सुप्रीम कोर्ट ने न्यायिक संयम बरतने को कहा

नयी दिल्ली : उच्चतम न्यायालय ने कहा है कि आपराधिक मामलों में पक्षकारों के बीच समझौते की अनुमति देते समय अदालतों को न्यायिक संयम का परिचय देना चाहिए क्योंकि दंड प्रक्रिया संहिता के अंतर्गत ऐसा करना निषिद्ध है।  न्यायमूर्ति पी सी घोष और न्यायमूर्ति अमिताभ राय के पीठ ने कहा कि उनकी यह सुविचारित राय है कि सरकार के दूसरे अंग के अधिकार पर अतिक्रमण करना स्पष्ट रूप से कानून का उल्लंघन होगा जो हमारे संविधान के बुनियादी ढांचे में एक है। न्यायालय ने यह टिप्पणी इस संदर्भ में की कि क्या उच्च न्यायालयों और उच्चतम न्यायालय सहित अदालतोें को पक्षकारों को इस तरह के आपराधिक मामलों में समझौते की अनुमति दी जा सकती है जिन्हें दंड प्रक्रिया संहिता में सूचीबद्ध अपराधों में रखा गया हैं और उन्हें जिनमें संबंधित पक्षकार परस्पर मिला नहीं सकते हैं। शीर्ष अदालत ने पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ केन्द्रीय जांच ब्यूरो की अपील खारिज करते हुए यह टिप्पणियां की। उच्च न्यायालय ने सार्वजनिक क्षेत्र की एक बैंक द्वारा एक फर्म और कुछ अन्य व्यक्तियों के खिलाफ दर्ज कराये गये धोखाधड़ी और जालसाजी के आरोप में आपराधिक कार्यवाही रद्द कर दी थी।
बैंक ने विभिन्न दण्डात्मक प्रावधानों के तहत मामला दर्ज कराया था परंतु बाद में अभियुक्तों के साथ इस विवाद में समझौता कर लिया था जिन्होंने इसके बाद आपराधिक मामला बंद करने का अदालत से अनुरोध किया था।  निचली अदालत ने इस संबंध में दायर अर्जी खारिज करते हुये कहा था कि भारतीय दंड संहिता की धारा 471 और 468 के तहत दर्ज मामले को मिलाया नहीं जा सकता है। अभियुक्तों ने इस फैसले को उच्च न्यायालय में चुनौती दी थी जिसने जून 2011 को संबंधित पक्षों के बीच समझौते के आधार पर आपराधिक कार्यवाही निरस्त कर दी थी।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

केजरीवाल ने शाह को दी बहस की चुनौती

नयी दिल्लीः भाजपा अध्यक्ष अमित शाह द्वारा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर काम नहीं करने के बयान पर केजरीवाल ने रविवार को कहा कि जितना काम उन्होंने किया है उसे कोई चुनौती नहीं दे सकता। जनता की सेवा का [Read more...]

मप्र, छत्तीसगढ़ और राजस्थान विस चुनाव लड़ेगी सवर्ण समाज पार्टी

रीवाः अनुसूचित जाति-जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम और आरक्षण के विरोध में प्रदर्शन की अनेक घटनाओं के बीच सवर्ण समाज पार्टी के अध्यक्ष व मध्यप्रदेश के विंध्य अंचल के प्रमुख लक्ष्मण तिवारी ने कहा कि उनकी पार्टी ने मध्यप्रदेश के 230 [Read more...]

मुख्य समाचार

‘धोनी रिव्यू सिस्टम’ ने फिर बनाया मुरीद

नयी दिल्ली : टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने एक बार फिर से अपने फैसले से साबित कर दिया कि डीआरएस के मामले में उनसे सटीक कोई नहीं है। अगर वह इशारा कर दें तो मान लीजिए [Read more...]

केजरीवाल ने शाह को दी बहस की चुनौती

नयी दिल्लीः भाजपा अध्यक्ष अमित शाह द्वारा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर काम नहीं करने के बयान पर केजरीवाल ने रविवार को कहा कि जितना काम उन्होंने किया है उसे कोई चुनौती नहीं दे सकता। जनता की सेवा का [Read more...]

ऊपर