अमरनाथ यात्रियों पर हमला करने वाले आतंकियों का हुआ सफाया

नई दिल्लीः जम्मू कश्मीर के काजीगुंड मुठभेड़ में लश्कर के 2 पाकिस्तानी और एक स्‍थानीय आतंकी के मारे जाने के साथ ही पुलिस ने मंगलवार को अमरनाथ यात्रियों पर हमला करने वाले लश्कर के गुट का सफाया कर दिया। इस बारे में पुलिस ने दावा भी किया है। सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ के दौरान जान बचाने के लिए अनंतनाग स्थित मैटर्निटी अस्पताल में छिपे एक अन्य आतंकी को भी जिंदा पकड़ लिया है जबकि पांचवें की तलाश जारी है।
दो आतंकी गत शाम ही मारे गए थे, जबकि तीसरे आतंकी यावर का शव आधी रात के बाद करीब दो बजे ही बरामद हुआ है।
गौरतलब है कि गत दोपहर को आतंकियों ने श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग पर बोनीगाम काजीगुंड में जम्मू से श्रीनगर तरफ आ रहे सैन्य काफिले पर हमला किया था। इस हमले में तीन सैन्यकर्मी जख्मी हुए थे, जिनमें से एक बाद में अस्पताल में अपने जख्मों के ताव न सहते हुए चल बसा था। इस बीच, अन्य जवानों ने आतंकियों का पीछा कर उन्हें मुठभेड़ में उलझा लिया था।
दो आतंकी पाकिस्तानी आतंकी फुरकान और अब माविया गत शाम ही मारे गए थे। उनके स्थानीय साथी यावर के भी मारे जाने का दावा किया जा रहा था। लेकिन देर रात गए तक उसका शव नहीं मिलने के कारण और एक आतंकी द्वारा फायरिंग किए जाने के बाद सुरक्षाबलों को लगा था कि वह जिंदा है और वही फायर कर रहा है।
अलबत्ता, सोमवार को आधी रात के बाद करीब दो बजे गोलयों की बौछार पूरी तरह बंद होने के बाद जवानों ने जब तलाशी ली तो उन्हें हबलश कुलगाम के रहने वाले आतंकी यावर बशीर का गोलियों से छलनी शव मिला। वह इसी साल फरवरी माह के दौरान एक सुरक्षाकर्मी से उसका हथियार छीनने के बाद लश्कर में शामिल हुआ था। इस बीच, सुरक्षाबलों को पता चला कि मारे गए आतंकियों का दो साथी मुठभेड़ के दौरान जान बचाने के लिए आतंकी समर्थक भीड़ के पथराव की आड़ ले अनंतनाग मैटर्निटी अस्पताल में जाकर छिप गएं। सुरक्षाबलों ने तुरंत अस्पताल में दबिश दी और वहां से एक ही आतंकी पकड़ा गया। फिलहाल, उसके दूसरे साथी की तलाश की जा रही है।

पुलिस के अनुसार, अस्पताल से पकड़ा गया आतंकी संगम बीजबेहाड़ा के साथ हमजापोरा का रहने वाला रशीद अहम अलेई है। वह दो साल पहले ही आतंकी बना था और लश्कर के यावर गुट में शामिल हुआ था। उसके पास से एक चाईनीज पिस्तौल और एक भरी हुई पिस्टल मैगजीन मिली है। उसके दूसरे साथी की तलाश की जा रही है।

हथियार लूटने के वारदात को अंजाम देने वाले थे आतंकी
पूछताछ में रशीद ने बताया कि वह गत रोज सैन्य काफिले पर हमले के समय यावर और फुरकान के साथ ही था। मुठभेड़ के समय वह अपने एक अन्य साथी के साथ बच निकला था। वह अगर पकड़ा नहीं जाता तो वह अपने साथी के साथ सुरक्षाबलों से हथियार लूटने की एक वारदात को अंजाम देने वाला था। इस बीच, राज्य पुलिस महानिदेशक डा. एसपी वैद ने मंगलवार की सुबह यावर के मारे जाने और एक आतंकी के जिंदा पकड़े जाने की पुष्टि करते हुए बताया कि फुरकान,अबु माविया और यावर के मारे जाने के साथ ही इस साल 10 जुलाई को श्री अमरनाथ यात्रयों पर हमला करने में लिप्त यावर और उसके सभी साथी मारे गए हैं। आतंकी हमले में आठ श्रद्धालुओं की मौत हुई थी। हमले का मुख्य सूत्रधार अबु इस्माईल गत सितंबर माह में श्रीनगर के बाहरी क्षेत्र नौगाम में मारा गया था। उसके मारे जाने के बाद दक्षिण कश्मीर में लश्कर ने फुरकान को अपना डिविजनल कमांडर बनाया था।

Leave a Comment

अन्य समाचार

जीयो कंपनी लायी है गीगा फाइबर हाई-स्पीड ब्रॉडबैंड सेवा, देशभर में एचडी वीडियो कॉलिंग हो सकेगी फ्री बात

नईदिल्ली : मुकेश अंबानी की कंपनी ने जियो गीगा फाइबर हाई-स्पीड ब्रॉडबैंड सेवाएं 15 अगस्त को लॉन्च करने की योजना थी, लेकिन अभी तक लॉन्च नहीं हुआ अभी तक यह भी स्पष्ट नहीं है कि इस सेवा को कब तक [Read more...]

संयुक्त राष्ट्र के पूर्व महासचिव कोफी अन्नान का निधन, शांति प्रयासों के लिए जाने जाते है अन्नान

स्विटजरलैंड : संयुक्त राष्ट्र के पूर्व महासचिव और नोबेल पुरस्कार से सम्मानित कोफी अन्नान का शनिवार की सुबह स्विटजरलैंड में निधन हो गया। कोफी अन्नान 80 वर्ष के थे। अन्नान के निधन की सूचना उनके आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर एक पोस्ट [Read more...]

मुख्य समाचार

एशियाई खेल : 79 साल की रीता ताश के पत्‍ते से जीतना चाहती है सोना

नयी दिल्ली : भारत ने इंडोनेशिया में चल रहे 18वें एशियाई खेलों में भारत ने 570 खिलाड़ियों का बड़ा जत्था भेजा है उसमें एक महिला प्रतिभागी ऐसी भी हैं जो 79 साल की उम्र में अपना दांव आजमाएंगी। सुनकर हैरान [Read more...]

ढाबे में काम करने वाली कविता ने कबड्डी टीम में जगह बनायी

नयी दिल्‍ली : इंडोनेशिया में शुरु हो चुके एशियाई खेलों में देश को कबड्डी टीम से स्‍वर्ण की काफी उम्‍मीद है। अपने मेहनत के दम पर भारतीय महिला कबड्डी टीम में जगह बनाने वाली कविता की कहानी संघर्ष भरी है। [Read more...]

ऊपर