इन पांच कारणों से बंगलुरु में हारी विराट की सेना

India Australia 4th ODI , Australia defeat India, भारत-ऑस्ट्रेलिया चौथा वनडे, ऑस्ट्रेलिया ने भारत को हराया, भारत हारा

कोलकाताः चौथे एकदिवसीय मैच में ऑस्ट्रेलिया के हाथों हारने के साथ ही भारत के कई सपने टूट गए। विराट की सेना लगातार 9 वनडे जीत चुकी थी और 10वां वनडे जीतकर एक नया इतिहास रचना चाहती थी, लेकिन ऑस्ट्रेलिया की दमदार पारी ने इस पर पानी फेर दिया। 335 रनों का पीछा करने उतरी टीम इंडिया 21 रनों से हार गई। हालांकि सीरीज को भारत पहले ही 3 मैच के साथ जीत चुका है, लेकिन उसका क्लीन स्वीप का सपना चकनाचूर हो गया। अब इस सीरीज का रिकॉर्ड 3-1 हो गया है। आखिर ऐसा क्या हुआ कि लगातार धुआंदार प्रदर्शन कर रही टीम इंडिया इस मैच में वैसा कारनामा नहीं कर पाई? दरअसल, कुछ ऐसे कारण रहे, जिस कारण भारत हारा, आइए जानते हैं कौन से कारण थे वे –

पहला कारण – फेल हो गए स्पिनर

भारत ऑस्ट्रेलिया के बीच चल रही वनडे सीरीज में अब तक भारतीय गेंदबाजों ने कमाल का प्रदर्शन किया था। यहां तक कि चाइनामैन के नाम से मशहूर कुलदीप ने तो पिछले मैच में हैट्रिक लेकर एक नया कीर्तिमान रच डाला था। लेकिन चौथे वनडे में बंगलुरु के मैदान पर स्पिनर पूरी तरह बेबस नजर आए। फ्लैट पिच पर अक्षर पटेल और युजवेंद्र चहल को तो एक भी विकेट नहीं मिल पाया। इन  दोनों गेंदबाजों ने 120 रन भी लुटा डाले, जो ऑस्ट्रेलिया के कुल स्कोर का एक तिहाई से भी अधिक है। अक्षर पटेल ने जहां 10 ओवर में 66 रन दिए तो चहल ने 8 ओवरों में 54 रन खर्च कर डाले, वह भी बिना किसी विकेट के। हालांकि भारत को पहली बड़ी सफलता भी एक स्पिनर ने ही दिलाई थी, लेकिन वह पार्टटाइम स्पिनर माना जाता है। पहला झटका केदार जाधव ने ऑस्ट्रेलिया को दिया था।

दूसरा कारण – मामूली सी गलती पर रोहित का चले जाना 

यह एक तरह से मैच का टर्निंग प्वाइंट था। रोहित शर्मा जमकर खेल रहे थे। अजिंक्य रहाणे और रोहित शर्मा ने शानदार शुरुआत करते हुए भारत को 106 रन तक पहुंचा दिया था, तभी भारत को रहाणे के रूप में पहला झटका लगा। इसके बाद कोहली मैदान पर आए। तब रोहित शर्मा अर्धशतक बना चुके थे और उनसे उम्मीद थी कि वे अब जमकर खेलेंगे। तभी कोहली ने एक शॉट खेला जो सीधे फिल्डर के हाथों में गया, इसके बावजूद रोहित ने रन लेना चाहा। कोहली भी आधी दूरी तक भागे, लेकिन फिर वापस लौट गए। यहां दोनों के बची तालमेल नहीं बना और यह गलती भारत को बहुत भारी पड़ी। दोनों बैट्समैन एक ही छोर पर पहुंच गए। इसके बाद रोहित वापस भागे, लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। इस समय रोहित 55 गेंद पर 65 रन बनाकर क्रीज पर जमे थे। टीम के कुल 135 रन के स्कोर पर गिरा यह विकेट भारत को बहुत भारी पड़ा। हालांकि इसके बाद विराट भी ज्यादा देर तक नहीं खेल पाए और मात्र 21रन बनाकर चलते बने।

तीसरा कारण – वार्नर का शतक और पहाड़ सा स्कोर

भारत की हार का तीसरा बड़ा कारण रहा  ऑस्ट्रेलिया के ओपनिंग बल्लेबाज डेविड वार्नर को कंट्रोल न कर पाना। अपने 100वें वनडे में डेविड वार्नर ऐसे तूफानी पारी खेल रहे थे मानो टी-20 का मैच हो। इसके बावजूद उनके सामने सारे भारतीय गेंदबाज बेबस नजर आए। डेविड वार्नर ने 124 रनों की शानदार पारी खेली और दूसरे सलामी बल्लेबाज आरोप फिंच के साथ मिलकर 200 रनों से अधिक की साझेदारी कर डाली। 12 चौकों और 4 छक्के लगाने वाले वार्नर के शतक के दम पर ही ऑस्ट्रेलिया 334 रनों का बड़ा स्कोर खड़ा कर पाया।

