लाइलाज नहीं है कैंसर, समय पर जानकारी से बच सकती है जान

नारायणा हैल्थ द्वारा संचालित धर्मशिला नारायणा सुपरस्पेशलिटी अस्पताल ने विश्व कैंसर दिवस के अवसर पर ‘चेतना – एक पहल विजेताओं द्वारा’ नाम से कार्यक्रम का आयोजन किया। यह कार्यक्रम कैंसर जैसी बीमारी से इलाज के बाद आम जीवन जी रहे लोगों और विशेषज्ञ डॉक्टरों के साथ कैंसर के बारे में जागरूकता पैदा करने की पहल के तहत आयोजित किया गया।

कैंसर के इन मरीजों ने कैंसर का पता लगने से लेकर कैंसर जैसी बीमारी को मात देने तक की रोगियों की यात्रा को दर्शाते हुए स्कीट और नृत्य के विभिन्न कार्यक्रम प्रस्तुत किए। इस अवसर पर कुछ प्रसिद्ध कैंसर सरवाइवर भी उपस्थित थे, जिनमें ओपल रावत, शन्नो और अन्य शामिल हैं, जिन्होंने कैंसर रोगियों के मनोबल को बढ़ाने का प्रयास किया। इस कार्यक्रम में कैंसर से बच कर बाहर निकले लोगों ने अपनी सफलता की दास्तान सुनाई और दूसरे मरीजों को प्रेरित किया और बताया कि कैंसर के बाद भी जीवन है। इस कार्यक्रम में डॉ कनिका शर्मा, सीनियर कंसल्टेंट, रेडिएशन ऑन्कोलॉजी और डाॅ सतेंद्र कौर, सीनियर कंसल्टेंट, गाइना ऑन्कोलॉजी के नेतृत्व में अस्पताल के चिकित्सकों की अनुभवी टीम भी शामिल हुई।

इस मौके पर डॉ. कनिका शर्मा, सीनियर कंसल्टेंट, रेडिएशन ऑन्कोलॉजी, धर्मशिला नारायणा सुपरस्पेशलिटी हॉस्पिटल ने कहा कि इससे पहले मिथक यह था कि कैंसर एक लाइलाज बीमारी है और मरीज फिर से अपने सामान्य जीवन शुरू नहीं कर सकते, लेकिन व्यक्ति में इच्छाशक्ति हो तो वह न केवल तेजी से ठीक हो सकता है, बल्कि इस रोग की रोकथाम भी हो सकता है, जो धीरे-धीरे एक महामारी का रूप लेता जा रहा है। ‘चेतना’ इसी दिशा में हमारा एक प्रयास है, जिसका उद्देश्य कैंसर की जल्द पहचान करने और कैंसर की रोकथाम के प्रति जागरूकता फैलाना है। इस कार्यक्रम के दौरान कैंसर के सामान्य लक्षणों और संकेतों के बारे में लोगों को जानकारी दी गई और यह भी बताया गया कि किस तरह की जीवन शैली को अपनाकर हम कैंसर से बचे रह सकते हैं।

इन कारणों से हो सकता है कैंसर

विशेषज्ञों ने बताया कि तम्बाकू का उपयोग, अधिक वजन या मोटापा, कम फल या सब्जी का सेवन, कम या कोई शारीरिक गतिविधि नहीं, शराब का उपयोग, एचपीवी संक्रमण का यौन संचरण, शहरी क्षेत्रों में वायु प्रदूषण, इनडोर धुआं, आनुवंशिक रूप से जोखिम वाले कारक, सूर्य के प्रकाश के अधिक संपर्क में होने से भी कैंसर हो सकता है। लोगों को ह्यूमन पेपिलोमा वायरस और हेपेटाइटिस बी वायरस के खिलाफ टीकाकरण पद्धति के बारे में भी जागरूक किया गया। डॉ सतिंदर कौर, सीनियर कंसल्टेंट, गाइना ऑन्कोलॉजी, धर्मशिला नारायणा सुपरस्पेशिलिटी हॉस्पिटल ने कहा कि कैंसर को लेकर नकारात्मक धारणा के कारण अक्सर कैंसर रोगी असहाय और निराशाजनक नजर आते हैं। ‘चेतना’ जैसे आयोजनों का उद्देश्य ऐसे रोगियों में अंदरूनी आत्मविश्वास को फिर से लौटाने में मदद करना है।

विश्व कैंसर दिवस हर साल विश्व स्वास्थ्य संगठन, संयुक्त राष्ट्र, सरकारी और गैर-सरकारी स्वास्थ्य संगठनों द्वारा कैंसर से लड़ने के लिए रणनीति बनाने के प्रयासों के तहत मनाया जाता है। इस दौरान वैश्विक स्तर पर सभी लोगों को एक दिन एकजुट करके इस महामारी से बचने और इसके एहतियाती उपायों सहित उसके उपचार के बारे में संदेश दिया जाता है। विश्व कैंसर दिवस 2018 का विषय है- वी कैन, आई कैन। यह जताता है कि हम सभी निजी तौर पर और समुदाय के तौर पर कैंसर की विश्वव्यापी बीमारी की रोकथाम के लिए अपना योगदान कर सकते हैं।

Leave a Comment

अन्य समाचार

पाक सेना की आलोचना करने वाली महिला पत्रकार का अपहरण, कुछ देर बाद वापस लौटीं

अपहरण के पीछे था पाक की खुफिया विभाग व सेना का हाथ, डर के चलते महिला ने पुलिस को नहीं दिया बयान लाहौरः पाकिस्तान में पाक सेना की आलोचना करने के लिए 52 वर्षीय एक महिला पत्रकार का अपहरण कर लिया [Read more...]

लाइलाज नहीं है कैंसर, समय पर जानकारी से बच सकती है जान

नारायणा हैल्थ द्वारा संचालित धर्मशिला नारायणा सुपरस्पेशलिटी अस्पताल ने विश्व कैंसर दिवस के अवसर पर ‘चेतना - एक पहल विजेताओं द्वारा’ नाम से कार्यक्रम का आयोजन किया। यह कार्यक्रम कैंसर जैसी बीमारी से इलाज के बाद आम जीवन जी रहे [Read more...]

मुख्य समाचार

सुप्रीम कोर्ट ने पलटा सिरीसेना का फैसला, नहीं होंगे चुनाव

कोलंबो : श्रीलंका के सुप्रीम कोर्ट ने राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरीसेना के संसद भंग करने के फैसले को निरस्त कर दिया है। इसके अलावा सिरीसेना की ओर से मध्यावधि चुनाव की तैयारियों पर भी रोक लगा दी है। आपको बता दें [Read more...]

अमेरिका ने ईरान को फिर धमकाया

सिंगापुर : ईरान पर प्रतिबंधों को लेकर एक बार फिर अमेरिका का बड़ा बयान आया है। अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने कहा है कि उनका देश ईरान को इतना निचोड़ देगा कि उसके अंदर केवल गुठली ही [Read more...]

ऊपर