार के रूप में उतरेगा। भारतीय टीम अच्छी लय में चल रही है [Read more...]

सिंधू, समीर हांगकांग ओपन के दूसरे दौर में

कोवलूनः ओलंपिक रजत पदक विजेता पीवी सिंधू और समीर वर्मा ने विपरीत हालात में जीत के साथ बुधवार को हांगकांग ओपन विश्व टूर सुपर 500 बैडमिंटन टूर्नामेंट के दूसरे दौर में जगह बनाई। तीसरी वरीय सिंधू ने अपना शानदार प्रदर्शन [Read more...]

मुख्य समाचार

विमान में शराब नहीं परोसी तो गालियां देने लगी महिला यात्री

मुंबई : एयर इंडिया के मुंबई से लंदन जा रहे विमान के बिजनेस क्लास से यात्रा कर रही नशे में धुत आयरिश महिला यात्री ने बदसलूकी की। जानकारी के अनुसार महिला यात्री ने एक क्रू सदस्य को थप्पड़ भी मारा। [Read more...]

तकनीक की मदद से भारत ने लंबी छलांग लगाईः मोदी

सिंगापुरः भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सिंगापुर में आयोजित फिनटेक संबोधन में बुधवार को कहा कि तकनीक के क्षेत्र में कुछ दशकों में भारत ने लंबी छलांग लगाई है। आज तकनीक लोगों के लिए अवसर पैदा कर रही है। सिंगापुर तकनीक [Read more...]

ऊपर