सीआईडी के वरिष्ठ अधिकारियों ने घटनास्थल का किया दौरा

                                                बलात्कार के बाद बच्ची की हत्या का मामला
काेलकाता : बीरभूम जिले के तारापीठ थाना अंतर्गत एक बलात्कार के बाद हत्या के मामले की जिम्मेदारी सीआईडी को मिलने के बाद ही सीआईडी के अधिकारियों ने घnbhgfjटनास्थल का दौरा किया। सीआईडी के डीआईजी (ऑपरेशन) दिलीप अदक ने बताया कि जांच का जिम्मा मिलने के बाद सभी वरिष्ठ अधिकारी मौके पर गये और घटनास्थल का जायजा लिया। फिलहाल, अभियुक्त को पकड़ने की कोशिश की जा रही है। से बलात्कार कर उसकी हत्या कर दी गयी। इस मामले ने दिल्ली के निर्भया कांड, बंगाल के कामदुनी व आसनसोल के जामुड़िया कांड की याद ताजा कर दी। यह अमानवीय घटना रामपुरहाट अनुमंडल के तारापीठ थानांतर्गत बूंदी ग्राम पंचायत के रामभद्रपुर में घटी है। इस संबंध में तारापीठ थाना में अज्ञात अभियुक्त के खिलाफ मामला दायर किया गया है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक गुरुवार की रात एक 9 वर्षीया नाबालिग को उसके घर से अगवा कर इसे अंजाम दिया गया। नाबालिग बासोवा के एक आवासीय विद्यालय में पढ़ती थी। वह गर्मियों की छुट्टी में अपने घर आयी थी। घटना की रात नाबालिग अपनी दादी के साथ सोयी हुई थी। रात में लगभग 1 बजे मिहिर माल की दादी सुषमा माल की नींद खुली तो उसने अपनी पोती को बिस्तर पर न देखकर थोड़ी देर उसका इंतजार किया मगर जब वह नहीं आयी तो शोर मचाना शुरू किया। शोर सुनकर घर के सारे लोग सहित पड़ोस के लोगों ने उसे ढूंढना शुरू किया लेकिन वह आसपास कहीं नहीं मिली। उसके घर से कुछ दूर स्थित एक खाली झोपड़ी से उसका शव बरामद किया गया। घटना की खबर तुरंत पुलिस को दी गयी। शुक्रवार की सुबह पुलिस ने पहुंचकर मामले की तहकीकात शुरू की। अभियुक्त को पकड़ने के लिए खोजी कुत्ते को मंगवाया गया। पुलिस की जांच आगे बढ़ते न देख लोगों ने नाबालिग की लाश पुलिस को ले जाने नहीं देते हुए विरोध प्रदर्शन करना शुरू किया। यह विरोध प्रदर्शन शुक्रवार को दिन भर जारी रहा। लगातार 9 घंटे चले इस प्रदर्शन के बाद पुलिस द्वारा जल्द से जल्द घटना की जांच कर अभियुक्त को गिरफ्त में लेने का आश्वासन देने के बाद विरोध प्रदर्शन समाप्त किया गया। इस घटना को लेकर यह संदेह व्यक्त किया जा रहा है कि किसी परिचित व्यक्ति द्वारा नाबालिग का अपहरण सोते समय किया गया होगा। वहीं यह भी आशंका जताई गयी है कि नाबालिग ने शायद दुष्कर्मी को पहचान लिया था इसीलिए उसकी हत्या कर दी गयी। गांव वालों ने इस घटना की जांच सीआईडी से कराने की मांग की है। इस घटना को लेकर रामपुरहाट अनुमंडल के पुलिस अधिकारी कमल दास वैराग्य का कहना है कि घटना की जांच बारीकी से की जायेगी और दोषी कोई भी व्यक्ति हो, उसे बख्शा नहीं जायेगा। वहीं बूंदी गांव के पंचायत प्रधान चांद बानो खातून ने कहा कि नाबालिग के पिता सीधे-सादे किसान हैं और उनकी किसी से कोई दुश्मनी भी नहीं है। पुलिस को इस मामले में जांच के बाद दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का आदेश दिया गया।

Leave a Comment

अन्य समाचार

केजरीवाल ने शाह को दी बहस की चुनौती

नयी दिल्लीः भाजपा अध्यक्ष अमित शाह द्वारा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर काम नहीं करने के बयान पर केजरीवाल ने रविवार को कहा कि जितना काम उन्होंने किया है उसे कोई चुनौती नहीं दे सकता। जनता की सेवा का [Read more...]

मप्र, छत्तीसगढ़ और राजस्थान विस चुनाव लड़ेगी सवर्ण समाज पार्टी

रीवाः अनुसूचित जाति-जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम और आरक्षण के विरोध में प्रदर्शन की अनेक घटनाओं के बीच सवर्ण समाज पार्टी के अध्यक्ष व मध्यप्रदेश के विंध्य अंचल के प्रमुख लक्ष्मण तिवारी ने कहा कि उनकी पार्टी ने मध्यप्रदेश के 230 [Read more...]

मुख्य समाचार

‘धोनी रिव्यू सिस्टम’ ने फिर बनाया मुरीद

नयी दिल्ली : टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने एक बार फिर से अपने फैसले से साबित कर दिया कि डीआरएस के मामले में उनसे सटीक कोई नहीं है। अगर वह इशारा कर दें तो मान लीजिए [Read more...]

केजरीवाल ने शाह को दी बहस की चुनौती

नयी दिल्लीः भाजपा अध्यक्ष अमित शाह द्वारा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर काम नहीं करने के बयान पर केजरीवाल ने रविवार को कहा कि जितना काम उन्होंने किया है उसे कोई चुनौती नहीं दे सकता। जनता की सेवा का [Read more...]

ऊपर