भारत-चीन के रक्षामंत्री ने महत्वपूर्ण मुद्दों पर की बातचीत

नई दिल्लीः भारत-चीन ने सैन्य सहयोग बढ़ाने का फैसला किया है। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और चीन के रक्षा मंत्री वेंग फेंघ के बीच गुरुवार को यहां दो घंटे तक चली बैठक में यह फैसला लिया गया। डोकलाम विवाद के बाद दोनों देशों के रक्षा मंत्रियों की यह पहली द्विपक्षीय आधिकारिक बैठक थी।
टकराव से बचने के लिए सेना के बीच बातचीत का संवाद
दोनों देशों ने डोकलाम जैसे टकराव से बचने के लिए सेना के बीच बातचीत का संवाद शुरू करने पर सहमति जताई। रक्षा मंत्रालय के मुताबिक, प्रस्तावित हॉटलाइन सेवा भी जल्द शुरू करने पर सहमति बनी। सशस्त्र बलों के बीच प्रशिक्षण, संयुक्त अभ्यास, अन्य पेशेवर बातचीत और संबंधों का विस्तार करने का फैसला किया गया। दोनों पक्षों ने रक्षा आदान-प्रदान और सहयोग पर 2006 में हुए समझौते की जगह एक नया द्विपक्षीय समझौता करने का भी निर्णय लिया।
चीन-पाक कॉरिडोर पर भारत की आपत्ति
रक्षा मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक, सीतारमण ने चीन-पाकिस्तान आर्थिक कॉरिडोर के मुद्दे पर अपनी आपत्ति दर्ज कराई। उन्होंने कहा कि यह रास्ता पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से गुजरता है। यह भारत की संप्रभुता का हनन है। इसके अलावा सीमा पार आतंकवाद के कारण भारत की चुनौतियों, अफगानिस्तान में शांति-स्थिरता, दक्षिण चीन सागर में परिवहन जैसे मुद्दों पर भी दोनों नेताओं की चर्चा हुई।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

सुषमा का ऐलान : नहीं लड़ेगीं 2019 का चुनाव

नई दिल्ली : मध्यप्रदेश के इंदौर में संवाददाता सम्मेलन के दौरान विदिशा लोकसभा क्षेत्र से भाजपा सांसद और भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि - वह वर्ष 2019 में होने वाला लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी। सुषमा ने [Read more...]

वर्धा में सेना के केंद्रिय आयुध डिपो में धमाका, 6 की मौत कई घायल

वर्धा : महाराष्ट्र के वर्धा जिले में स्थित आर्मी डिपो के पास मंगलवार की सुबह गोला बारूद उतारने के दौरान हुए धमाके में छह लोगों की मौत हो गई, जबकि 10 लोग घायल हो गए। आपकाे बता दें कि वर्धा [Read more...]

मुख्य समाचार

सुषमा का ऐलान : नहीं लड़ेगीं 2019 का चुनाव

नई दिल्ली : मध्यप्रदेश के इंदौर में संवाददाता सम्मेलन के दौरान विदिशा लोकसभा क्षेत्र से भाजपा सांसद और भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि - वह वर्ष 2019 में होने वाला लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी। सुषमा ने [Read more...]

स्थानीय निकायों को अधिकार से कम होगीं घरों की कीमतें

नयी दिल्लीः स्थानीय निकायों को 20 से 50 हजार वर्ग मीटर की परियोजनाओं से जुड़े हरित नियमों के अनुपालन का अधिकार दिए जाने के सरकार के फैसले से इनकी मंजूरी की प्रक्रिया तेज होगी। इससे घरों के दाम भी घटेंगे। [Read more...]

ऊपर