ग्लेन मैक्सवेल ने पाक कैप्टन सरफराज से नहीं मिलाया हाथ

हरारे : जिम्बाब्वे में पाकिस्तान, ऑस्ट्रेलियाऔर मेजबान देश के बीच खेली गई टी-20 त्रिकोणीय सीरीज को पाकिस्तान ने जीत लिया। रविवार को खेले गये फाइनल में पाकिस्तान की जीत के साथ-साथ ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी ग्लेन मैक्सवेल के बर्ताव की भी जोर शोर से चर्चा हो रही है। मैच के बाद का एक विडियो वायरल हो रहा है जिसमें दिख रहा है कि मैक्सवेल और पाकिस्तान के कैप्टन सरफराज खान आपस में हाथ मिलाए बिना आगे बढ़ गये। इस विडियो को देखने के बाद लोग मैक्सवेल की निंदा कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि मैक्सवेल ने खेल भावना का अपमान किया है। पाकिस्तानी प्रशंसकों के साथ-साथ वहां के खेल पत्रकारों ने भी मैक्सवेल के इस बर्ताव की आलोचना की है। हालांकि, अभी यह साफ नहीं है कि मैक्सवेल ने जानबूझकर सरफराज से हाथ नहीं मिलाया या फिर यह बस अनजाने में हुआ। सरफराज ने अपनी तरफ से इस मुद्दे पर कोई बयान नहीं दिया हैं। उल्‍लेखनीय है कि फख्र जमान (91) और शोएब मलिक (नाबाद 43) के बीच चौथे विकेट के लिए हुई 107 रन की शतकीय साझेदारी की बदौलत पाकिस्तान ने ऑस्ट्रेलिया को छह विकेट से हराकर सीरीज अपने नाम कर ली।

Leave a Comment

अन्य समाचार

किसान की बेटी, भारत की ‘उड़नपरी’

फिनलैंडः हिमा दास ने फिनलैंड में चल रही वर्ल्ड अंडर-20 एथलेटिक्स चैम्पियनशिप के 400 मीटर ट्रैक इवेंट में स्वर्ण पदक जीता। दुनिया के किसी भी ट्रैक इवेंट में स्वर्ण जीतने वाली वे पहली भारतीय हैं। रोमानिया की एंड्रिया मिकलोस को [Read more...]

आईपीएल में उतरेंगे ‘मिस्टर 360’

नई दिल्ली: क्रिकेट जगत के महान बल्लेबाज 'मिस्टर 360' के नाम से प्रचलित एबी डिविलियर्स ने अचानक अंतरराष्ट्रीय क्रिकट से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद से उम्मीदें लगाई जा रही थी कि वे अन्य प्रतियोगिताओं में भी हिस्सा नहीं [Read more...]

मुख्य समाचार

अफगान में आत्मघाती हमला, 7 मरे, 15 जख्मी

काबुलः अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में रविवार की शाम शाम करीब 4.30 बजे ग्रामीण पुनर्वास और विकास मंत्रालय के गेट के बाहर एक हमलावर ने खुद को विस्फोटक से उड़ा लिया। इस आत्मघाती हमले में आम लोग एवं सुरक्षाकर्मी समेत [Read more...]

भगवान जगन्नाथ का रथ गुंडिचा मंदिर पहुंचा

पुरीः भगवान जगन्नाथ का ‘नंदीघोष’ रथ रविवार को गुंडिचा मंदिर पहुंच गया। रथ यात्रा के दौरान शनिवार को बालागंडी चक पर इस रथ को रोकना पड़ा और उस दिन रथयात्रा पूरी नहीं हुई क्योंकि सूर्यास्त के बाद रथों को नहीं [Read more...]

ऊपर