चौथा कारण – दो बड़े गलत फैसले करना 

भारतीय टीम ने चौथे वनडे में दो बड़े फैसले लिए जो बाद में गलत साबित हुए। पहला फैसला था – तीन नए गेंदबाजों को उतारना। यह एक तरह से एक्सपेरिमेंट था, जो असफल साबित हुआ। कोहली का दूसरा फैसला बै​टिंग ऑर्डर में बदलाव करना भी आखिरकार गलत साबित हुआ। कोहली ने हार्दिक पंड्या को चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने के लिए मैदान पर उतारा। हालांकि पंड्या ने अच्छा खेल दिखाया और 41 रन भी बनाए, लेकिन महेंद्र सिंह धोनी को उतारने में बहुत देर कर दी। धोनी को कोहली ने 7वें नंबर पर मैदान पर उतारा। जिस समय धोनी को उतारा, उस समय भारत को 4 ओवर में 49 रन की जरूरत थी। यानी हर गेंद पर 2 रन कम से कम चाहिए थे। इसी कारण शायद धोनी भी उस तरह से खुलकर नहीं खेल पाए, जैसे अकसर वह खेलते हैं। दबाव भारी पड़ा और भारत को मैच गंवाना पड़ा।

पांचवां कारण – दिग्गजों का न चल पाना

भारत की हार का आखिरी बड़ा कारण रहा दिग्गज बल्लेबाजों का न चल पाना। पहले छह नंबर पर उतारे गए बल्लेबाजों में से कोई भी 70 का आंकड़ा भी नहीं छू पाया जबकि ऑस्ट्रेलिया के एक सलामी बल्लेबाज ने 124 रन बनाए और दूसरे ने 94 रन। हालांकि रहाणे और रोहित ने शानदार शुरुआत की और दोनों ने अर्धशतक जड़कर भारत का स्कोर 100 के पार पहुंचाया, लेकिन उसके बाद कोहली का 21 रन पर चले जाना, पंड्या का 41 पर आउट होना और मनीष पांडे का 33 रन पर वापस लौटना भारत को भारी पड़ा। केदार जाधव ने फिर भी अच्छा खेल दिखाया और सर्वाधिक 67 रन अपनी झोली में डाले।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

यूपी में बकरीद पर नहीं होगी गोवंश पशुओं की कुर्बानी, मुख्यमंत्री ने दिया निर्देश

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को अपने सरकारी आवास पर ईद-उल-अजहा त्योहार के संबंध में वीडियो कांन्फ्रेसिंग के माध्यम से पुलिस प्रशासन के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए सर्तक रहने के कहा। मुख्यमंत्री ने निर्देश [Read more...]

प्रधानमंत्री को अपमानजनक शब्द कहने वाले पूर्व केंद्रीय मंत्री मणिशंकर अय्यर को कांग्रेस ने उनकी सदस्यता बहाल की

नईदिल्ली : कांग्रेस ने शनिवार को पिछले साल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ अशोभनीय एवं विवादित टिप्पणी करने वाले पूर्व केंद्रीय मंत्री मणिशंकर अय्यर का निलंबन रद्द करते हुए उनकी सदस्यता बहाल कर दी है। कांग्रेस ने पूर्व केंद्रीय मंत्री [Read more...]

अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद का खास जबीर मोती लंदन में गिरफ्तार, डी कंपनी का हिसाब देखता था मोती

सिद्धू ने लगाया नारा, सीनेटर ने कहा कि सिद्धू को कहा कि पाकिस्तान से लड़े चुनाव

जीयो कंपनी लायी है गीगा फाइबर हाई-स्पीड ब्रॉडबैंड सेवा, देशभर में एचडी वीडियो कॉलिंग हो सकेगी फ्री बात

संयुक्त राष्ट्र के पूर्व महासचिव कोफी अन्नान का निधन, शांति प्रयासों के लिए जाने जाते है अन्नान

बालिका गृह कांडः मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर सहित अन्य की कोर्ट में पेशी, कहा-जेल में उसकी जान को खतरा

आधे से ज्यादा केरल अब भी जल में, मदद के लिए आगे आए कई राज्य, अलर्ट अब भी जारी

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश के खुल रहे होटल को हाईकोर्ट ने दिया झटका

भारत रत्न के सम्मान में मॉरीशस ने झुकाया अपना राष्ट्रीय ध्वज

मुख्य समाचार

संवाद एजेंसी के कार्यालय में तोड़फोड़

श्रीनगरः उच्च सुरक्षा वाले क्षेत्र 3-एक्सचेंज रोड स्थित भारत की संवाद समिति यूएनआई के कार्यालय में शनिवार-रविवार की दरम्यानी रात अज्ञात बदमाशों ने कई कमरों और कुछ दराजों के ताले तोड़ दिये, फाइलें और दस्तावेज भी खोले। हालांकि घटना की [Read more...]

सिग्नेचर ब्रिज के ग्लास बॉक्स से होगा शहर का दीदार

नयी दिल्लीः यमुना पर बने बहुप्रतीक्षित सिग्नेचर ब्रिज को 31 अक्टूबर तक लोगों के लिए खोला जाएगा। पर्यटकों के लिए यह आकर्षण का केंद्र होगा। इस पुल पर 154 मीटर की ऊंचाई पर एक ग्लास बॉक्स होगा जिससे शहर का [Read more...]

ऊपर