पाक सेना की आलोचना करने वाली महिला पत्रकार का अपहरण, कुछ देर बाद वापस लौटीं

अपहरण के पीछे था पाक की खुफिया विभाग व सेना का हाथ, डर के चलते महिला ने पुलिस को नहीं दिया बयान

लाहौरः पाकिस्तान में पाक सेना की आलोचना करने के लिए 52 वर्षीय एक महिला पत्रकार का अपहरण कर लिया गया, लेकिन सोशल मीडिया पर जब इसके पीछे पाक के सेना व खुफिया एजेंसियों को जिम्मेदार ठहराए जाने के बाद वह महिला कुछ देर बाद वापस लौट आई। महिला पत्रकार के परिजनों ने इस संबंध में केस दर्ज कराया है। हालांकि महिला ने डर के चलते पुलिस को कोई बयान नहीं दिया है।
खबरों के अनुसार पाकिस्तानी पत्रकार गुल बुखारी मंगलवार रात करीब 11 बजे अपने कार्यक्रम के लिए ‘वक्त टीवी’ जा रही थीं। इस दौरान बीच रास्ते में अंजान बदमाशों ने उन्हें लाहौर कैंट के शेरपो पुल के पास से उनका अपहरण कर लिया। कैब ड्राइवर ने पुलिस को बताया कि एक डबल केबिन गाड़ी से दो लोग उतरे और गुल को अपनी गाड़ी में बैठने को कहा। ड्राइवर ने बताया कि उनके मना करने पर दोनों ने उन्हें जबरन अपनी गाड़ी में बैठाकर अपहरण कर लिया। हालांकि इस मामले में अपहरणकर्ता ने उसे कुछ नहीं कहा। इसके बाद में गुल बुखारी के परिवार ने स्थानीय थाने में उनकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। अपहरण की सूचना मिलते ही सोशल मीडिया पर लोगों ने खुफिया एजेंसियों को जिम्मेदार बताना शुरू कर दिया।

पाकिस्तान की खुफिया विभाग व सेना पर आरोप
उनका कहना था कि सेना की आलोचना करने के कारण पत्रकार का अपहरण खुफिया विभाग ने कराया है। अपहरण के करीब तीन घंटे बाद गुल के परिवार ने उनके वापस लौटने की पुष्टि कर दी। हालांकि उनका अपहरण किसने किया इस बारे में कुछ नहीं कहा गया है। पुलिस का कहना है कि उनकी टीम गुल का बयान दर्ज करने के लिए उनके घर गई थी। पुलिस का कहना है कि गुल बुखारी ने बयान दर्ज कराने से इनकार कर दिया। टिवटर पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए पीएमएल-एन नेता और पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेटी मरियम नवाज ने घटना पर आश्चर्य जताया। उन्होंने लिखा कि गुल बुखारी के अपहरण की खबर बहुत परेशान करने वाली है। यह बुहत क्रूर नीच दर्जे की ज्यादती है। बेहद दुखद दिन।
गौरतलब है कि पाकिस्तान में पत्रकारों की स्थिति काफी दयनीय है। यहां बीते अप्रैल में पंजाब प्रांत के सांबाड़ी शहर में एक पत्रकार की गोलियों से भूनकर हत्या कर दी गई थी। इस तरह से यहां कई वारदातों को यहां अंजाम दिया जा चुका है।

Leave a Comment

अन्य समाचार

सुप्रीम कोर्ट ने पलटा सिरीसेना का फैसला, नहीं होंगे चुनाव

कोलंबो : श्रीलंका के सुप्रीम कोर्ट ने राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरीसेना के संसद भंग करने के फैसले को निरस्त कर दिया है। इसके अलावा सिरीसेना की ओर से मध्यावधि चुनाव की तैयारियों पर भी रोक लगा दी है। आपको बता दें [Read more...]

अमेरिका ने ईरान को फिर धमकाया

सिंगापुर : ईरान पर प्रतिबंधों को लेकर एक बार फिर अमेरिका का बड़ा बयान आया है। अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने कहा है कि उनका देश ईरान को इतना निचोड़ देगा कि उसके अंदर केवल गुठली ही [Read more...]

मुख्य समाचार

सुप्रीम कोर्ट ने पलटा सिरीसेना का फैसला, नहीं होंगे चुनाव

कोलंबो : श्रीलंका के सुप्रीम कोर्ट ने राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरीसेना के संसद भंग करने के फैसले को निरस्त कर दिया है। इसके अलावा सिरीसेना की ओर से मध्यावधि चुनाव की तैयारियों पर भी रोक लगा दी है। आपको बता दें [Read more...]

अमेरिका ने ईरान को फिर धमकाया

सिंगापुर : ईरान पर प्रतिबंधों को लेकर एक बार फिर अमेरिका का बड़ा बयान आया है। अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने कहा है कि उनका देश ईरान को इतना निचोड़ देगा कि उसके अंदर केवल गुठली ही [Read more...]

ऊपर