90 लाख के मिट्टी घोटाले में लालू का परिवार शामिल:सुशील

पटनाः बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी विधान मंडल के नेता सुशील कुमार मोदी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से 90 लाख रूपये के कथित ‘मिट्टी खरीद घोटाले’ को लेकर वन एवं पर्यावरण मंत्री तेजप्रताप यादव को मंत्रिमंडल से बर्खास्त किए जाने तथा इस घोटाले की उच्चस्तरीय जांच की मांग की है।  सुशील कुमार मोदी ने मंगलवार को राज्य में एक और ‘मिट्टी खरीद घोटाले’ का खुलासा करते हुए कहा कि राजधानी पटना में बन रहे एक मॉल की मिट्टी को पर्यावरण एवं वन विभाग ने बिना टेंडर निकाले 90 लाख रुपये में खरीद लिया और इस घोटाले का पूरा लाभ राष्ट्रीय जनता दल सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के परिवार को मिला।  सुशील कुमार मोदी ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि डिलाइट मार्केटिंग कंपनी प्राइवेट लिमिटेड को हस्तांतरित की गयी जमीन पर शॉपिंग मॉल बन रहा है और इस कंपनी में राष्ट्रीय जनता दल अध्यक्ष के बड़े पुत्र एवं राज्य के पर्यावरण एवं वन मंत्री तेज प्रताप यादव, छोटे पुत्र एवं उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव तथा उनकी पुत्री चंदा यादव निदेशक हैं। भाजपा नेता ने कहा कि यह वही कंपनी है, जिसको लेकर बिहार के वर्तमान जल संसाधन मंत्री राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह ने वर्ष 2008 में आरोप लगाया था कि तत्कालीन रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव ने रेलवे के रांची और पुरी के दो होटलों को गलत तरीके से होटल सुजाता के हर्ष कोचर को बेच दिया। इसके बदले में हर्ष कोचर ने डिलाइट मार्केटिंग कंपनी को एक ही दिन में दस निबंधन के जरिये पटना में दो एकड़ जमीन हस्तांतरित की थी। पूर्व उपमुख्यमंत्री ने कहा कि इसी जमीन पर राजद के सुरसंड से विधायक सैयद अबू दौजाना की कंपनी मेरिडियन कंस्ट्रक्शन (इंडिया) लिमिटेड शॉपिंग मॉल का निर्माण करवा रही है। मॉल के बेसमेंट की मिट्टी को खपाने के लिए काफी चतुराई से पर्यावरण एवं वन विभाग ने पटना के संजय गांधी जैविक उद्यान के सुंदरीकरण के नाम पर बिना टेंडर निकाले केवल कोटेशन के आधार पर 90 लाख रुपये में मिट्टी खरीद ली और यह काम रूपसपुर के वीरेंद्र यादव की कंपनी एम.एस इंटरप्राइजेज से करवाया गया। उन्होंने कहा कि यह उद्यान पर्यावरण एवं वन विभाग के अंतर्गत आता है और इस विभाग के मंत्री लालू प्रयाद यादव के बड़े पुत्र तेज प्रताप यादव हैं। मोदी ने कहा कि वर्ष 2008 में डिलाइट मार्केटिंग कंपनी में 70 प्रतिशत हिस्सेदारी तत्कालीन कंपनी मामलों के मंत्री एवं राजद सांसद प्रेम गुप्ता की पत्नी सरला गुप्ता की थी। बाद में कंपनी में 6 जनवरी 2014 को वर्तमान पर्यावरण एवं वन मंत्री तेजप्रताप यादव और उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को तथा 26 जून 2014 को राजद अध्यक्ष की पुत्री चंदा यादव को निदेशक नियुक्त किया गया। भाजपा नेता ने इस पूरे प्रकरण के लिए ‘आम के आम, गुठलियों के दाम’ मुहावरे का उदाहरण देते हुए कहा कि राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव का परिवार अपने मॉल की मिट्टी को अपने ही विभाग में बेचकर 90 लाख रुपये की कमाई कर चुका है। उन्होंने कहा कि 90 लाख रुपये का यह काम बिना टेंडर के केवल कोटेशन के आधार पर दे दिया गया। n

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

सीबीआई विवाद : कोई भी सुनवाई के लायक नहीं – चीफ जस्टीस

नई दिल्ली : सीबीआई डायरेक्टर आलोक वर्मा की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान चीफ जस्टीस रंजन गोगोई गुस्सा हो गए। सीबीआई मामले से जुड़ी बातें मीडिया में लीक होने के कारण वे काफी नाराज हो गए और [Read more...]

कट्टरवाद से प्रभावित मुस्लिमों को चीन ने दिया 30 दिन में आत्मसमर्पण का आदेश

पेइचिंगः चीन ने अपने शिनजियांग प्रांत में अतिवाद से निपटारे की ओर सख्ती दिखाते हुए उन लोगों को आत्मसमर्पण करने का आदेश दिया है, जो 'अतिवाद, अलगाववाद और आतंकवाद में लिप्त हैं।' शिनजियांग के हामी शहर की सरकार ने सोशल [Read more...]

मुख्य समाचार

सीबीआई विवाद : कोई भी सुनवाई के लायक नहीं – चीफ जस्टीस

नई दिल्ली : सीबीआई डायरेक्टर आलोक वर्मा की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान चीफ जस्टीस रंजन गोगोई गुस्सा हो गए। सीबीआई मामले से जुड़ी बातें मीडिया में लीक होने के कारण वे काफी नाराज हो गए और [Read more...]

अंग्रेजी माध्यम स्कूलों पर रखी जाएगी निगरानी – पार्थ

कोलकाता : सोमवार को विधानसभा में प्रश्नोत्तर काल के दौरान राज्य के शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने ​कांग्रेस विधायक असित मित्रा के सवालों का जवाब देते हुए कहा ​कि राज्य के अंग्रेजी माध्यम स्कूलों पर निगरानी रखने के लिए राज्य [Read more...]

ऊपर