सुप्रीम कोर्ट की फटकारः ताज की देखभाल नहीं कर सकते तो ध्वस्त कर दो

नई दिल्ली: ताजमहल की सुरक्षा और संरक्षण को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को आड़े हाथों लिया। कोर्ट ने फटकार लगाते हुए सख्त लहजे में कहा कि ताज को संरक्षण दो या बंद कर दो या ध्वस्त कर दो। बुधवार को कोर्ट में ताजमहल के समुचित देखभाल के लिए दायर की गई याचिका पर सुनवाई हो रही थी।
ताज विदेशी मुद्रा की समस्या दूर कर सकती है
इस दौरान मामले की सुनवाई करते हुए जज ने कहा कि ताज एफिल टावर से भी ज्यादा सुंदर है और इसके जरिए हम अपने विदेशी मुद्रा की दिक्कत को भी दूर कर सकते हैं। इस दौरान जज ने एफिल टावर की तुलना एक टीवी टावर से कर दी। सुप्रीम कोर्ट जज ने कहा कि हर साल 80 मिलियन लोग एफिल टावर को देखने जाते हैं जो दरअसल एक टीवी टावर की तरह दिखता है। हमारा ताज उससे कही ज्यादा सुंदर है। अगर आपने इसकी देखभाल की होती तो इससे हमारे देश की विदेशी मुद्रा की समस्या दूर हो गई होती। उन्होंने कहा कि केवल एक स्मारक देश की समस्या का समाधान कर सकता है। क्या आपको अपनी उदासीनता के कारण देश को हुई हानि का एहसास है? जबकि देश में इतने सारे स्मारक हैं।
31 जुलाई से होगी प्रतिदिन सुनवाई
अदालत ने यूपी सरकार द्वारा ताजमहल के संरक्षण के लिए विजन डॉक्यूमेंट पेश नहीं कर पाने पर भी नाराजगी जताई। इसके साथ ही पूछा कि इस मामले में केंद्र की तरफ से क्या किया गया है। सुप्रीम कोर्ट ने फिर सवाल उठाया कि टीटीजेड (ताज ट्रैपेजियम जोन) एरिया में उद्योग लगाने के लिए आ रहे आवेदन पर विचार हो रहा है। ये आदेशों का उल्लंघन है। सुप्रीम कोर्ट ने टिप्पणी करते हुए कहा पीएचडी चेंबर्स को कहा है कि जो इंड्रस्‍टी चल रही है उसको क्यों न आप खुद बंद करें। जज ने कहा कि 31 जुलाई से इस मामले की सुप्रीम कोर्ट में प्रतिदिन सुनवाई होगी।

Leave a Comment

अन्य समाचार

अगड़ी जाति के लोगों को 10 प्रतिशत आरक्षण के खिलाफ हाईकोर्ट पहुंची डीएमके

नयी दिल्‍ली : चुनावी वर्ष के शुरुआत से ही राजनीतिक दलों द्वारा तरह तरह के ऐसे हथकंडे अपनाये जा रहे है ताकि उन्‍हें लगे कि वे ही जनता के सच्‍चे हितैषी है। इसी क्रम में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी [Read more...]

उत्तर प्रदेश में गरीब सवर्णों को 10 फीसदी आरक्षण पर कैबिनेट की मुहर

लखनऊः कैबिनेट की बैठक में यूपी में गरीब सवर्णों के लिए 10 फीसदी आरक्षण लागू करने के प्रस्ताव पर फैसला लिया गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसके लिए अध्यादेश के मसौदे को भी मंजूरी दे दी है। इसके तहत [Read more...]

मुख्य समाचार

अगड़ी जाति के लोगों को 10 प्रतिशत आरक्षण के खिलाफ हाईकोर्ट पहुंची डीएमके

नयी दिल्‍ली : चुनावी वर्ष के शुरुआत से ही राजनीतिक दलों द्वारा तरह तरह के ऐसे हथकंडे अपनाये जा रहे है ताकि उन्‍हें लगे कि वे ही जनता के सच्‍चे हितैषी है। इसी क्रम में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी [Read more...]

उत्तर प्रदेश में गरीब सवर्णों को 10 फीसदी आरक्षण पर कैबिनेट की मुहर

लखनऊः कैबिनेट की बैठक में यूपी में गरीब सवर्णों के लिए 10 फीसदी आरक्षण लागू करने के प्रस्ताव पर फैसला लिया गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसके लिए अध्यादेश के मसौदे को भी मंजूरी दे दी है। इसके तहत [Read more...]

ऊपर