जलन की वजह से हुई एचडीएफसी बैंक अधिकारी की हत्या!

मुंबईः मुंबई के एचडीएफसी बैंक के वाइस प्रेजिडेंट सिद्धार्थ किरन सिंघवी का शव कल्याण हाईवे से बरामद कर लिया गया है। सिद्धार्थ 5 सितंबर से लापता थे। मामले में सरफराज शेख नाम के एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है। रविवार को नवी मुंबई पुलिस ने एक और मुंबई पुलिस ने चार लोगों को हिरासत में लिया था। सिद्धार्थ के लापता होने की गुत्थी मुंबई पुलिस ने लगभग सुलझा ली है। पुलिस के मुताबिक रईस नाम के इसी शख्स ने खूनी के इशारे पर सिद्धार्थ सिंघवी की लाश को कल्याण हाईवे के पास ठिकाने लगाया है। मुंबई पुलिस ने हत्या के पीछे की वजह भी बताई है, पूछताछ में पुलिस को पता चला है कि सिद्धार्थ की हत्या प्रोफेश्नल जलन की वजह से की गई है।

सिद्धार्थ की कामयाबी इन लोगों को खटक रही थी
पुलिस ने इस मामले से जुड़े चार लोगों को हिरासत में लिया है जिनमें एक औरत भी शामिल है। लोअर परेल की एन एम जोशी मार्ग की पुलिस ने छानबीन के बाद मालाबार हिल में रहने वाले सिद्धार्थ की हत्या में इन चारों की संलिप्तता की बात रही है। फिलहाल इनके नाम का खुलासा नही किया जा रहा पर पुलिस का दावा है कि सिद्धार्थ की कामयाबी इन लोगों को खटक रही थी और जलन की वजह से उसकी हत्या कर दी गई।

ऐसा रहा सफर
सिद्धार्थ सिंघवी एचडीएफसी बैंक के लोअर परेल ब्रांच में बतौर वरिष्ठ कार्यकारी क्रेडिट और बाजार जोखिम विभाग में कार्यरत था। बैंक के सहकर्मियों के मुताबिक सिद्धार्थ ने 2007 में एचडीएफसी बैंक सीनियर मैनेजर के तौर पर ज्वाइन किया था। 2011 में सिद्धार्थ को प्रमोशन मिला और वो असिस्टेंट वाइस प्रेसिडेंट बन गया। इसी तरह बहुत ही कम समय में 2015 में सिद्धार्थ को फिर प्रोमोट करते हुए डेप्युटी वाइस प्रेसिडेंट बना दिया गया और सिर्फ दो साल बाद यानि 2017 में वाइस प्रेसिडेंट। लगातर और बेहद कम समय में मिला तरक्की और पॉवर से सिद्धार्थ के सहकर्मी काफी जलने लगे थे।

सीट पर खून के धब्बे
मुंबई के कमला मिल ऑफिस से एचडीएफसी बैंक से सिद्धार्थ किरन सिंघवी बुधवार से ही लापता थे। पुलिस ने बताया कि वह अपनी पत्नी और चार साल की बेटी के साथ मसाबार हिल में रहते हैं। बुधवार की सुबह आठ बजकर तीस मिनट पर वह ऑफिस के लिए निकले और अभी तक घर नहीं पहुंचे। उनकी गाड़ी भी गुरुवार को नवी मुंबई से बरामद की गई थी जिसकी सीट पर खून के धब्बे मिले थे। वायरलेस मैसेज के जरिए मुंबई के सभी पुलिस स्टेशन को मामले की जानकारी दी गई थी। लेकिन गाड़ी मिलने के बाद से उनके लापता होने का रहस्य अब बढ़ता जा रहा था। पुलिस ने शनिवार को कहा कि अभी वह ठोस सबूत तलाश रही है। सीसीटीवी फुटेज में उन्हें ऑफिस से निकलते हुए देखा गया। उनकी आखिरी लोकेशन भी वहीं पर ट्रैक हुई और बाद में फोन स्विच ऑफ हो गया।

फोन 5 मिनट के लिए स्विच ऑन हुआ
पुलिस को मामले में पहला सबूत गुरुवार की शाम मिला जब सिंघवी का फोन 5 मिनट के लिए स्विच ऑन हुआ था। इसकी लोटेकश भी वहीं की पाई गई जहां उनकी गाड़ी मिली थी। पुलिस को संदेह था कि ऑफिस छोड़ने के बाद कुछ और लोग भी सिंघवी के साथ होंगे। तेजी से पुलिस की जांच और छानबीन ने इस हाई प्रोफाइल मामले को लगभग क्रैक कर लिया है अब इंतजार है तो बस उन लोगों के चेहरे से नकाब हटने का जिन्होने अपने ही सहकर्मी की कामयाबी से जल कर उसे मौत के घाट उतार दिया।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

सुषमा का ऐलान : नहीं लड़ेगीं 2019 का चुनाव

नई दिल्ली : मध्यप्रदेश के इंदौर में संवाददाता सम्मेलन के दौरान विदिशा लोकसभा क्षेत्र से भाजपा सांसद और भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि - वह वर्ष 2019 में होने वाला लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी। सुषमा ने [Read more...]

वर्धा में सेना के केंद्रिय आयुध डिपो में धमाका, 6 की मौत कई घायल

वर्धा : महाराष्ट्र के वर्धा जिले में स्थित आर्मी डिपो के पास मंगलवार की सुबह गोला बारूद उतारने के दौरान हुए धमाके में छह लोगों की मौत हो गई, जबकि 10 लोग घायल हो गए। आपकाे बता दें कि वर्धा [Read more...]

मुख्य समाचार

सुषमा का ऐलान : नहीं लड़ेगीं 2019 का चुनाव

नई दिल्ली : मध्यप्रदेश के इंदौर में संवाददाता सम्मेलन के दौरान विदिशा लोकसभा क्षेत्र से भाजपा सांसद और भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि - वह वर्ष 2019 में होने वाला लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी। सुषमा ने [Read more...]

स्थानीय निकायों को अधिकार से कम होगीं घरों की कीमतें

नयी दिल्लीः स्थानीय निकायों को 20 से 50 हजार वर्ग मीटर की परियोजनाओं से जुड़े हरित नियमों के अनुपालन का अधिकार दिए जाने के सरकार के फैसले से इनकी मंजूरी की प्रक्रिया तेज होगी। इससे घरों के दाम भी घटेंगे। [Read more...]

ऊपर